Submit your post

Follow Us

उवे हॉन नहीं तो आखिर कौन है नीरज चोपड़ा का कोच?

नीरज चोपड़ा. इंडियन स्पोर्ट्स के नए सुपरस्टार. नए इसलिए क्योंकि देश के ज्यादातर लोग ओलंपिक्स के दौरान ही एथलेटिक्स जैसे खेलों में इंट्रेस्ट जगाते हैं. ऐसे में इन लोगों के लिए नीरज नए ही हैं. ये अलग बात है कि नीरज टोक्यो ओलंपिक्स में जाने से पहले ही तमाम इंटरनेशल गोल्ड मेडल्स जीत चुके थे. नीरज पर लौटें तो टोक्यो में उनके गोल्ड के बाद से ही एक और नाम चर्चा में है. जर्मनी के पूर्व जैवलिन थ्रोअर उवे हॉन.

कई फ़ैन्स और मीडिया संस्थानों की मानें तो उवे नीरज के कोच हैं. जबकि सच्चाई थोड़ी अलग है. उवे हॉन नीरज तो क्या, टोक्यो गए बाकी दो भारतीय जैवलिन थ्रो एथलीट्स शिवपाल सिंह और अन्नू रानी के भी कोच नहीं हैं. अब ऐसे में सवाल है कि अगर उवे हॉन इन तीनों के कोच नहीं हैं तो वह टोक्यो ओलंपिक्स में क्यों गए थे? दरअसल उवे हॉन इन तीनों के कोच ना होकर भारतीय जैवलिन के कोच हैं.

# Honn और Neeraj का मामला

हॉन पहले नीरज के कोच थे लेकिन 2018 के एशियन गेम्स में गोल्ड मेडल जीतने के बाद नीरज ने उनके साथ ट्रेनिंग करने से मना कर दिया था. इस बारे में नेशनल एथलेटिक्स कोच राधाकृष्ण नायर ने द ब्रिज़ से कहा था,

‘यह हमारी पसंद नहीं थी. नीरज उवे हॉन के ट्रेनिंग के तरीकों के साथ एडजस्ट नहीं कर पा रहे थे. 2018 के एशियन गेम्स के बाद नीरज ने कहा कि वे हॉन के साथ ट्रेनिंग नहीं कर पाएंगे. जिसके बाद हमने डॉक्टर क्लॉस से नीरज के साथ काम करने की अपील की.’

अब आप सोच रहे होंगे कि ये डॉक्टर क्लॉस कौन हैं? जर्मनी के ही रहने वाले डॉक्टर क्लॉस बार्टोनीज़ बायोमैकेनिक्स के एक्सपर्ट हैं. पहले वहा और हॉन दोनों एकसाथ काम करते थे. लेकिन बाद में एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (AFI) के कहने पर वह अकेले नीरज को ट्रेन करने लगे.

नीरज के अलावा शिवपाल यादव और अन्नू रानी ने भी हॉन के साथ काम करने से मना कर दिया था. इसी साल जून में इन दोनों ने एक बयान में कहा था,

‘वह हमारे विदेशी दौरों पर हमें नज़रअंदाज कर कुछ विदेशी एथलीट्स को भी ट्रेन करते हैं. यह तबकी बात है जब हम साल 2019 में पोलैंड में ट्रेनिंग कर रहे थे. वह कुछ कारणों के चलते विदेश में ट्रेनिंग करने में ज्यादा दिलचस्पी दिखाते हैं.’

पीटीआई से बात करते हुए अन्नू ने कहा था,

‘मैं उनके काम करने के तरीके के चलते उनके साथ ट्रेनिंग नहीं करती. मैंने इस साल की शुरुआत में उनके रौबदार रवैये के चलते उनके अंडर ट्रेनिंग ना करने का फैसला किया था.’

बताते चलें कि अन्नू और शिवपाल के इस बयान वाले दिन ही हॉन ने स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया और AFI के काम करने के तरीकों पर विस्फोटक बयान दिया था. उन्होंने इन दोनों संस्थाओं के काम करने के तरीके को बेहद खराब बताते हुए इन पर कई आरोप लगाए थे.


टोक्यो ओलंपिक में जब सब मैच पर फोकस कर रहे थे, तब नीरज चोपड़ा क्या कर रहे थे?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

ये रिपोर्ट कान खड़े कर देगी.

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

इस्तीफे में पराग अग्रवाल के लिए क्या-क्या बोले जैक डोर्से?

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?