Submit your post

Follow Us

जम्मू-कश्मीर के सोपोर में आतंकी हमला, दो पुलिसवाले शहीद, तीन आम नागरिकों की गई जान

जम्मू कश्मीर के सोपोर में आतंकी हमला हुआ. ये हमला 12 जून की दोपहर करीब 12 बजे हुआ. इसमें दो पुलिसवाले शहीद हो गए. वहीं तीन नागरिकों की जान चली गई. डीजीपी दिलबाग सिंह ने इस हमले के पीछे आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा का हाथ बताया है. आईजी कश्मीर विजय कुमार ने भी मौका मुआयना किया. फिलहाल सुरक्षा बलों ने पूरे इलाके को घेर लिया है और सर्च ऑपरेशन जारी है.

अचानक की फायरिंग

सोपोर के अरमापोरा में मुख्य चौराहे के पर तैनात सुरक्षाबलों के जवानों पर आतंकियों ने अचानक फायरिंग शुरू कर दी. जवान जब तक कुछ समझ पाते या फिर अपनी पोजीशन ले पाते, आतंकियों की गोली का निशाना बन गए. हमले में 5 पुलिसवालों को गोली लगी जिनमें से दो शहीद हो गए. जबकि 3 पुलिसवाले घायल हैं. आतंकियों की गोली ने तीन आम नागरिकों की भी जान ले ली.

आजतक की एक खबर के मुताबिक शुरुआत में 4 लोगों के मारे जाने की खबर सामने आई थी, लेकिन बाद में यह संख्या 5 हो गई. मीडिया से बात करते हुए डीजीपी ने कहा था कि मृतकों में से दो नागरिक सब्जी बेचने का काम करते थे. डीजीपी ने इस आतंकी हमले की पीछे कुख्याल आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा का हाथ बताया. उन्होंने कहा कि हमले में जो पुलिसवाले घायल हुए हैं उन्हें इलाज के लिए अस्पताल भेजा गया है.

आतंकी हमले पर क्या बोलीं महबूबा मुफ्ती?

आजतक की एक रिपोर्ट के मुताबिक जम्मू-कश्मीर की पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती ने कहा कि समस्या का हल न दिल्ली की बंदूक से होगा और न ही जो वहां के जवानों ने बंदूक उठाई है उससे हल होगा. उन्होंने कहा कि हम ऐसे हमलों का विरोध करते हैं. ऐसा नहीं होना चाहिए. इससे जम्मू-कश्मीर का मसला हल नहीं होगा. मुफ्ती ने मीडिया को प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि इससे मसला और बिगड़ता है. जम्मू-कश्मीर के लोग बदनाम हो जाते हैं. दहशतगर्दी के नाम पर फिर और यहां ताकत का इस्तेमाल किया जाता है.

वहीं इस पूरे मामले पर जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट किया कि,

“सोपोर से बुरी खबर सामने आ रही है. इस तरह के हमलों की निंदा की जानी चाहिए. घायलों के लिए प्रार्थना और जो गुजर गए, उनके परिवार के प्रति संवेदना.”

2 जून को की थी बीजेपी नेता की हत्या

आतंकियों ने 2 जून की शाम कश्मीर के पुलवामा जिले में बीजेपी नेता की हत्या कर दी थी. त्राल में बीजेपी के पार्षद राकेश पंडिता को आतंकियों ने अपनी गोली का निशाना बनाया था. पंडिता इस हमले में बुरी तरह ज़ख्मी हो गए थे. अस्पताल पहुंचने के बाद उनकी मौत हो गई. पंडिता की पत्नी ने इस मामले की CBI जांच की मांग की थी. जुलाई 2020 से अब तक कश्मीर में 10 बीजेपी नेताओं की हत्या हो चुकी है. पिछले साल शुरू हुई इन हत्याओं के सिलसिले के बाद नेताओं की सिक्योरिटी को रिव्यू किया गया था. इसके बाद ज़्यादातर नेताओं को सुरक्षा दी गई साथ ही श्रीनगर में एक सुरक्षित घर भी दिया गया. लेकिन ऐसी घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही हैं.


कश्मीर में BJP नेता राकेश पंडिता की हत्या, पत्नी ने कहा-हत्यारों को गोली मार देनी चाहिए

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पंजाब चुनाव: अकाली दल और बसपा गठबंधन का ऐलान, कितनी सीटों पर लड़ेगी मायावती की पार्टी?

पंजाब के अलावा बाकी चुनाव भी साथ लड़ने की घोषणा.

TMC में घर वापसी करने वाले मुकुल रॉय ने 4 साल बाद बीजेपी छोड़ने का फैसला क्यों लिया?

मुकुल रॉय को बराबर में बिठाकर ममता बनर्जी किन गद्दारों पर भड़कीं?

लक्षद्वीप: किस एक बयान के बाद फिल्म निर्माता आयशा सुल्ताना पर राजद्रोह का केस हो गया?

पहले TV डिबेट में बोला, फिर फेसबुक पर पोस्ट लिखा.

कोरोना वैक्सीन लेने के बाद शरीर से सिक्के-चम्मच चिपकने के दावों में कितना सच?

क्या शरीर में वाकई चुंबकीय शक्ति पैदा हो जाती है?

पावर बैंक ऐप, जिसने 15 दिन में पैसे डबल करने का झांसा दे 4 महीने में 250 करोड़ उड़ा लिए

पैसा शेल कंपनियों में लगाते, फिर क्रिप्टोकरंसी बनाकर विदेश भेज देते थे.

भूटान के बाद अब नेपाल ने पतंजलि की कोरोनिल दवा बांटने पर रोक क्यों लगा दी?

नेपाल के अधिकारियों ने IMA के उस लेटर का भी हवाला दिया है, जिसमें कोरोनिल को लेकर रामदेव को चुनौती दी गई थी.

दक्षिण में बीजेपी की मुश्किलें बढ़ीं, कर्नाटक और केरल में टॉप नेता सवालों में क्यों हैं?

मामला इतना बढ़ गया कि बीजेपी के केंद्रीय नेतृत्व को दखल देना पड़ा है.

आसिफ को भीड़ ने पीटकर मार डाला तो आरोपियों की रिहाई के लिए महापंचायतें क्यों हो रही हैं?

करणी सेना के नेता धमकी दे रहे- जो भी हमें रोकेंगे, उन्हें ठोक देंगे.

तमिल नेता ने अमेज़न से कहा 'फैमिली मैन 2' को बंद करो, वरना...

अमेज़न प्राइम वीडियो की हेड को लेटर लिख दी है खुली चेतावनी.

सुवेंदु अधिकारी और उनके भाई के खिलाफ राहत सामग्री चोरी करने के आरोप में FIR

वेस्ट बंगाल पुलिस ने इस मामले में जांच शुरू कर दी है.