Submit your post

Follow Us

UP: सरकारी विभाग में ठेके के नाम पर किस तरह की गई नौ करोड़ की ठगी?

यूपी में सरकारी विभाग में ठेका दिलाने के नाम पर धोखाधड़ी का मामला सामने आया है. मामला पशुपालन विभाग में 240 करोड़ रुपये का टेंडर दिलाने को लेकर ठगी का है. इस मामले में स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने सात लोगों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार किए गए लोगों में पशुधन विकास विभाग के राज्यमंत्री जयप्रकाश निषाद के प्रधान निजी सचिव, सचिवालय संविदा कर्मी और चार पत्रकार शामिल हैं. इन पर पशुपालन विभाग का टेंडर दिलाने के नाम पर 9.72 करोड़ रुपये ठगने का आरोप है. इस मामले में लखनऊ के हजरतगंज थाने में 11 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई थी. मामले की जांच का जिम्मा यूपी एसटीएफ के पास है.

क्या है मामला

एसटीएफ ने बताया कि मामले का मास्टरमाइंड आशीष राय नाम का शख्स है. आरोपियों ने मंजीत सिंह नाम के इंदौर के एक बिजनेसमैन को जाल में फंसाया. उसे आटा सप्लाई को टेंडर दिलाने का वादा किया. इसके तहत मंजीत सिंह को सरकारी गाड़ी में सचिवालय लाया गया. यहां पर एक कमरे का इस्तेमाल पशुधन निदेशक के कमरे के रूप में किया गया. कमरे के बाहर निदेशक एसके मित्तल के नाम से फर्जी नेमप्लेट लगा दी गई. यहां पर आशीष राय खुद निदेशक बनकर बैठ गया. बाकी आरोपियों ने मंजीत की मुलाकात उससे कराई. यहीं पर टेंडर दिलाने के लिए सौदा किया गया. मंजीत से फर्जी कागजात साइन कराए गए. फॉर्मेलिटीज और कई बहाने बनाकर 9 करोड़ 72 लाख रुपए ले लिए. बताया जाता है कि टेंडर दिलाने का सौदा करीब 15 करोड़ रुपये का था.

फर्जी वर्क ऑर्डर दिए, पैसे मांगे तो धमकाया

आरोपियों में मंजीत को फर्जी वर्क ऑर्डर जारी कर दिए. लेकिन वर्क ऑर्डर की सच्चाई सामने आने पर मंजीत ने आरोपियों से पैसे वापस मांगे. पहले तो आरोपी बहाने बनाते रहे. लेकिन फिर उसे धमकाने लगे. मंजीत ने अ्पनी शिकायत में कहा कि उसे डराने के लिए एके राजीव नाम के एक आरोपी ने पुलिस का सहारा भी लिया. राजीव ने एक पुलिसवाले के जरिए उसे उठवाया और एनकाउंटर की धमकी भी दी. इस पर उसने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से शिकायत की. सीएम के आदेश पर मामला एसटीएफ को सौंपा गया.

कई बड़े अधिकारी भी जांच के घेरे में

एसटीएफ ने बताया कि आरोपियों के पास से 28.32 लाख रुपये, फर्जी आईडी कार्ड, लेटर हेड, कैमरे, पैन कार्ड, आधार कार्ड और दूसरे दस्तावेज बरामद किए हैं. मामले में कई बड़े सरकारी अधिकारी भी जांच के घेरे में हैं. एक आईपीएस अधिकारी के भी शामिल होने की बात सामने आई है.

