Submit your post

Follow Us

शोएब मलिक का क्या है 23 रुपये लीटर पेट्रोल, सूर्यवंशम और अटल जी कनेक्शन!

1982. पाकिस्तानी पंजाब का सियालकोट इलाका. एक फरवरी को एक लड़के का जन्म हुआ. उस वक्त किसी ने नहीं सोचा होगा कि ये लड़का लगभग 22 सालों तक पाकिस्तान क्रिकेट टीम की जर्सी में नेशनल क्रिकेट टीम की नुमाइंदगी करेगा. पाकिस्तान की कप्तानी करेगा. ढेर सारे विकेट्स लेगा. रन बनाएगा. मैच जिताएगा और पाकिस्तान के करोड़ों आवाम के दिलों में जगह बनाएगा. ज्यादा देर न करते हुए हम आपको बताते हैं कि आखिर सियालकोट का वो लड़का कौन है.

शोएब मलिक सलीम हुसैन. UAE और ओमान में खेले जा रहे T20 विश्वकप 2021 में शोएब मलिक पाकिस्तान क्रिकेट टीम में बतौर ऑल-राउंडर खेल रहे हैं. लेकिन शोएब को पाकिस्तान जर्सी में हर बार देखने पर मुंह से यही निकलता है. ‘यार ये अब भी खेल रहा है’

‘ये अब भी’ इसलिए क्योंकि शोएब मलिक को खेलते देख वाकई अच्छा लगता है. क्योंकि लगभग दो दशक से मलिक देश की सेवा कर रहे हैं.

बता दें कि शोएब मलिक ने 2021 T20 विश्वकप मेंअब तक तीन मुकाबले खेले हैं. जिनमें से दो मैचों में उनकी बैटिंग आई. और इन दो मैचों में उन्होंने 45 रन बनाए. न्यूज़ीलैंड के खिलाफ शोएब मलिक टीम को जीत दिलाकर लौटे. भले ही मलिक के बल्ले से कोई ऐसी पारी न निकली हो. जिसपर उनकी जी भरकर तारीफ की जाए. लेकिन मलिक को खेलते देख एकदम से नोस्टेलजिया हो जाता है. बोले तो पुराने दिन लौट आते हैं. अच्छा पुराने दिन से हम आपको ले चलते हैं थोड़ा पीछे. थोड़ा नहीं 22 साल पीछे यानी साल 1999 में. जब शोएब मलिक ने पाकिस्तान के लिए डेब्यू किया था. वो साल सियालकोट के इस लौंडे के लिए यादगार था. लेकिन 1999 में क्रिकेट के बाहर भी कुछ यादगार चीजें घटी. जिसे मुस्कुराते हुए चेहरे से याद की जा सकती है.

अटल बिहारी वाजपेयी:

तो चलिए शुरु करते हैं हिंदुस्तान के चहेते, प्यारे और अजीज प्रधानमंत्री रहे स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी से. साल 1999 में शोएब मलिक ने 14 अक्टूबर को वेस्टइंडीज़ के खिलाफ अपना वनडे डेब्यू किया था. उससे ठीक एक दिन पहले यानी 13 अक्टूबर को अटल बिहारी वाजपेयी लगातार दूसरे टर्म में भारत के प्रधानमंत्री बने थे. बता दें कि अटल बिहारी वाजपेयी 1998 से 2004 तक भारत के प्रधानमंत्री रहे.

नरेंद्र मोदी:

अब अटल जी से आगे बढ़ते हैं और याद आते हैं नरेंद्र मोदी. मौजूदा समय में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं. लेकिन मोदी जी साल 1999 में क्या कर रहे थे? बता दें कि नरेंद्र मोदी उस समय BJP पार्टी के जनरल सेक्रेटरी हुआ करते थे. और उस वक्त BJP सरकार के संसद में एक वोट से गिर जाने पर नरेंद्र मोदी रैलियों में सरकार गिराने के लिए वोट करने वालों को सज़ा देने की मांग किया करते थे.

Modi (4)
पीएम नरेंद्र मोदी.

पेट्रोल की कीमत:

ये दिलचस्प है. आज दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 108 रूपये लीटर को पार कर चुकी है. लेकिन शोएब मलिक के डेब्यू वाले साल में पेट्रोल के दाम 23 रुपये 80 पैसे हुआ करते थे. यानि आज की कीमत का एक चौथाई से भी कम. और अगर आज की कीमत से मिलाएं तो हम अपनी गाड़ी में 108 रुपये में चार लीटर से भी ज़्यादा पेट्रोल डलवा पाते.

