Submit your post

Follow Us

जिस वीडियो में भारत-चीन के सैनिक एक-दूसरे पर मुक्के बरसा रहे हैं, उसका सच क्या है?

जब लद्दाख में इंडियन आर्मी के लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह चीन के मेजर जनरल लिन लिउ के साथ बातचीत का दौर शुरू कर रहे थे, उसी वक्त सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा था. वीडियो, जिसमें भारत और चीन के सैनिक बिना किसी बड़े हथियार के, हाथ-पैर और छोटे-मोटे हथियारों से आपस में लड़ रहे हैं. कुछ-कुछ वैसे ही, जैसे गलवान में लड़े होंगे. करीब पांच मिनट का ये वीडियो वायरल हो रहा था.

‘इंडिया टुडे’ ने इस वीडियो की सच्चाई पता की, तो पता चला कि वीडियो सही है और नॉर्थ सिक्किम का है.

वीडियो की लोकेशन

‘इंडिया टुडे’ के डिफेंस जर्नलिस्ट शिव अरूर को मिली जानकारी के मुताबिक, वीडियो नॉर्थ सिक्किम के करीब 22 हज़ार फुट ऊंचे चोमो युमो पहाड़ के बेस का है. यहां इंटरनेशनल बॉर्डर है. यहां ये बात ध्यान रखने वाली है कि सिक्किम और तिब्बत के बीच का बॉर्डर एक निरूपित रेखा भर है, न कि कोई लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC).

Untitled Design (2)
सिक्किम के आस-पास की सीमा का नक्शा. (फोटो- India Today)

चोमो युमो के बारे में..

चोमो योमु भारतीय सेना के लिए कोई नई पोजिशन नहीं है. चोमो युमो नाकू ला से सिर्फ छह किमी दूर है. नाकू ला यानी वही जगह, जहां 9 मई को भारत-चीन के सैनिकों के बीच हिंसक झड़प हुई थी. गलवान में तो एक तरफ से 20-30 जवान ही इसमें शामिल थे. नाकू ला वाली झड़प में तो दोनों तरफ से मिलाकर करीब 150 जवान लड़ाई में शामिल थे. नाकू ला की इस झड़प से तीन दिन पहले पैंगोंग झील के पास भी दोनों देशों के सैनिकों के बीच झड़प हुई थी.

नए वीडियो में क्या दिख रहा है

जो वीडियो अब वायरल हो रहा है, उसमें दोनों तरफ से सैनिक ‘गो बैक’ चिल्लाते हुए एक-दूसरे से लड़ रहे हैं. जल्द ही लड़ाई बढ़ने लगती है. दोनों तरफ से वीडियोग्राफी कर रहे जवानों को लगातार कैमरा चालू रखने के लिए कहा जा रहा है.

वीडियो के एक हिस्से में भारत की ओर से कोई जवान चीनी सैनिक की ओर इशारा करते हुए कहता है –

“उसका मुंह देखना, गोलगप्पे खाएगा?”

इस बात को लेकर सोशल मीडिया पर काफी हंसी-ठिठोली चल रही है. लेकिन जब आप किसी भी सेना से जुड़े व्यक्ति से बात करेंगे, तो समझ पाएंगे कि इस तरह की झड़प हंसी की बात नहीं है.

एक तो इतनी मुश्किल जगहों पर तैनाती पहले ही जवानों के शरीर पर भारी पड़ रही होती है. ऊपर से इस तरह की झड़पें और भी बुरा असर डालती हैं. लेकिन लद्दाख से होते हुए इस तरह की झड़पों की खबरें अब अमूमन शांत रहने वाले नॉर्थ सिक्किम से भी आ रही हैं, जो कि चिंता बढ़ाने वाली बात है.


भारत-चीन विवाद को लेकर भारतीय सेना के पूर्व अधिकारी आपस में ही भिड़ गए

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

पतंजलि की 'कोरोना की दवा' पर आयुष मंत्रालय ने गैंग्स ऑफ़ वासेपुर वाली बात बोल दी

"बंद करवाओ पूरा का पूरा वासेपुर"

सरकार विदेशी कोचों की सैलरी क्यों काटना चाहती है?

वो भी तब जब अगले साल ओलंपिक है. सरकार का लॉजिक क्या है?

चीन के मंत्री के सामने भारत के विदेश मंत्री ने क्या-क्या कहा?

रूस, भारत और चीन (RIC) के विदेश मंत्रियों की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये बैठक हुई.

कैसे आती हैं ये सैटेलाइट तस्वीरें, जिन्होंने गलवान घाटी के हालात समझने में मदद की

लद्दाख में भारत-चीन के बीच हुई लड़ाई के बारे में सैटेलाइट तस्वीरों ने काफी कुछ बताया है.

बिहार: एक साल पुराने मर्डर केस में कोई एक्शन नहीं, परिवार ने शुरू किया जल सत्याग्रह

भोरे के व्यापारी रामाश्रय सिंह की हत्या हुई थी.

कोरोना पॉज़िटिव 60 साल के विधायक की मौत, एक महीने से अस्पताल में भर्ती थे

ममता बनर्जी ने ट्विटर पर बताया- वो तीन दशक से पार्टी में थे.

कोरियोग्राफर सरोज खान हॉस्पिटल में भर्ती, सांस लेने में दिक्कत हो रही थी

कोरोना टेस्ट भी करवाया गया.

गलवान घाटी में अपने सैनिकों के मारे जाने पर चीन ने क्या कहा?

भारत को आशंका है कि चीन के करीब 40 जवान मारे गए थे.

बस कंडक्टर 4 साल तक हाईवे पर ट्रक ड्राइवरों के साथ घूमे, डॉक्यूमेंट्री शूट की, अब बेस्ट फिल्म का अवॉर्ड मिला

अमर माईबाम ने डॉक्यूमेंट्री बनाई है – Highways of Life.

नक्सल प्रभावित क्षेत्र में बच्चों को IIT के लिए पढ़ाने वाले IPS पर बनी फिल्म, कहां रिलीज़ हो रही है?

जाने-माने निर्देशक प्रकाश झा ने बनाई है, 'परीक्षा-दी फाइनल टेस्ट'.