Submit your post

Follow Us

कोरोना को हराने के बाद 250 लोगों को रोज़गार देने वाला बिज़नेसमैन वार्डबॉय क्यों बन गया?

35 बरस के सुभाष गायकवाड़. कुछ महीने पहले तक अपना बिज़नेस कर रहे थे. 250 कर्मचारी उनके अंडर काम कर रहे थे. सबकी सैलरी-वैलरी बांटने के बाद वो महीने के 60 हज़ार रुपये कमा लेते थे. लेकिन अब एक अस्पताल में वार्डबॉय बन गए हैं. वहां झाड़ू-पोछा लगाते हैं. और 16 हज़ार रुपए की सैलरी से काम चला रहे हैं. अगर आप सोच रहे हैं कि उनका बिज़नेस कोरोना के चलते बैठ गया होगा, और इसलिए वो ये सब कर रहे हैं, तो ऐसा नहीं है.

दरअसल, जून में सुभाष की कोरोना रिपोर्ट पॉज़िटिव आई थी. पुणे के भोसारी अस्पताल में भर्ती कराए गए. इलाज के दौरान ही सुभाष ने फैसला कर लिया था, कि जब वो पूरी तरह से रिकवर हो जाएंगे, तो समाज सेवा करेंगे. ‘इंडिया टुडे’ के पंकज खेलकर की रिपोर्ट के मुताबिक, सुभाष कहते हैं,

“मैंने मौत को पास से देखा है. जब मेरे सामने, बगल वाले बेड पर मरीज़ की मौत हो गई, उसे प्लास्टिक में लपेटा जा रहा था, और में खाना खा रहा था. मेरी आंखे भर आईं. मैंने मन ही मन कहा कि ये जिंदगी, ये पैसा कुछ काम का नहीं है. लोगों की सेवा करने वाले डॉक्टर्स, नर्स, वार्डबॉय जो काम कर रहे है वो सबसे बड़ा काम है. तभी डिसाइड कर लिया कि अगर ज़िंदा रहा तो लौटकर इसी अस्पताल में आऊंगा और समाज सेवा करूंगा. खासतौर पर कोरोना पीड़ितों के लिए काम करूंगा.”

कोविड-19 से रिकवर होने के बाद सुभाष ने अस्पताल में आवेदन डाला. उन्हें काम मिल भी गया. वो कहते हैं,

“मेरा नसीब अच्छा है कि मुझे इसी अस्पताल में काम मिल गया. बहुत अच्छा लग रहा है. अब 16 हज़ार रुपए कमा रहा हूं. ये पैसे भी मैं मरीजों के लिए खर्च करूंगा. मेरी सिक्योरिटी एजेंसी में तीन गाड़ियां काम कर रही है. अच्छी कमाई हो जाती है. लेकिन मैं अब जो कर रहा हूं वो पैसों के लिए नहीं कर रहा. मुझे यहां से पहली तनख्वाह 16 हज़ार रुपए मिली थी, उसमें से भी आठ हज़ार रुपए मैं सीएम फंड के लिए देने वाला हूं. बाकी आठ हज़ार भी मैं डोनेट कर रहा हूं. मुझे यहां वार्डबॉय का काम करने में कोई बुरा नहीं लगता. अस्पताल के अंदर आने के बाद मैं भूल जाता हूं कि मैं कितना बड़ा सेठ हूं.”

Subhash 1
सुभाष अपनी पत्नी सवीता के साथ. (फोटो- पंकज खेलकर)

सुभाष की पत्नी सविता उसी अस्पताल में नर्स हैं. कहती हैं कि पहले उन्हें ये देखकर रोना आया कि उनके पति फर्श साफ कर रहे हैं, लेकिन अब अच्छा लगता है. वो कहती हैं,

“जो आदमी एसी वाले ऑफिस में बैठता है, 250 लोगों को नौकरी पर रखे हुए है. वो मेरे सामने फर्श पर पोंछा मार रहा है. ये देखकर रोना आया. लेकिन अब सारे लोग जब इनकी तारीफ कर रहे हैं, तो बहुत अच्छा लग रहा है. ये मेरे लिए गर्व की बात है. “

अस्पताल वाले क्या कहते हैं?

