Submit your post

Follow Us

WTC Final के लिए टीम का ऐलान, विराट ने बताया कौन से 11 खेलेंगे

दो साल की लंबी साइकल, देसी-विदेशी कितने ही टूर, कोरोना का ब्रेक और ना जाने छोटी-बड़ी कितनी ही सीरीज़. तब जाकर आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप फाइनल का दिन आया है. सभी टेस्ट खेलने वाले देशों के बीच हुई टेस्ट सीरीज़ के बाद भारत और न्यूज़ीलैंड की टीमें ये ऐतिहासिक फाइनल खेलने के लिए इंग्लैंड के साउथैम्पटन पहुंच गई हैं.

कप्तान विराट कोहली ने मैच से ठीक पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस में भारतीय टीम का ऐलान कर दिया है. साथ ही अपने इरादे भी ज़ाहिर कर दिए हैं.

न्यूज़ीलैंड के खिलाफ WTC Final में उतरने वाली टीम में रोहित शर्मा, शुभमन गिल, चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली, अजिंक्य रहाणे, ऋषभ पंत, रविचन्द्रन अश्विन, रविन्द्र जडेजा, मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह और ईशांत शर्मा शामिल हैं.

इससे ये भी साफ हो गया है कि भारत तीन पेसर और दो स्पिनर्स वाली रणनीति के साथ ही मैच खेलेगा.

क्या बोले विराट कोहली:

विराट कोहली ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में ये कहा कि किवी टीम के खिलाड़ियों के साथ उनकी अच्छी दोस्ती है. लेकिन मैदान पर उतरकर ये सब नहीं देखा जाता. विराट कोहली ने कहा,

”हम दोनों ही एक जैसी क्रिकेट खेलते हैं. हमारे लिए बस इतना है कि हम एक मजबूत प्रतिद्वंदी के खिलाफ खेल रहे हैं. ऑफ द फील्ड हम अच्छे से मिलते हैं. लेकिन मैदान पर हम प्रोफेशनल हैं और जानते हैं कि हमें क्या करना है.”

विराट ने खुद की और केन विलियमसन की दोस्ती पर भी बात की. उन्होंने कहा,

”मैं और केन पिछले कई सालों में अच्छे दोस्त बने हैं. लेकिन जब भी वो विरोधी टीम में होते हैं तो मेरी कोशिश उन्हें जल्द से जल्द आउट करने की रहती है. मेल-मिलाप सिर्फ मैदान के बाहर होता है, मैदान पर हम प्रोफेशनल्स हैं.”

Virat Kane
विराट कोहली और केन विलियमसन. File Photo

एक बार फिर अपने पहले ICC टाइटल के करीब पहुंचे विराट कोहली ने कहा कि वो इस मैच को भी बाकी खेले गए फाइनल्स की तरह ही लेंगे. उन्होंने कहा,

”मेरे लिए ये किसी और मैच की तरह ही है. बाहर से देख रहे लोगों के लिए ये काफी रोमांच पैदा करने वाला होगा. लेकिन बतौर टीम हम बेहतर करने के लिए खेलेंगे. हम जानते हैं कि हमें क्या करना है.”

विराट ने ये भी कहा,

”हमने 2011 विश्वकप जीता लेकिन जीवन ऐसे ही चल रहा है. किसी भी अवसर को इसी तरह से लेना चाहिए. आपकी मानसिकता एक जैसी होनी चाहिए. हमारे लिए ये सिर्फ गेंद और बल्ले के बीच एक मुकाबला है.”

विराट की बात एकदम सही लगती है:

क्योंकि ये टक्कर वर्ल्ड क्रिकेट की नंबर एक और नंबर दो टीमों के बीच है. जहां पर दोनो ही टीमों की बोलिंग और बैटिंग देखने पर एक जैसी फीलिंग आती है. किवी टीम की बैटिंग में केन विलियमसन, रॉस टेलर, टॉम लेथम और अब तो डेवन कॉनवे भी जुड़ गए हैं. जबकि इंडियन टीम की बैटिंग की तरफ जाएं तो पलड़ा इधर का भारी लगने लगता है.

भारत की बैटिंग में भी कप्तान विराट कोहली, रोहित शर्मा, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्ये रहाणे और ऋषभ पंत जैसा यंग टैलेंट है.

Pujara Century
चेतेश्वर पुजारा. फोटो: AP

इस तगड़े लाइनअप को देखकर ये तो साफ महसूस होता है कि पांचों दिन बल्ला लेकर जो भी टीम खड़ी हो गेंदबाज़ों का काम बिल्कुल भी आसान नहीं रहने वाला.

