Submit your post

Follow Us

एक्टिविस्ट नूतन ठाकुर ने योगी सरकार की महिला मंत्री पर बड़ा आरोप लगाया है

योगी आदित्यनाथ सरकार की एक महिला मंत्री फिर से विवादों के घेरे में हैं. सोशल एक्टिविस्ट नूतन ठाकुर ने एक ऑडियो रिकॉर्डिंग की जांच की मांग की है. इसमें कोई व्यक्ति कथित तौर पर इस महिला मंत्री के पिता से बात कर रहा है. उन्हें किसी लिस्ट में बदलाव करने के लिए रिश्वत का ऑफर दे रहा है.

चिंता ना करो, काम हो जाएगा

नूतन ने ‘इंडिया टुडे’ को फ़ोन बातचीत की ऑडियो क्लिप मुहैया करवाई. इसमें एक आदमी को कथित तौर पर मंत्री के पिता से बात करते हुए सुना जा सकता है. वह उनसे, यानी मंत्री से मिलने की गुज़ारिश करता है. जिस व्यक्ति को नूतन ने मंत्री का पिता बताया है, वह जवाब में कहते हुए सुनाई देता है कि मीटिंग नहीं हो सकती, क्योंकि असेंबली का सेशन चल रहा है. फ़ोन करने वाले ने फिर लिस्ट में कुछ बदलाव करने की गुज़ारिश की. बदले में पांच लाख रुपए और एक ‘वैगन आर’ कार देने का प्रस्ताव रखा. साथ ही यह भी बताया कि लिस्ट एक-दो दिन में निकलने वाली है. जवाब में उसे आश्वासन दिया गया कि उन्होंने, यानी मंत्री ने कहा है कि काम हो जाएगा.

नूतन ने बताया कि उन्हें यह फ़ोन रिकॉर्डिंग उनके किसी सूत्र से मिली. उन्होंने कहा कि यह भ्रष्टाचार का मामला है और उन्होंने इसे राज्य सरकार के इंटीग्रेटेड ग्रीवेंसीज़ रिड्रेसल पोर्टल (IGRS) पर रिपोर्ट कर दिया है. उन्होंने बताया कि उन्होंने पुलिस में भी इसकी शिकायत दर्ज की:

“मेरी शिकायत के आधार पर लखनऊ के आशियाना पुलिस स्टेशन ने मामले की छानबीन की. यह साफ़ है कि पुलिस कोई एक्शन नहीं लेना चाहती. पुलिस ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि केवल रिश्वत देने वाला व्यक्ति बार-बार रुपया ऑफर कर रहा है, जबकि दूसरा आदमी रिश्वत मांगते हुए नहीं सुनाई दे रहा. पुलिस ने कहा है कि जब तक इस बिचौलिए का नाम और आवाज़ का सैंपल नहीं दिया जाता, तब तक सही तथ्यों पर पहुंच पाना मुश्किल है. पुलिस वालों ने कहा है कि आगे एक्शन लेने के लिए एक्सपर्ट की सलाह ली जाएगी.”  

उत्तर प्रदेश भाजपा के प्रवक्ता डॉक्टर चंद्रमोहन ने इस मामले पर कहा है:

“हमारी सरकार भ्रष्टाचार को बिल्कुल सहन नहीं करती. ऑडियो क्लिप में किसी मंत्री का नाम नहीं लिया गया है. यह विपक्ष की साजिश हो सकती है. बातचीत भी स्पष्ट नहीं है.” 

‘इंडिया टुडे’ ने मंत्री को कॉन्टैक्ट करने की कई बार कोशिश की, लेकिन उन्होंने इस मामले पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है.

पहले भी ऑडियो क्लिप पर हो चुका बवाल

‘इंडिया टुडे’ की रिपोर्ट में बताया गया है कि इन महिला मंत्री पर पिछले साल नवंबर में भी सवाल उठ चुके हैं. तब उन्हें एक पुलिस ऑफिसर को डांटते हुए सुना गया था. उनके गुस्से की वजह थी पुलिस द्वारा एक बड़े बिल्डर ग्रुप के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर लेना. इसके बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंत्री को अपने सामने पेश होने के लिए कहा था. इन महिला मंत्री के प्राइवेट सेक्रेटरी को भी भ्रष्टाचार की शिकायत पर इस साल मार्च में हटा दिया गया था.

