Submit your post

Follow Us

योगी के मंत्री ने ये क्या किया कि पत्रकार प्रेस कॉन्फ्रेंस छोड़कर चले गए

5
शेयर्स

यूपी के मंत्री. रवीन्द्र जायसवाल. भाजपा नेता. बनारस के रहने वाले हैं. एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में ऐसा काम कर दिया कि पत्रकारों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस का बहिष्कार कर दिया.

राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार स्टांप तथा न्यायालय शुल्क एवं पंजीयन मंत्री रवीन्द्र जायसवाल. वाराणसी उत्तर सीट से विधायक हैं. दो दिनों से इलाहाबाद में थे. प्रयागराज है नया नाम. उन्होंने 25 नवम्बर को प्रयागराज के महानिरीक्षक निबंधक कार्यालय में बुला ली प्रेस कॉन्फ्रेंस. समय दिन के 11:30 बजे.

मंच सजा. मजमा लगा. पत्रकार पहुंचे. लेकिन मिस्टर मंत्री नहीं पहुंचे. इंतज़ार होने लगा. मंत्री जी पहुंचे 45 मिनट देर से.

पत्रकारों ने पूछा साहब ऐसी देर क्यों? मीडियाकर्मियों ने मंत्री से नाराज़गी जताई. समय से न आने को लेकर आपत्ति जताई.

मंत्री ने थोड़ी देर तो आपत्तियों को सुनना शुरू किया. लेकिन कुछ ही देर बाद उन्होंने मीडियाकर्मियों से कहा, “बस हो गया आपका..”. बस. मच गया बमचिक. हुआ हल्ला. मीडियाकर्मी उठकर जाने लगे. और जाते-जाते चले गए. राज्य मंत्री की मीटिंग का बहिष्कार कर दिया. इसके बाद खबरें चलने लगीं, और लोग एक दूसरे को मैसेज फॉरवर्ड करने लगे कि भाजपा के मंत्री “बड़बोली गति” से चल रहे हैं.


लल्लनटॉप वीडियो : शरद पवार ने अजित पवार को कई बार नाराज किया, सुप्रिया सुले भी थी एक वजह

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

एक तरफ अमित शाह रैली में बोले नक्सलवाद ख़त्म किया, उधर नक्सलियों ने हमला कर दिया

नक्सलियों ने अमित शाह को गलत साबित कर दिया. चार जवान शहीद हो गए.

कांग्रेस ने अलग से प्रेस कॉन्फ्रेंस क्यों की?

और क्या बोले अहमद पटेल?

महाराष्ट्र में रातों रात बदला गेम, देवेंद्र फडणवीस सीएम और एनसीपी के अजित पवार डिप्टी सीएम बने

शिवसेना ने इसे अंधेरे में डाका डालना बताया.

किसका डर है कि अयोध्या मसले में सुन्नी वक्फ बोर्ड रिव्यू पिटीशन नहीं फ़ाइल कर रहा?

चेयरमैन के ऊपर दो-दो केस!

डूबते टेलीकॉम को बचाने के लिए सरकार 42 हज़ार करोड़ की लाइफलाइन लेकर आई है

तो क्या वोडाफोन आईडिया और एयरटेल बंद नहीं होने वाले हैं?

मालेगांव बम ब्लास्ट की आरोपी प्रज्ञा ठाकुर देश की रक्षा करने जा रही हैं

रक्षा मंत्रालय की कमेटी में शामिल होंगी.

IIT गुवाहाटी के छात्र एक प्रोफेसर के लिए क्यों लड़ रहे हैं?

प्रोफेसर बीके राय लंबे समय से करप्शन के खिलाफ जंग छेड़े हुए हैं.

आर्टिकल 370 हटने के बाद कश्मीर में पत्थरबाजी कम हुई या बढ़ी?

राज्यसभा में सरकार ने आंकड़े बताए हैं.

फोन कंपनियां ये किस बात के लिए हम लोगों से पैसा लेने जा रही हैं?

कॉल और डाटा का पैसा बढ़ने वाला है, पढ़ लो!

BHU के मुस्लिम टीचर के पिता ने कहा, 'बेटे को संस्कृत पढ़ाने से अच्छा था, मुर्गे बेचने की दुकान खुलवा देता'

बीएचयू में मुस्लिम टीचर की नियुक्ति पर बवाल!