कौन-कौन हुए हैं गिरफ्तार

पशुधन विकास मंत्री के प्रधान निजी सचिव रजनीश दीक्षित
सचिवालय का संविदा कर्मी धीरज कुमार देव
आशीष राय
रूपक राय
पत्रकार एके राजीव
पत्रकार अनिल राय
पत्रकार उमाशंकर तिवारी


Video: UP में जिस अनामिका शुक्ला के नाम पर लाखों का घपला हुआ, वो सामने आई

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कांग्रेस के दिग्गज नेता अहमद पटेल का निधन, एक महीने तक कोविड-19 से लंबी जंग लड़ी

कांग्रेस के दिग्गज नेता अहमद पटेल का निधन, एक महीने तक कोविड-19 से लंबी जंग लड़ी

पीएम मोदी समेत कई नेताओं ने दुख जताया.

कंगना-रंगोली पर सेडिशन केस की सुनवाई करते बॉम्बे हाईकोर्ट ने बहुत ज़रूरी बात कही है

कंगना-रंगोली पर सेडिशन केस की सुनवाई करते बॉम्बे हाईकोर्ट ने बहुत ज़रूरी बात कही है

"क्या हम अपने नागरिकों के साथ ऐसा व्यवहार करेंगे?”

दिल्ली दंगा : चार्जशीट में फ़ोटो लगाकर पुलिस ने कहा, 'ये दंगे को लेकर सीक्रेट मीटिंग हुई है'

दिल्ली दंगा : चार्जशीट में फ़ोटो लगाकर पुलिस ने कहा, 'ये दंगे को लेकर सीक्रेट मीटिंग हुई है'

इसके अलावा वाट्सऐप चैट को लेकर दिल्ली पुलिस ने क्या दावा किया?

दंगे की चार्जशीट में दिल्ली पुलिस ने कहा, 'पटना में बैठकर उमर ख़ालिद ने दिल्ली में दंगा भड़काया'

दंगे की चार्जशीट में दिल्ली पुलिस ने कहा, 'पटना में बैठकर उमर ख़ालिद ने दिल्ली में दंगा भड़काया'

दिल्ली पुलिस ने किस सीक्रेट ऑफ़िस की बात की है?

डॉक्टर कर रहे थे दिमाग की सर्जरी और मरीज टीवी पर देख रहा था 'बिग बॉस'!

डॉक्टर कर रहे थे दिमाग की सर्जरी और मरीज टीवी पर देख रहा था 'बिग बॉस'!

चौंक गए ना आप? चलिए बताते हैं कि आखिर ये मामला क्या है.

ड्रग्स केस: कॉमेडियन भारती सिंह को तीन घंटे की पूछताछ के बाद NCB ने गिरफ्तार किया

ड्रग्स केस: कॉमेडियन भारती सिंह को तीन घंटे की पूछताछ के बाद NCB ने गिरफ्तार किया

मुंबई स्थित घर से एजेंसी ने गांजा बरामद किया था.

मुकेश भाई की रिलायंस के दिए 19 किलो सोने से सजा कामख्या मंदिर देख लो

मुकेश भाई की रिलायंस के दिए 19 किलो सोने से सजा कामख्या मंदिर देख लो

गुवाहाटी के इस मंदिर की गिनती देश के सबसे पुराने शक्त पीठों में होती है.

नाम से नफरत थी, शिवसेना के नेता ने दे डाला 'कराची स्वीट्स' को अल्टिमेटम

नाम से नफरत थी, शिवसेना के नेता ने दे डाला 'कराची स्वीट्स' को अल्टिमेटम

दुकानदार ने साइन बोर्ड पर छिपा दिया 'कराची' शब्द

एक और प्राइवेट बैंक का बंटाधार? RBI को लगानी पड़ी पैसे निकालने की लिमिट

एक और प्राइवेट बैंक का बंटाधार? RBI को लगानी पड़ी पैसे निकालने की लिमिट

PMC और यस बैंक की तरह ही अब इस बैंक पर भी लगा मोरेटोरियम.

तबलीगी जमात पर सरकार के किस जवाब से सुप्रीम कोर्ट खफा हो गया

तबलीगी जमात पर सरकार के किस जवाब से सुप्रीम कोर्ट खफा हो गया

तुषार मेहता से सुप्रीम कोर्ट ने क्या कहा?