Submit your post

Follow Us

टूर पैकेज के नाम पर दो साल में नौ करोड़ गंवा दिए, तब जाकर पुलिस को बताया

अहमदाबाद के पंचवटी में एक बुजुर्ग ने धोखाधड़ी का केस दर्ज कराया है. मामला 17 फरवरी का है. शिकायत में कहा गया है कि 33 लोगों ने मिल कर दस हजार के टूर पैकेज के बहाने उनसे नौ करोड़ रुपये ऐंठ लिए.

क्या है पूरा मामला?

85 साल के दिनेश पटेल कहना है कि अलग-अलग व्यक्तियों ने टूर पैकेज के नाम पर दो साल में उनसे नौ करोड़ रुपये ट्रांसफर करा लिए. दिनेश का कहना है कि 18 अक्टूबर 2017 से 27 नवंबर 2019 के बीच ऑनलाइन बैंकिंग के माध्यम से ये पैसे उन्होंने ट्रांसफर किए. दिनेश का कहना है कि सबसे पहले 18 अक्टूबर 2017 को एक चर्चित ट्रैवल फर्म के नाम से हॉलिडे टूर पैकेज का एक ईमेल आया. पटेल ने इसे असली जानकर इस पर रिप्लाई किया. उन्हें दस हजार रुपये पेमेंट करने को कहा गया.

यहीं से धोखाधड़ी का सिलसिला शुरू हुआ. समय-समय पर उनसे संपर्क करके अलग-अलग लोगों ने पैसे मांगे. दो सालों में पटेल ने 10,000 रुपये से लेकर 50 लाख रुपये तक के 80  ट्रांजैक्शन किए. दिनेश का कहना है कि उन्होंने कुल नौ करोड़ का पेमेंट किया. दिनेश ने बताया,

मुझे ना ही कोई टूर पैकेज दिया गया और ना ही मेरे पैसे लौटाए गए. उन लोगों से संपर्क करने की कोशिश की मगर दोबारा बात नहीं हो पाई. इसके बाद मैंने क्राइम ब्रांच से संपर्क किया और शिकायत दर्ज कराई.

साइबर क्राइम ने इस मामले में 30 से अधिक लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है. मामले की जांच जारी है.


वीडियो देखें: फेसबुक-व्हाट्सएप पर सरकार की जासूसी वाले मैसेज का सच क्या है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

मलेरिया वाली जिस दवा को कोरोना में जान बचाने के लिए इस्तेमाल कर रहे, वो उल्टा काम कर रही है?

हाईड्रॉक्सीक्लोरोक्विन पर चौंकाने वाली रिसर्च!

इस साल के आख़िर तक मिलने लगेगी कोरोना की 'मेड इन इंडिया' वैक्सीन!

भारत बायोटेक के अधिकारी ने क्या बताया?

'कोरोनिल' पर पतंजलि के आचार्य बालकृष्ण पूरी तरह यू-टर्न मार गए!

पतंजलि का दावा था कि 'कोरोनिल' दवा कोरोना वायरस ठीक करने में कारगर होगी.

चीन के ऐप तो बैन हो गए, पर उन भारतीयों का क्या जो इनमें काम करते हैं

चीनी ऐप के कर्मचारियों में घबराहट है.

चीनी ऐप पर बैन के बाद चीन ने भारत के बारे में क्या बयान दिया है?

भारत को कैसी जिम्मेदारी याद दिलाई चीन ने?

लगभग 16 मिनट के राष्ट्र के नाम संदेश में नरेंद्र मोदी ने क्या काम की बात की?

संदेश का सार यहां पढ़िए.

भारत सरकार के चाइनीज़ ऐप बंद करने के स्टेप पर TikTok ने चिट्ठी में क्या लिखा?

अपने यूज़र्स के बारे में भी कुछ कहा है.

PM CARES के तहत बने देसी वेंटिलेटर इस हाल में मिले कि लौटाने की नौबत आ गई

और ख़राब वेंटिलेटर बनाने वालों ने क्या सफ़ाई दी?

भारत में चीन के 59 मोबाइल ऐप बैन, टिकटॉक, यूसी, वीचैट भी लपेटे में

कहा कि देश की सुरक्षा की ख़ातिर इन्हें बैन किया जा रहा है.

गैंगस्टर आनंदपाल एनकाउंटर के बाद हुई हिंसा के लिए CBI ने चार्जशीट में किस-किस का नाम जोड़ा है?

एनकाउंटर की सीबीआई जांच की मांग को लेकर हिंसा हुई थी.