भोसारी सरकारी अस्पताल की डीन हैं डॉक्टर शैलजा भावसर. वो भी सुभाष के काम और फैसले से खुश हैं. कहती हैं,

“बहुत मरीज़ आते हैं और इलाज के बाद घर चले जाते हैं. सुभाष अकेला ऐसा है जो ऐसा काम कर रहा है. अन्य लोगों को भी उनसे सीख लेनी चाहिए और जो हो सके, वो समाज के लिए करना चाहिए.”

Subhash 2
स्कॉर्पियो से अस्पताल आते हैं सुभाष. (फोटो- पंकज खेलकर)

सुभाष अपनी स्कॉर्पियो से अस्पताल आते हैं, जिससे बहुत से लोगों का ध्यान उनकी तरफ जाता है. सुभाष का कहना है कि वो कोरोना सर्वाइवर हैं, और अब उनकी बारी है कि वो इस सोसायटी को कुछ दें. इसलिए समाज सेवा शुरू की. वो आगे भी अपना योगदान समाज में देते रहना चाहते हैं, ताकि शहर लोगों के रहने के लिए एक बेहतर जगह बन सके. वो ये भी कहते हैं कि उनका दूसरा जन्म हुआ है, कोरोना के बाद, क्योंकि भगवान भी चाहते थे कि वो लोगों की सेवा करें.


वीडियो देखें: कोरोना टेस्ट का टारगेट पूरी करना था, इन डॉक्टर साहब ने कमाल का रस्ता निकाल लिया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

अंतरिक्ष में भी लद्दाख जैसी हरकतें कर रहा है चीन

भारत के सैटेलाइट पर है ख़तरा!

चुनाव लड़ने के लिए गुप्तेश्वर पांडे ने दूसरी बार पुलिस सेवा से रिटायरमेंट ले ली है

2009 में भी गुप्तेश्वर पांडे ने वीआरएस लिया था, पर तब बीजेपी ने टिकट नहीं दिया था.

दिल्ली दंगे के लिए पुलिस ने अब इस ग्रुप को जिम्मेदार ठहराया है

चार्जशीट में दिल्ली पुलिस ने और क्या कहा है?

किस बात पर पंजाब में सनी देओल के 'सामाजिक बहिष्कार' की बात हो रही है?

कुछ लोग कह रहे हैं कि अपने गांवों में घुसने नहीं देंगे.

एक्ट्रेस के यौन शोषण के इल्ज़ाम पर अनुराग कश्यप का जवाब आया है

पायल घोष ने आरोप लगाया है.

चीन की इंटेलीजेंस को गोपनीय रिपोर्ट्स भेजने के आरोप में चीन की महिला सहित पत्रकार गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस ने कई सारे मोबाइल फोन, लैपटॉप समेत कई सेंसिटिव दस्तावेज भी बरामद किए हैं.

केरल और बंगाल से अल कायदा के 9 संदिग्ध आतंकी गिरफ्तार!

एनआईए ने दोनों राज्यों में छापे मारे.

हरसिमरत कौर बादल ने किसानों से जुड़े मुद्दे को लेकर मोदी सरकार से इस्तीफा दिया

हरसिमरत कौर केंद्र सरकार में फूड प्रॉसेसिंग इंडस्ट्रीज मिनिस्टर थीं.

20 सैनिकों की मौत के बाद भारत सरकार ने चीन में मौजूद बैंक से कई हज़ार करोड़ रुपए उधार लिए

सरकार ने ये जानकारी दी तो कांग्रेस ने इसे हथियार बना लिया

संसद सत्र से पहले दो जगह कराई कोरोना जांच, रिपोर्ट देखकर चकरा गए सांसद महोदय

मॉनसून सत्र से पहले हुई जांच में 17 MP कोविड पॉजिटिव मिले हैं.