Submit your post

Follow Us

विदेश से भारत आए 58 हज़ार लोगों में से कितने कोरोना पॉज़िटिव पाए गए?

कोरोना वायरस के खतरे के चलते इंटरनेशनल फ्लाइट बंद हैं. विदेशों में फंसे भारतीयों के वापस लाने के लिए केंद्र सरकार ने ‘वंदे भारत’ मिशन चलाया था. इस मिशन के तहत 58 हज़ार से ज्यादा भारतीय वापस लाए गए. अब इनकी कोरोना वायरस रिपोर्ट आ गई है. केंद्र सरकार ने इसकी जानकारी बॉम्बे हाईकोर्ट में दी है.

क्या-क्या बताया सरकार ने?

– कुल 58,867 भारतीय विदेशों से रेस्क्यू किये गए.

– इनमें से 227 की कोरोना वायरस रिपोर्ट पॉज़िटिव आई है. यानी करीब 0.38 प्रतिशत लोग.

सरकार ने ये भी कहा कि ये मामले इन लोगों के क्वारंटीन रहने के दौरान ही सामने आ गए थे. साथ ही ये कहा नहीं जा सकता है कि ये लोग फ्लाइट में बैठने के बाद कोरोना पॉज़िटिव हुए.

दरअसल, हाई कोर्ट ने डायरेक्टरेट जनरल ऑफ़ सिविल एविएशन (DGCA) और एयर इंडिया से ऐसे लोगों की डिटेल मांगी थी, जो फ्लाइट में चढ़ने के बाद वायरस से इनफेक्ट हुए. इसके लिए हरेक राज्य की अलग डिटेल कोर्ट के सामने पेश की गई. इन्हें देखने के बाद हाई कोर्ट ने सिविल एविएशन मिनिस्ट्री की एक्सपर्ट कमिटी से सवाल किया- क्या केवल किसी कोरोना पॉज़िटिव व्यक्ति के दूसरे को छू देने से कोरोना फैल सकता है? कमिटी ने जवाब दिया कि अगर फ्लाइट में पास बैठे हुए लोगों को सुरक्षात्मक तरीके से, चारों तरफ से ढकने वाला गाउन दे दिया जाए, तो ड्रॉप्लेट या छूने की वजह से वायरस का फैलना रोका जा सकता है.

जस्टिस एसजे कथावला और जस्टिस एसपी तावड़े की डिवीज़न बेंच एयर इंडिया के पायलट देवेन कनानी की अर्ज़ी पर केस सुन रही थी. कोर्ट की कार्यवाही वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए चल रही थी. देवेन कनानी की तरफ से एडवोकेट अभिलाष पणिकर ने कहा कि ऑथॉरिटीज़ ने दिल्ली, महाराष्ट्र और तेलंगाना में पहुंचे 18,896 यात्रियों में से कोरोना पॉज़िटिव पाए गए लोगों के आंकड़े नहीं दिए हैं.

क्या है मामले का बैकग्राउंड?

देवेन कनानी ने अपनी अर्ज़ी में आरोप लगाया था कि विदेशों में फंसे इंडियंस को वापस लाते हुए इन स्पेशल फ्लाइट पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हो रहा. उन्होंने कोर्ट का ध्यान केंद्र सरकार की 23 मार्च की नोटिफिकेशन की तरफ खींचा, जिसमें महामारी की वजह से विदेशों में फंसे हुए इंडियंस को वापस लाने के लिए कुछ शर्तें रखी गई थीं. उन्होंने बताया कि मिडिल सीट को खाली रखने वाले नियम का पालन नहीं किया गया. इसके लिए उन्होंने सैन फ्रांसिस्को से मुंबई के बीच चली एयर इंडिया की एक फ्लाइट की फोटो भी सबमिट की थी. इसमें सभी सीटें भरी हुई नज़र आ रही थीं.

एयर इंडिया के वकील अभिनव चंद्रचूड़ ने इस अर्ज़ी का विरोध किया था. उन्होंने हाई कोर्ट को कहा था कि 23 मार्च वाली नोटिफिकेशन के ऊपर अब केंद्र सरकार का 22 मई का सर्कुलर आ चुका है, जिसमें मिडिल सीट को खाली रखने की बात नहीं कही गई है. लेकिन जस्टिस आर.डी.धानुका और जस्टिस अभय आहूजा ने इस बात पर गौर किया कि 22 मई वाला सर्कुलर केवल डोमेस्टिक फ्लाइट के लिए है, न कि इंटरनेशनल फ्लाइट के लिए. उन्होंने एयर इंडिया और DGCA से लिखित जवाब मांगा था कि मिडिल सीट को खाली क्यों नहीं रखा जा रहा.

वीडियो देखें: दिल्ली से मॉस्को जा रही एयर इंडिया की फ्लाइट का पायलट कोरोना पॉजिटिव निकला   
 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

'निसर्ग' चक्रवात क्या है और ये कितना ख़तरनाक है?

'निसर्ग' नाम का मतलब भी बता रहे हैं.

कोरोना काल में क्रिकेट खेलने वाले मनोज तिवारी ‘आउट’

दिल्ली में हार के बाद बीजेपी का पहला बड़ा फैसला.

1 जून से लॉकडाउन को लेकर क्या नियम हैं? जानिए इससे जुड़े सवालों के जवाब

सरकार ने कहा कि यह 'अनलॉक' करने का पहला कदम है.

3740 श्रमिक ट्रेनों में से 40 प्रतिशत ट्रेनें लेट रहीं, रेलवे ने बताई वजह

औसतन एक श्रमिक ट्रेन 8 घंटे लेट हुई.

कंटेनमेंट ज़ोन में लॉकडाउन 30 जून तक बढ़ाया गया, बाकी इलाकों में छूट की गाइडलाइंस जानें

गृह मंत्रालय ने कंटेनमेंट ज़ोन के बाहर चरणबद्ध छूट को लेकर गाइडलाइंस जारी की हैं.

मशहूर एस्ट्रोलॉजर बेजान दारूवाला नहीं रहे, कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी

बेटे ने कहा- निमोनिया और ऑक्सीजन की कमी से हुई मौत.

लॉकडाउन-5 को लेकर किस तरह के प्रपोज़ल सामने आ रहे हैं?

कई मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि 31 मई के बाद लॉकडाउन बढ़ सकता है.

क्या जम्मू-कश्मीर में फिर से पुलवामा जैसा अटैक करने की तैयारी में थे आतंकी?

सिक्योरिटी फोर्स ने कैसे एक्शन लिया? कितना विस्फोटक मिला?

लद्दाख में भारत और चीन के बीच डोकलाम जैसे हालात हैं?

18 दिनों से भारत और चीन की फौज़ आमने-सामने हैं.

शादी और त्योहार से जुड़ी झारखंड की 5000 साल पुरानी इस चित्रकला को बड़ी पहचान मिली है

जानिए क्या खास है इस कला में.