Submit your post

Follow Us

बिहार में दो पत्रकारों को स्कॉर्पियो से कुचल कर मार डाला गया है

रामनवमी का दिन देश के कई इलाकों में जुलूसों का दिन होता है. कभी-कभार इन जुलूसों में विवाद भी हो जाते हैं. लेकिन 25 मार्च, 2018 को रामनवमी के दिन हुए एक विवाद के बाद बिहार के दो पत्रकारों की जान चली गई. इन दोनों की मौत एक दुर्घटना में हुई, लेकिन बताया यही जा रहा है कि इसके पीछे हादसे से थोड़ी देर पहले हुआ एक विवाद था.

मारे गए पत्रकार नवीन निश्चल (दैनिक भास्कर) और विजय सिंह (पत्रिका) बतौर स्ट्रिंगर काम करते थे. 25 मार्च को रामनवमी के जुलूस के दौरान आरा के गडहनी में इनकी किसी बात पर पूर्व सरपंच के पति मुहम्मद हरसू से बहस हो गई. इसके बाद ये लोग बाइक से आरा के लिए निकल गए.

रास्ते में नहसी मोड़ के पास एक स्कॉर्पियो ने इन दोनों को टक्कर मार दी. हादसे में दोनों पत्रकारों की मौके पर मौत हो गई. ये स्कॉर्पियो हरसू की ही थी और उसमें हरसू का बेटा भी बैठा था. हादसे के बाद दोनों मौके से भाग गए. इसके बाद लोगों ने स्कॉर्पियो में आग लगा दी.

गांव वालों ने हादसे के बाद आरोपियों की गाड़ी में आग लगा दी थी. (फोटोःएएनआई)
गांव वालों ने हादसे के बाद आरोपियों की गाड़ी में आग लगा दी थी. (फोटोःएएनआई)

किसी पत्रकार के साथ ऐसा होने पर पहला शक इसी बात का होता है कि किसी खबर को दबाने या उसका बदला लेने के लिए ऐसा किया गया है. इस दिशा में जानने के लिए ‘दी लल्लनटॉप’ ने इंडिया टुडे के बिहार ब्यूरो चीफ सुजीत झा से बात की. उन्होंने हमें बताया,

”ये मामला किसी खबर से संबंधित नहीं लगता है. फिलहाल यही बात सामने आ रही है कि रामनवमी के दिन हुआ झगड़ा इसकी वजह है. इलाके में जो तनाव है, वो इस वजह से कि मरने वाले एक धर्म से थे, और जिन पर मर्डर का आरोप है, वो दूसरे धर्म से.”

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक हरसू पर छोटे-मोटे अपराधों के और इल्ज़ाम भी हैं. इस मामले में वो कितने दोषी हैं, जांच के बाद मालूम चलेगा. फिलहाल इतना तय है कि मर्डर की एफआईआर में हरसू का नाम दर्ज किया गया है.


ये भी पढ़ेंः

जिस ज़हर की वजह से लोगों ने नेपोलियन को भगवान मान लिया, वो पी रहे हैं बिहार के लोग

लालू को जेल भेजने वाले मामले की वो कहानी, जो किसी ने नहीं बताई होगी

कहानी उस चारा घोटाले की, जिसमें लालू यादव को अब तक की सबसे बड़ी सजा हुई है

अरिजीत शाश्वत का अरेस्ट न होना नहीं, ये है भागलपुर हिंसा की सबसे डरावनी बात

बिहार के इस हॉस्पिटल में ऐसा ऑपरेशन हुआ जो आपकी आंखें चौंधिया देगा

वीडियोः दिल्ली में सीलिंग और उसकी पॉलिटिक्स का पूरा कच्चा चिट्ठा

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

TRP स्कैम: FIR में इंडिया टुडे टीवी का नाम आने पर मुंबई पुलिस ने क्या कहा है?

TRP स्कैम: FIR में इंडिया टुडे टीवी का नाम आने पर मुंबई पुलिस ने क्या कहा है?

रिपब्लिक टीवी का आरोप है कि FIR में इंडिया टुडे टीवी का नाम आने पर एक्शन नहीं लिया गया.

IPL 2020: मयंक-राहुल के विकेट से नहीं, इन छह गेंदों से हार गया पंजाब

IPL 2020: मयंक-राहुल के विकेट से नहीं, इन छह गेंदों से हार गया पंजाब

सीजन बदला पर पंजाब की हालत नहीं.

मुंबई पुलिस का दावा, पैसे देकर TRP खरीदता है रिपब्लिक टीवी

मुंबई पुलिस का दावा, पैसे देकर TRP खरीदता है रिपब्लिक टीवी

रैकेट में दो और चैनलों के भी नाम हैं, उनके मालिक गिरफ्तार कर लिए गए है.

दो बार छह छ्क्के लगा चुका वह भारतीय, जिसे करोड़पति बनना रास ना आया

दो बार छह छ्क्के लगा चुका वह भारतीय, जिसे करोड़पति बनना रास ना आया

गणित के मास्टर भी हैं CSK को पीटने वाले राहुल त्रिपाठी.

आधी रात को क्यों जलाई थी हाथरस विक्टिम की बॉडी, यूपी सरकार ने अब बताया है

आधी रात को क्यों जलाई थी हाथरस विक्टिम की बॉडी, यूपी सरकार ने अब बताया है

साथ ही ये भी बताया कि 14 सितंबर से अब तक क्या-क्या किया.

कंफर्म हो गया, अकेले चुनाव लड़ेगी चिराग पासवान की पार्टी

कंफर्म हो गया, अकेले चुनाव लड़ेगी चिराग पासवान की पार्टी

क्या ये चिराग पासवान के लिए ज़मीन तैयार करने की रणनीति है?

शिक्षा मंत्रालय की गाइडलाइंस, बताया 15 अक्‍टूबर से किन शर्तों पर खुलेंगे स्कूल-कॉलेज

शिक्षा मंत्रालय की गाइडलाइंस, बताया 15 अक्‍टूबर से किन शर्तों पर खुलेंगे स्कूल-कॉलेज

स्टूडेंट्स, अभिभावकों की लिखित सहमति से ही स्कूल जा सकते हैं.

इस शर्त पर यूपी प्रशासन ने राहुल-प्रियंका को हाथरस जाने की अनुमति दी

इस शर्त पर यूपी प्रशासन ने राहुल-प्रियंका को हाथरस जाने की अनुमति दी

कथित गैंगरेप पीड़िता के परिवार से मिलने जा रहे हैं राहुल-प्रियंका.

हाथरस केस: एसपी और सीओ सस्पेंड, जानिए डीएम का क्या हुआ?

हाथरस केस: एसपी और सीओ सस्पेंड, जानिए डीएम का क्या हुआ?

सभी पक्ष-विपक्ष वालों का पॉलीग्राफी टेस्ट भी होगा.

हाथरस केस: यूपी पुलिस को किसी को भी गांव में जाने से रोकने का बहाना मिल गया है!

हाथरस केस: यूपी पुलिस को किसी को भी गांव में जाने से रोकने का बहाना मिल गया है!

खबर है कि राहुल गांधी और प्रियंका गांधी पीड़ित परिवार से मिलने जाने वाले हैं.