Submit your post

Follow Us

IIT के एग्ज़ाम में पूछा गया 'धोनी को टॉस जीतकर बैटिंग करनी चाहिए या फील्डिंग?'

एग्जाम यानी कि परीक्षा. जो कुछ स्टूडेंट्स के लिए अग्नि परीक्षा से कम नहीं होती. एग्जाम का नाम आते ही हमारे जैसे क्लास के बैकबेंचर्स की हवा टाइट हो जाती थी. सवाल देखकर एसी कमरे  में भी पसीना निकल जाता था. खैर ये तो हुई हमारी बात. अब बात करते हैं उन स्टूडेंट्स की जिनका उदहारण दे-दे कर आपके माता पिता ने कभी न कभी आपको आपके निठल्लेपन का एहसास ज़रूर दिलाया होगा. यानी IIT और उसमें पढ़ने वालों की बात. खबर आई है आईआईटी मद्रास से जहां के एक प्रोफेसर सा’ब ने ऐसा सवाल पूछ लिया कि स्टूडेंट्स क्वेश्चन पढ़ के ही सन्न रह गए. आइए समझते हैं आखिर माजरा है क्या.

# सवाल का बवाल 

एग्जाम था ‘मैटेरियल एंड एनर्जी बैलेंस’ का लेकिन प्रोफेसर सा’ब के सवाल में ज़िक्र था धोनी और आईपीएल 2019 का.

आईपीएल 2019 में 7 मई को चेन्नई सुपरकिंग्स का चेपक स्टेडियम में क्वालिफायर-1 मैच है. 7 मई के मौसम के पूर्वानुमान के अनुसार, चेन्नई में 70% नमी रहने की उम्मीद है. खेल की शुरुआत में तापमान 39°C रहने का अनुमान है. दूसरी पारी की शुरुआत में तापमान 27 डिग्री सेल्सियस तक गिर सकता है. इस जानकारी के आधार पर अगर एमएस धोनी टॉस जीतते हैं, तो आप पहले बल्लेबाजी करने की सलाह देंगे या फील्डिंग की? तथ्य के साथ जवाब दें.

इस क्वेश्चन पेपर का स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया पर वायरल हुआ. और ऐसा वायरल हुआ कि ICC तक ने ट्वीट कर के प्रोफेसर साहब की तारीफ कर डाली.

# ये प्रोफेसर सा’ब का नाम क्या है?

प्रोफेसर विग्नेश मुथुविजयन नाम है इनका. और सवाल था ‘psychometric चार्ट्स’ और ‘ड्यू पॉइंट कैलक्युलेशन के बारे में (नाम में कुछ गलती हो तो सॉरी रहेगा, इतना ही पढ़ा होता तो हम भी आईआईटी पढ़ने जाते)

उन्होंने आईपीएल को जोड़ा ताकि पढ़ाई रोचक और मज़ेदार लगे. ये तरीका उन्होंने अपने स्कूल टीचर्स से सीखा है. जो इन्हें एग्जाम में ऐसे ही पॉप कल्चर रेफ़्रेन्स वाला सवाल पूछते थे. इसी को कहते हैं गुरु गुड़ रह गया चेला चीनी हो गया.

# क्रिकेट के शौक़ीन हैं प्रोफेसर 

मीडिया को दिए अपने एक इंटरव्यू में विग्नेश मुथुविजयन बताते हैं कि वो क्रिकेट फैन हैं. वो हमेशा अपने बिज़ी शेड्यूल से टाइम निकालकर क्रिकेट मैच देखते हैं. लेकिन क्लास में वो क्रिकेट का कम और उन चीज़ों का ज़िक्र ज़्यादा करते हैं, जो स्टूडेंट्स को आम-तौर पर दिखाई देती है. उनका मेन मकसद रहता है अपने स्टूडेंट्स को अच्छे से टॉपिक समझाना.

