Submit your post

Follow Us

जीतने के बाद भी क्यों छिन गया विनोद कुमार का ब्रॉन्ज़ मेडल?

भारत के लिए टोक्यो पैरालंपिक्स से एक दिल तोड़ने वाली खबर आई है. भारत के विनोद कुमार द्वारा डिस्कस थ्रो यानी चक्का फेंक में जीता गया ब्रॉन्ज़ मेडल छिन गया है. टोक्यो पैरालंपिक्स की प्रतियोगिता कमिटी ने विनोद कुमार को विकलांगता की कैटेगरी F52 के लिए अनुचित ठहराते हुए उनके जीते ब्रॉन्ज़ मेडल को निरस्त घोषित कर दिया है.

सोमवार 30 अगस्त को डिसेबिलिटी क्लासिफिकेशन असेसमेंट यानी विकलांगता वर्गीकरण मूल्यांकन में विनोद कुमार को अयोग्य ठहराते हुए टोक्यो पैरालंपिक्स की प्रतियोगिता कमिटी ने इस बात की पुष्टि की. उन्होंने कहा,

‘प्रतियोगिता में वर्गीकरण मूल्यांकन पर निगरानी रखने के बाद और वर्गीकरण पैनल के दुबारा मूल्यांकन के बाद, पैनल भारत के विनोद कुमार को एक ‘स्पोर्ट्स क्लास’ में नहीं ठहरा सकता. इसलिए विनोद कुमार को क्लासिफिकेशन नॉट कम्पलीट (CNC) में नामित किया गया है.

इसलिए एथलीट (विनोद कुमार) को पुरुष डिस्कस थ्रो के मेडल इवेंट की F52 कैटेगरी ले लिए अनुचित माना जाता है और उस प्रतियोगिता में आए उनके रिजल्ट को निरस्त किया जाता है.’

Vinod Decleration
टोक्यो पैरालंपिक्स की प्रतियोगिता कमीटी नोटिस (ट्वीटर फ़ोटो)

विनोद कुमार ने रविवार, 29 अगस्त को हुए डिस्कस थ्रो इवेंट में 19.91 मीटर का थ्रो कर ब्रॉन्ज़ मेडल अपने नाम किया था. हालांकि प्रतियोगिता के बाद कुछ एथलीट्स द्वारा आपत्ति जताने के मेडल सेरेमनी को सोमवार तक के लिए स्थगित कर दिया गया था. विनोद ने इवेंट में 19.91 के थ्रो के साथ एशियाई रिकॉर्ड भी अपने नाम किया था. जो अब उनके नाम नहीं रहेगा.

विनोद प्रतियोगिता के दौरान अपने पहले तीन प्रयासों में 19 मीटर का आंकड़ा पार नहीं कर पाए थे. हालांकि अपने अगले तीन प्रयासों में उन्होंने 19.12, 19.91, और 19.81 मीटर के थ्रो किए थे और ब्रॉन्ज़ मेडल जीता था. 20.02 मीटर के साथ पोलैंड के पिओट्र कोसेविज़ ने गोल्ड जीता और 19.98 मीटर के थ्रो के साथ क्रोएशिया के वेलीमीर सेंडोर ने सिल्वर.


INDvsENG: हेडिंग्ली और लॉर्ड्स के मैदान में घुसने वाले जारवो को क्या सजा मिली?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

लखीमपुर की जांच से हाथ खींच रही यूपी सरकार? SC ने तगड़ी फटकार लगाते हुए और क्या सवाल दागे?

लखीमपुर की जांच से हाथ खींच रही यूपी सरकार? SC ने तगड़ी फटकार लगाते हुए और क्या सवाल दागे?

सुप्रीम कोर्ट ने कहा, कभी खत्म न होने वाली कहानी न बन जाए ये जांच.

केरल के साथ उत्तराखंड में भी बारिश का कहर, सड़कें, इमारतें, पुल ध्वस्त, 16 की मौत

केरल के साथ उत्तराखंड में भी बारिश का कहर, सड़कें, इमारतें, पुल ध्वस्त, 16 की मौत

केरल में भारी बारिश के कारण हुई मौतों की संख्या 35 तक पहुंची.

जिस CBI अफसर को केस बंद करने के लिए सौंपा गया था, उसी ने सलाखों के पीछे पहुंचा दिया राम रहीम को

जिस CBI अफसर को केस बंद करने के लिए सौंपा गया था, उसी ने सलाखों के पीछे पहुंचा दिया राम रहीम को

इंसाफ दिलाने के लिए धमकियों और खतरों की परवाह नहीं की.

लगातार दूसरे दिन आतंकियों ने गैर कश्मीरी मजदूरों को बनाया निशाना, 2 की मौत, 1 घायल

लगातार दूसरे दिन आतंकियों ने गैर कश्मीरी मजदूरों को बनाया निशाना, 2 की मौत, 1 घायल

पुलिस और सुरक्षा बलों ने इलाके को घेरा.

केरल में भारी बारिश से तबाही, 25 से ज़्यादा मौतें, कई लापता

केरल में भारी बारिश से तबाही, 25 से ज़्यादा मौतें, कई लापता

पीएम मोदी ने केरल के मुख्यमंत्री से की बात.

श्रीनगर में बिहार के रेहड़ीवाले और पुलवामा में यूपी के मजदूर की गोली मारकर हत्या

श्रीनगर में बिहार के रेहड़ीवाले और पुलवामा में यूपी के मजदूर की गोली मारकर हत्या

कश्मीर ज़ोन पुलिस ने बताया घटनास्थलों को खाली कराया गया. तलाशी जारी.

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

राकेश टिकैत ने भी मीडिया से बात की है.

बांग्लादेश: दुर्गा पूजा पंडाल को कट्टरपंथियों ने तहस-नहस किया, मूर्तियां तोड़ीं, 3 लोगों की मौत

बांग्लादेश: दुर्गा पूजा पंडाल को कट्टरपंथियों ने तहस-नहस किया, मूर्तियां तोड़ीं, 3 लोगों की मौत

कुरान को लेकर अफवाह उड़ी और बांग्लादेश के कई हिस्सों में सांप्रदायिक तनाव फैल गया.

आर्यन खान को अब भी नहीं मिली बेल, 20 तारीख तक जेल में ही रहना होगा

आर्यन खान को अब भी नहीं मिली बेल, 20 तारीख तक जेल में ही रहना होगा

जज ने दोनों पक्षों की दलीलें तो सुनी लेकिन अपना फैसला रिज़र्व रख दिया.

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

किसी ने लोन लेकर परिवार को नया घर दिया था तो कोई दिवंगत पिता के शोक में जाने वाला था.