Submit your post

Follow Us

69,000 शिक्षकों की भर्ती में फ्रॉड करने के केस में यूपी पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है

उत्तर प्रदेश के बेसिक शिक्षा डिपार्टमेंट में 69,000 पोस्ट के लिए भर्तियों पर लख़नऊ हाई कोर्ट ने हाल ही में रोक लगा दी थी. अब इस प्रक्रिया में धांधली करने वालों को पकड़ा गया है. उत्तर प्रदेश पुलिस ने 10 लोगों को गिरफ़्तार किया है. इन्होंने कथित तौर पर अभ्यर्थियों से लाखों रुपए की रिश्वत ली थी.

टॉपर को इंडिया के राष्ट्रपति का नाम भी नहीं पता

प्रयागराज के सुपरिटेंडेंट ऑफ़ पुलिस (SP) अनिरुद्ध पंकज ने ET अखबार को बताया कि इन लोगों को इस भर्ती प्रक्रिया में धांधली करने के आरोप में पकड़ा गया है. इनके पास से 22 लाख कैश और दो लग्जरी कारें बरामद हुईं. मुख्य आरोपी का नाम बताया गया है के.एल.पटेल, जो पूर्व ज़िला पंचायत मेंबर है. उसके द्वारा बहुत से शैक्षणिक संस्थान चलाने की बात सामने आई है. रिपोर्ट के मुताबिक, इसने 50 से ज़्यादा लोगों को 8-10 लाख रुपए लेकर परीक्षा में सफलता दिलवाने की बात को स्वीकार किया है.

लेकिन पुलिस अफसरों को शक है कि रिश्वत देने वाले और अनुचित तरीकों से पेपर पास करने वालों की संख्या सैकड़ों में हैं. अब उनकी तलाश भी ज़ोरों पर हैं. ऐसे तीन लोगों को तो जेल भेजा जा चुका है. इन दो में से एक है परीक्षा का टॉपर धर्मेंद्र पटेल. हिरासत में उससे सामान्य ज्ञान के कुछ आसान से सवाल पूछे गए. जैसे कि इंडिया के राष्ट्रपति का नाम. लेकिन वह इनके जवाब भी नहीं दे पाया. उसे परीक्षा में नंबर कितने मिले थे? 150 में से 142.

यूपी के बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री हैं सतीश चंद्र द्विवेदी. उन्होंने इस मामले की जांच को STF को सौंप देने की घोषणा की है. क्योंकि गिरोह का नेटवर्क दूर तक फैले होने के आसार हैं. आपको बता दें कि 3 जून को उन्होंने काउंसलिंग और डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन की प्रक्रिया को फिलहाल के लिए रोक देने की बात बताई थी. साथ ही उन्होंने सरकार की हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ अपील करने की मंशा को भी ज़ाहिर किया था.

प्रियंका और मायावती को आया गुस्सा 

कांग्रेस की जनरल सेक्रेटरी प्रियंका गांधी वाड्रा ने इसकी तुलना मध्य प्रदेश के व्यापम स्कैम से की है, जिसमें मेडिकल कॉलेजों की सीटें भरने में धांधली की बात सामने आई थी. उस घोटाले में कई शीर्ष नेताओं और अधिकारियों के शामिल होने की बात उठी थी. उन्होंने कहा:

“69,000 शिक्षकों की भर्ती का घोटाला उत्तर प्रदेश का व्यापम स्कैम है. डायरियों में छात्रों के नाम, रुपए का लेन-देन, परीक्षा केंद्रों पर भारी गड़बड़… इस शो के सभी तार कई जगहों से जुड़े हुए हैं.”   

उन्होंने कहा कि मेहनती युवाओं के साथ कोई अन्याय नहीं होना चाहिए. सरकार द्वारा न्याय नहीं दे पाने पर उन्होंने जन-आंदोलन की बात कही.