# हर जगह होने चाहिए ऐसे प्रोफेसर?

आपको नहीं लगता देश के हर कॉलेज में ऐसे ही प्रोफेसर हों? और पढ़ाने का ढंग भी मज़ेदार हो. टीचर ऐसे ही इंट्रेस्टिंग ढंग से पढ़ाएं. क्लास के पीछे की सीटों पर बैठे हमारे जैसे स्टूडेंट्स उर्फ़ बैकबेंचर्स, जो प्रकाल लिए डेस्क पर पिकासो होने  का नमूना देते रहते हैं वो भी शायद अच्छे से पढ़ने लगें.

ये स्टोरी ‘दी लल्लनटॉप’ के साथ इंटर्नशिप कर रहे शुभम ने की है.


Video: देखिए सरकार द्वारा खाता खुलवाए जाने पर क्यों नाराज है ये रिक्शाचालक?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

सरकार के साथ बातचीत में शामिल इस यूनियन के नेता को NIA ने समन क्यों भेजा?

सरकार के साथ बातचीत में शामिल इस यूनियन के नेता को NIA ने समन क्यों भेजा?

NIA का समन मिलने के बाद क्या बोले बलदेव सिंह सिरसा.

कोविड-19 वैक्सीन लॉन्च करते हुए PM मोदी ने कही ये ज़रूरी बातें

कोविड-19 वैक्सीन लॉन्च करते हुए PM मोदी ने कही ये ज़रूरी बातें

आज से देशभर में वैक्सीनेशन शुरू.

BJP का तमिलनाडु प्लान क्या है?

BJP का तमिलनाडु प्लान क्या है?

क्यों BJP को अबकी तमिलनाडु में अपनी जगह बनती दिख रही है?

कृषि कानून पर फैसले के बाद वो सवाल, जिनके जवाब सुप्रीम कोर्ट को देने चाहिए

कृषि कानून पर फैसले के बाद वो सवाल, जिनके जवाब सुप्रीम कोर्ट को देने चाहिए

SC ने फैसले में ऐसा क्या कह दिया, जिस पर सवाल उठ रहे हैं.

सुप्रीम कोर्ट ने जिन चार लोगों की कमिटी बनाई है, क्या उनमें ज्यादातर कृषि कानूनों के समर्थक हैं?

सुप्रीम कोर्ट ने जिन चार लोगों की कमिटी बनाई है, क्या उनमें ज्यादातर कृषि कानूनों के समर्थक हैं?

किसान आंदोलन को लेकर सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले से किसे ख़ुश होना चाहिए?

क्या सुप्रीम कोर्ट ने तीनों कृषि कानूनों को ग़लत माना?

क्या सुप्रीम कोर्ट ने तीनों कृषि कानूनों को ग़लत माना?

क्या सुप्रीम कोर्ट कृषि कानूनों को होल्ड पर रखने जा रही है?

डॉनल्ड ट्रम्प के समर्थकों ने अमेरिका की राजधानी में मचाया दंगा, 4 लोगों की मौत, वॉशिंगटन में कर्फ़्यू

डॉनल्ड ट्रम्प के समर्थकों ने अमेरिका की राजधानी में मचाया दंगा, 4 लोगों की मौत, वॉशिंगटन में कर्फ़्यू

फ़ेसबुक, ट्विटर और इंस्टाग्राम ने ट्रम्प पर बैन लगा दिया है.

चांदनी चौक: हनुमान मंदिर तोड़ने के पीछे की असल वजह क्या है, जान लीजिए

चांदनी चौक: हनुमान मंदिर तोड़ने के पीछे की असल वजह क्या है, जान लीजिए

BJP, AAP और कांग्रेस मंदिर ढहाने का ठीकरा एक दूसरे पर फोड़ रही हैं.

शाहजहांपुर बॉर्डर से हरियाणा में घुस रहे किसानों पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज

शाहजहांपुर बॉर्डर से हरियाणा में घुस रहे किसानों पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज

किसान नेताओं ने क्या ऐलान किया है?

कॉमेडियन मुनव्वर फारुकी को किस मामले में जेल भेज दिया गया है?

कॉमेडियन मुनव्वर फारुकी को किस मामले में जेल भेज दिया गया है?

मध्य प्रदेश में बीजेपी विधायक के बेटे ने दर्ज करवाया था केस.