लेकिन इतनी आसान भी नहीं होगी बैटिंग

आखिरी लाइन पढ़कर बहुत से अनजान लोग सोचेंगे कि यार मतलब की बल्लेबाज़ों का काम यहां भी आसान होने वाला है. लेकिन नहीं ऐसा नहीं है, क्योंकि एक तो साउथैम्पटन का मैदान और दूसरा दुनिया के बेहतरीन पेस बोलर्स.

शुरूआत किवी टीम से ही करते हैं. न्यूज़ीलैंड के पास ऐसा पेस अटैक है जो कि दुनिया की किसी भी बैटिंग को परेशान कर सकता है. टीम के तीन में से दो पेसर्स टॉप-10 रैंकिंग में मौजूद हैं. जिनके नाम है टिम साउदी और नील वैगनर. जबकि तीसरे पेसर ट्रेंट बोल्ट भी ज़्यादा दूर नहीं हैं.

इनके अलावा भी टीम के पास बैकअप के तौर पर कॉलिन डी ग्रेंडहोम और अन्य खिलाड़ी मौजूद हैं.

वहीं जब नज़र दूसरी टीम यानि भारत के पेस अटैक पर जाती है. तो लगता है कि आप आइने में देख रहे हों. भले ही विलियमसन, टेलर और कॉनवे जैसे बड़े बल्लेबाज़ हों. लेकिन टीम इंडिया के पेस अटैक में ईशांत शर्मा, जसप्रीत बुमराह और मोहम्म शमी जैसे पेसर्स मौजूद हैं.

स्पिन डिपार्टमेंट:

ये इकलौता ऐसा डिपार्टमेंट दिखता है, जहां पर इंडियन टीम किवी टीम को चकमा दे सकती है. भारत के पास एक नहीं बल्कि दो-दो लिजेंड्री स्पिनर्स मौजूद हैं. यानि रविचन्द्रन अश्विन और रविन्द्रन जडेजा. सचिन तेंडुलकर ने बिल्कुल ठीक कहा है,

एक क्वालिटी स्पिनर को पिच से कोई फर्क नहीं पड़ता.

Ravindra Jadeja 1
रविन्द्र जडेजा. फोटो: AP

ये दोनों भी बिल्कुल ऐसे ही हैं.

जबकि किवी टीम की बात करें तो उनके पास एजाज़ पटेल के रूप में एक पुराना खिलाड़ी दिखता है. लेकिन हमेशा टीम में अंदर बाहर होते रहे एजाज़ को सिर्फ नौ टेस्ट मैचों का अनुभव है.

टीम के बाद मौसम की बात:

टीम की बात तो हो गई लेकिन अगर मौसम ने मजा किरकिरा कर दिया तो इन सब बातों का क्या ही मतलब. एक्यू वेदर से मिले मौसम समाचार के हिसाब से खेल के पांचो दिन गरज और हल्की बारिश होने की संभावना है. जबकि रिज़र्व डे पर भी बादल छाए रहेंगे. फोरकास्ट के हिसाब से 19, 20 और 22 जून को ज्यादा बारिश होने की संभावना है. जबकि बाकी के दो दिन 18 और 21 जून को भी हल्की बूंदा-बांदी हो सकती है.

मैच में रिज़र्व डे भी तो है:

हालांकि कुछ उलट-पुलट नियमों के बाद आईसीसी ने सीख लेते हुए. मैच में रिज़र्व डे रखा है. इसका मतलब छठा दिन यानी 23 जून ‘रिज़र्व डे’ रहेगा. ये रिज़र्व डे इसलिए है कि अगर पांच दिन में जितना खेल होना चाहिए उतना नहीं हो पाता है तो फिर मैच को रिज़र्व डे में ले जाया जा सकता है.

रिज़र्व डे का काम पिछले पांच दिनों में छूटे मैच के समय की पूर्ती करना है.

रिज़र्व डे ज्यादा से ज्यादा 330 मिनटों यानी 83 ओवरों का होगा. जरुरत पड़ने पर खेल को एक घंटा और बढ़ाया जा सकता है. अगर दोनों टीमों के कप्तानों को लगता है की रिज़र्व डे में भी मैच का निर्णय नहीं निकल पायेगा तो दोनों कप्तान 5वें दिन ही मैच को ड्रा पर ख़तम कर सकते हैं.

Virat Rahane
विराट कोहली और अजिंक्य रहाणे. File Photo.