वे इस मामले पर बात करने के लिए लोगों से फेसबुक लाइव पर भी जुड़ीं.

Live : 69000 शिक्षक भर्ती मामले में न्याय के पक्ष में आवाज।

Posted by Priyanka Gandhi Vadra on Tuesday, 9 June 2020

उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने इस मामले में सीबीआई जांच की मांग की है.

जवाबों की सूची पर उठे थे सवाल

अमिता त्रिपाठी और अन्य लोगों ने कोर्ट में रिट याचिका दायर की थी. उन्होंने दावा किया था कि कई सवालों के एक से ज़्यादा सही उत्तर थे. क्योंकि सवाल स्पष्ट और सधे हुए नहीं थे. कोर्ट ने स्टे लगाते हुए 12 जुलाई की अगली तारीख दी. इस दौरान उन्होंने सभी अभ्यर्थियों को कोई अन्य ऑब्जेक्शन सबमिट करने के लिए एक हफ़्ते का समय दिया था. यूनिवर्सिटी ग्रांट्स कमीशन (UGC) को एक एक्सपर्ट्स का पैनल चुनने के लिए कहा गया, जो प्रश्न पत्र, प्रोविज़नल उत्तर सूची और उन पर उठाए हुए ऑब्जेक्शन की स्टडी करेगा. ये चार हफ्ते के अंदर राज्य सरकार को एक रिपोर्ट देगा, जिसे कोर्ट में पेश किया जाएगा.

अब धांधली की ख़बरों और गिरफ्तारियों ने मामले को और अधिक उलझा दिया है.


वीडियो देखें: 69 हज़ार सहायक शिक्षक भर्ती मामले में पुलिस ने तीन टॉपर्स को अरेस्ट किया   

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

WHO ने कोरोना पर राहत देने वाली बात की तो दुनियाभर के वैज्ञानिकों ने कहा, “अरी मोरी मईया!”

पलटकर WHO से ही सबूत मांग रहे हैं लोग.

ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनकी मां को हुआ कोरोना इंफेक्शन, दिल्ली के अस्पताल में भर्ती

बीते कुछ दिनों से दोनों की तबीयत खराब थी.

बिहार: अमित शाह ने वर्चुअल रैली में तेजस्वी को घेरा, कहा-लालटेन राज से एलईडी युग में आ गए

तेजस्वी यादव ने रैली पर 144 करोड़ खर्च करने का आरोप लगाया.

गर्भवती ने 13 घंटे तक आठ अस्पतालों के चक्कर लगाए, किसी ने भर्ती नहीं किया, मौत हो गई

महिला की मौत के बाद अब जिला प्रशासन जांच की बात कर रहा है.

दिल्ली के सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में अब सिर्फ दिल्ली वालों का इलाज होगा

दिल्ली के बॉर्डर खोले जाने पर भी हुआ फैसला.

लद्दाख में तनाव: भारत-चीन सेना के कमांडरों की मीटिंग में क्या हुआ, विदेश मंत्रालय ने बताया

6 जून को दोनों देशों के सेना के कमांडरों की मीटिंग करीब 3 घंटे तक चली थी.

पहले से फंसी 69000 शिक्षक भर्ती में अब पता चला, रुमाल से हो रही थी नकल!

शुरू से विवादों में रही 69 हजार शिक्षक भर्ती में जुड़ा एक और विवाद

'निसर्ग' चक्रवात क्या है और ये कितना ख़तरनाक है?

'निसर्ग' नाम का मतलब भी बता रहे हैं.

कोरोना काल में क्रिकेट खेलने वाले मनोज तिवारी ‘आउट’

दिल्ली में हार के बाद बीजेपी का पहला बड़ा फैसला.

1 जून से लॉकडाउन को लेकर क्या नियम हैं? जानिए इससे जुड़े सवालों के जवाब

सरकार ने कहा कि यह 'अनलॉक' करने का पहला कदम है.