Submit your post

Follow Us

तालिबान ने बता ही दिया अफ़ग़ानिस्तान क्रिकेट टीम का भविष्य

अफ़ग़ानिस्तान पर तालिबान का राज है. राजधानी काबुल पर कब्जे के बाद से ही तालिबान की अफ़ग़ानिस्तान को चला रहा है. और काबुल में तालिबान के पहुंचने के साथ ही अफ़ग़ानिस्तान क्रिकेट के भविष्य पर चर्चाएं शुरू हो गई थीं. और अब इस मुद्दे पर तालिबान का पक्ष भी आ गया है. इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक तालिबान ने अफ़ग़ानिस्तान क्रिकेट टीम को खेलने की परमिशन दे रखी है.

इंडिया टुडे के मुताबिक तालिबान का कहना है कि अफ़ग़ानिस्तान ने उनके पिछले शासनकाल में ही क्रिकेट खेलना शुरू किया था. और वे आगे भी इस खेल को सपोर्ट करना जारी रखेंगे. तालिबान की पॉलिटिकल ऑफिस और नेगोसिएशन टीम के मेंबर अनस हक़्क़ानी ने अफ़ग़ानिस्तान नेशनल क्रिकेट टीम के सदस्यों के साथ की मीटिंग में यह बात की.

# Cricket को आगे बढ़ाएगा Taliban?

इस मीटिंग में नेशनल क्रिकेट टीम के कैप्टन हशमतुल्ला शाहिदी और क्रिकेट बोर्ड सेलेक्शन कमिटी के पूर्व चेयरमैन असदुल्ला और नूर अली ज़ारदान भी शामिल थे. इस मीटिंग के दौरान हक़्क़ानी ने क्रिकेट जगह को भरोसा दिलाया और क्रिकेटर्स की समस्याओं की तुरंत सुनवाई की बात भी की. इस मीटिंग के दौरान क्रिकेटर्स ने अनस हक़्क़ानी और उनके साथ आए लोगों को शुक्रिया कहा. और उम्मीद जताई कि उन्हें तालिबान से सपोर्ट मिलता रहेगा.

इससे पहले तालिबान की पॉलिटिकल टीम के एक और सदस्य सोहैल शाहीन ने भी क्रिकेट के मसले पर बात की थी. उन्होंने क्रिकेट टीम को सपोर्ट देते हुए कहा था कि उन्हें उम्मीद है कि वह अफ़ग़ानिस्तान और पाकिस्तान के बीच पूर्वनिर्धारित मैचों को देख पाएंगे. गौरतलब है कि अफ़ग़ानिस्तान और पाकिस्तान के बीच 1 से 5 सितंबर तक श्रीलंका में तीन वनडे मैच खेले जाने का प्रोग्राम है. इस मीटिंग से पहले तालिबान के सदस्यों ने पूर्व कप्तान असगर स्टनिकज़ई और नवरोज़ मंगल से मुलाकात की थी.

इस मीटिंग से पहले 19 अगस्त को एक तस्वीर सामने आई थी. इस तस्वीर में तालिबानी लड़ाके अफ़ग़ानिस्तान क्रिकेट बोर्ड के दफ्तर में दिख रहे थे. इस तस्वीर के जरिए दावा किया जा रहा था कि तालिबानी लड़ाकों ने बंदूकों के साथ दफ्तर पर कब्जा कर लिया है. उनके साथ पूर्व अफ़ग़ान स्पिनर अब्दुल्लाह मजारी भी दिखे थे. बताया गया था कि ये तस्वीर अफ़ग़ानिस्तान क्रिकेट बोर्ड (ACB) के कॉन्फ्रेंस रूम की है. और अब इस मीटिंग के बाद ऐसा लग रहा है कि तालिबान अफ़ग़ानिस्तान देश के साथ वहां की क्रिकेट को भी चलाने के मूड में है.


2011 के वर्ल्ड कप फाइनल में युवराज सिंह से पहले धोनी क्यों बल्लेबाज़ी करने उतरे थे?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

ट्रैवल हिस्ट्री नहीं होने के बाद भी डॉक्टर के ओमिक्रॉन से संक्रमित होने पर डॉक्टर्स क्या बोले?

ट्रैवल हिस्ट्री नहीं होने के बाद भी डॉक्टर के ओमिक्रॉन से संक्रमित होने पर डॉक्टर्स क्या बोले?

बेंगलुरु में 46 साल के एक डॉक्टर कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन से संक्रमित पाए गए हैं.

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

ये रिपोर्ट कान खड़े कर देगी.

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

इस्तीफे में पराग अग्रवाल के लिए क्या-क्या बोले जैक डोर्से?

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.