आपको बता दें कि नवंबर, 2019 में मंत्री स्वाति सिंह और पुलिस सीओ बीनू सिंह के बीच एक फ़ोन बातचीत की ऑडियो क्लिप सामने आई थी. इसमें वे अंसल ग्रुप के खिलाफ एफआईआर लिखने के लिए पुलिस अफसर को डांट रही थीं. 2017 में स्वाति को ‘बड़ा मंगल’ त्योहार पर प्रसाद के साथ 100-रुपए के नोट बांटते हुए कैमरा पर देखा गया था. मार्च 2017 में वे एक बीयर बार का उद्घाटन करने की वजह से सुर्ख़ियों में आई थीं. उस समय भी योगी आदित्यनाथ ने उन्हें पेश होने के लिए कहा था. उनके पति दयाशंकर सिंह भी भाजपा के नेता रहे हैं. 2016 में दयाशंकर को बसपा सुप्रीमो मायावती के खिलाफ अमर्यादित टिप्पणी करने की वजह से पार्टी से निकाल दिया गया था. बाद में भाजपा सरकार बनने के बाद दयाशंकर की पार्टी में वापसी हुई थी. स्वाति सिंह को मंत्री बना दिया गया था.

एक्टिविस्ट नूतन ठाकुर और उनके पति अमिताभ ठाकुर करीबन 500 सूचना अधिकार अर्ज़ी और 150 जनहित याचिका दायर कर चुके हैं. 2012 में नूतन ने  डीएलएफ और रॉबर्ट वाड्रा के बीच संदिग्ध रिश्तों को लेकर इलाहाबाद हाईकोर्ट के सामने याचिका लगाई थी. 2013 में उन्होंने आईएएस ऑफिसर दुर्गा शक्ति नागपाल को सस्पेंड किए जाने के खिलाफ याचिका दायर की. 2014 में समाजवादी पार्टी के नेता और राज्य के तत्कालीन माइनिंग मिनिस्टर गायत्री प्रसाद प्रजापति उनके निशाने पर आए थे. नूतन के उनके खिलाफ लोक आयुक्त के सामने ग़ैरकानूनी माइनिंग गतिविधियों की शिकायत की थी.

अमिताभ ठाकुर उत्तर प्रदेश के 10 जिलों में एसपी रह चुके हैं. 2015 में समाजवादी पार्टी के नेता मुलायम सिंह और उनके बीच की फ़ोन बातचीत की एक ऑडियो क्लिप की वजह से बहुत हंगामा हुआ था. इसमें मुलायम ने उन्हें “सुधर जाने” के लिए कहते हुए सुनाई दे रहे थे.


वीडियो देखें: मंत्री स्वाति सिंह का ऑडियो क्लिप वायरल, सीओ बीनू सिंह को धमकाया फिर योगी आदित्यनाथ ने क्लास लगा दी

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

ज्योतिरादित्य सिंधिया की दूसरी कोरोना जांच रिपोर्ट में क्या निकला?

पिछले दिनों सिंधिया और उनकी मां को कोरोना पॉजिटिव पाया गया था.

WHO ने कोरोना पर राहत देने वाली बात की तो दुनियाभर के वैज्ञानिकों ने कहा, “अरी मोरी मईया!”

पलटकर WHO से ही सबूत मांग रहे हैं लोग.

ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनकी मां को हुआ कोरोना इंफेक्शन, दिल्ली के अस्पताल में भर्ती

बीते कुछ दिनों से दोनों की तबीयत खराब थी.

बिहार: अमित शाह ने वर्चुअल रैली में तेजस्वी को घेरा, कहा-लालटेन राज से एलईडी युग में आ गए

तेजस्वी यादव ने रैली पर 144 करोड़ खर्च करने का आरोप लगाया.

गर्भवती ने 13 घंटे तक आठ अस्पतालों के चक्कर लगाए, किसी ने भर्ती नहीं किया, मौत हो गई

महिला की मौत के बाद अब जिला प्रशासन जांच की बात कर रहा है.

दिल्ली के सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में अब सिर्फ दिल्ली वालों का इलाज होगा

दिल्ली के बॉर्डर खोले जाने पर भी हुआ फैसला.

लद्दाख में तनाव: भारत-चीन सेना के कमांडरों की मीटिंग में क्या हुआ, विदेश मंत्रालय ने बताया

6 जून को दोनों देशों के सेना के कमांडरों की मीटिंग करीब 3 घंटे तक चली थी.

पहले से फंसी 69000 शिक्षक भर्ती में अब पता चला, रुमाल से हो रही थी नकल!

शुरू से विवादों में रही 69 हजार शिक्षक भर्ती में जुड़ा एक और विवाद

'निसर्ग' चक्रवात क्या है और ये कितना ख़तरनाक है?

'निसर्ग' नाम का मतलब भी बता रहे हैं.

कोरोना काल में क्रिकेट खेलने वाले मनोज तिवारी ‘आउट’

दिल्ली में हार के बाद बीजेपी का पहला बड़ा फैसला.