कितने बजे शुरू होगा मैच, कब-कब होगा ब्रेक:

भारत के समयानुसार मैच शुक्रवार दोपहर तीन बजे शुरू हो जाएगा. जबकि उससे आधा घंटा पहले यानि ढाई बजे टॉस का सिक्का उछाल लिया जाएगा.

दिन भर के खेल में बारिश या कोई रुकावट नहीं आई तो पांच बजे लंच, 7:40 पर चाय और रात के 10 बजे स्टम्पस हुआ करेंगे.

इस तरह से अगले पांच दिन हमें वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप का पूरा मज़ा मिलने है.


WTC फाइनल मुकाबले पर बारिश का साया, मैच ड्रा हुआ तो कौन बनेगा चैंपियन? 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

टी-सीरीज़ वाले भूषण कुमार पर रेप का आरोप लगा, मुंबई में रिपोर्ट दर्ज

टी-सीरीज़ वाले भूषण कुमार पर रेप का आरोप लगा, मुंबई में रिपोर्ट दर्ज

मुंबई के डीएन थाने में तीस साल की महिला ने रिपोर्ट दर्ज कराई.

अफगानिस्तान में भारतीय पत्रकार दानिश सिद्दीकी की हत्या, तालिबान ने किया था हमला

अफगानिस्तान में भारतीय पत्रकार दानिश सिद्दीकी की हत्या, तालिबान ने किया था हमला

दानिश सिद्दीकी अपनी तस्वीरों के लिए फेमस थे, 2018 में Pulitzer अवार्ड भी मिला था.

MP के विदिशा में 30 से ज्यादा लोग कुएं में गिरे, 4 की मौत, 13 लापता, 19 बचाए गए

MP के विदिशा में 30 से ज्यादा लोग कुएं में गिरे, 4 की मौत, 13 लापता, 19 बचाए गए

बच्चा कुएं में गिरा, तो बड़ी संख्या में ग्रामीण कुएं की छत पर चढ़ गए थे.

'नदिया के पार' जैसी बड़ी फ़िल्मों में काम कर चुकीं एक्ट्रेस सविता बजाज की हताशा,

'नदिया के पार' जैसी बड़ी फ़िल्मों में काम कर चुकीं एक्ट्रेस सविता बजाज की हताशा, "मेरा गला घोंट दो"

इलाज के लिए पैसे नहीं हैं.

PM मोदी ने वाराणसी में जिस रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर का उद्घाटन किया, वो है क्या?

PM मोदी ने वाराणसी में जिस रुद्राक्ष कन्वेंशन सेंटर का उद्घाटन किया, वो है क्या?

योगी सरकार के लिए क्या बोले PM?

कांवड़ यात्रा पर सुप्रीम कोर्ट ने दिखाई सख्ती, लेकिन यूपी सरकार पीछे हटने को तैयार नहीं?

कांवड़ यात्रा पर सुप्रीम कोर्ट ने दिखाई सख्ती, लेकिन यूपी सरकार पीछे हटने को तैयार नहीं?

योगी सरकार में स्वास्थ्य मंत्री के बयान से तो कुछ ऐसा ही लग रहा.

पीएम मोदी के मंत्रिमंडल विस्तार में ऐसा क्या हुआ कि महाराष्ट्र बीजेपी में उथल-पुथल मच गई?

पीएम मोदी के मंत्रिमंडल विस्तार में ऐसा क्या हुआ कि महाराष्ट्र बीजेपी में उथल-पुथल मच गई?

क्या पंकजा मुंडे की नाराजगी महाराष्ट्र बीजेपी को भारी पड़ेगी?

पंजाबी सिंगर मनमीत सिंह का शव बरामद हुआ, भारी बारिश के बाद बह गए थे

पंजाबी सिंगर मनमीत सिंह का शव बरामद हुआ, भारी बारिश के बाद बह गए थे

एक नाला पार करते वक्त गिर गए थे मनमीत सिंह.

कोंगु नाडु: मोदी कैबिनेट का विस्तार तमिलनाडु के विभाजन से जुड़े इस पुराने मुद्दे को कैसे हवा दे गया?

कोंगु नाडु: मोदी कैबिनेट का विस्तार तमिलनाडु के विभाजन से जुड़े इस पुराने मुद्दे को कैसे हवा दे गया?

तमिल मीडिया के एक हिस्से में इसे लेकर काफी गर्मजोशी दिखाई जा रही है.

कोरोना की तीसरी लहर का सामना करने के लिए कितने तैयार हैं हम?

कोरोना की तीसरी लहर का सामना करने के लिए कितने तैयार हैं हम?

पीएम मोदी ने मुख्यमंत्रियों की बैठक में क्या बता दिया?