1999 बॉलीवुड मूवीज़:

पेट्रोल की कीमत से आगे बढ़कर थोड़ी फिल्मों पर भी बात कर ली जाए. 1999 में एक से एक शानदार फिल्में आई. इन फिल्मों में वास्तव, दिल्लगी, बीवी नंबर 1, बादशाह और सूर्यवंशम ने लोगों के दिलों में जगह बनाई. ये फिल्में आज भी जब टीवी पर आती है. तो लोग बहुत मज़े से देखते हैं. जैसे शोएब मलिक को हमलोग आज भी क्रिकेट के मैदान पर खेलते हुए देखते हैं.

सूर्यावंशम.
सूर्यावंशम.

सानिया मिर्ज़ा क्या कर रही थीं?

अब आखिर में जाते-जाते…आपको ये भी बता देते हैं कि शोएब मलिक की बेगम सानिया मिर्ज़ा उस साल क्या कर रही थीं. 1999 में सानिया मिर्ज़ा भारतीय टीम में क्वालीफाई करने के लिए मुकाबले खेल रहीं थीं. तब तक सानिया ने जूनियर विम्बलडन भी नहीं खेला था. हालांकि, शोएब के डेब्यू के चार साल बाद सानिया ने डबल्स में जूनियर विंबलडन खेला और चैंपियनशिप जीती भी.

इस तरह से साल 1999 की ऐसी कितने ही बातें होंगी जो अब वैसी नहीं हैं. वक्त के साथ उनमें बहुत सा बदलाव आ गया. लेकिन शोएब मलिक जस के तस हैं. एकदम एवरग्रीन. कल भी बल्ला चल रहा था. आज भी बल्ला चल रहा है. 1999 में भी पाकिस्तान को जीत दिला रहे थे. और आज भी जलवे दिखा रहे हैं.


T20 वर्ल्ड कप: ब्लैक लाईव्स मैटर विवाद में क्विंटन डी कॉक ने अब क्या कहा? 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कांग्रेस को मौलाना तौकीर रजा का समर्थन, BJP ने हिंदुओं को धमकाने वाला वीडियो शेयर कर दिया

कांग्रेस को मौलाना तौकीर रजा का समर्थन, BJP ने हिंदुओं को धमकाने वाला वीडियो शेयर कर दिया

तौकीर रजा कांग्रेस पर आरोप लगा चुके हैं कि उसने मुसलमानों पर आतंकी का टैग लगाया.

देवास-एंट्रिक्स डील क्या थी, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने 'जहरीला फ्रॉड' कहा और मोदी सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़?

देवास-एंट्रिक्स डील क्या थी, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने 'जहरीला फ्रॉड' कहा और मोदी सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़?

जानिए UPA के समय हुई इस डील ने कैसे देश को शर्मसार किया.

'तुझे यहीं पिटना है क्या', हेट स्पीच पर सवाल से पत्रकार पर बुरी तरह भड़के यति नरसिंहानंद

'तुझे यहीं पिटना है क्या', हेट स्पीच पर सवाल से पत्रकार पर बुरी तरह भड़के यति नरसिंहानंद

बीबीसी का आरोप, टीम के साथ नरसिंहानंद के समर्थकों ने गाली-गलौज और धक्का-मुक्की की.

इंदौर: महिला का दावा, पति ने दोस्तों के साथ मिल गैंगरेप किया, प्राइवेट पार्ट को सिगरेट से दागा

इंदौर: महिला का दावा, पति ने दोस्तों के साथ मिल गैंगरेप किया, प्राइवेट पार्ट को सिगरेट से दागा

मुख्य आरोपी के साथ उसके दोस्तों को पुलिस ने पकड़ लिया है.

BJP और उत्तराखंड सरकार ने हरक सिंह रावत को अचानक क्यों निकाल दिया?

BJP और उत्तराखंड सरकार ने हरक सिंह रावत को अचानक क्यों निकाल दिया?

पार्टी के इस कदम से आहत हरक सिंह रावत मीडिया के सामने भावुक हो गए.

आपको फर्जी शेयर टिप्स देकर इस परिवार ने करोड़ों का मुनाफा कैसे पीट लिया?

आपको फर्जी शेयर टिप्स देकर इस परिवार ने करोड़ों का मुनाफा कैसे पीट लिया?

Bull Run कांड में सेबी का फैसला, एक ही परिवार के 6 लोगों पर लगा बैन.

आदिवासी, आंदोलनकारी, पत्रकार और ऐक्ट्रेस, जानिए यूपी में कांग्रेस ने किन चेहरों पर दांव लगाया है?

आदिवासी, आंदोलनकारी, पत्रकार और ऐक्ट्रेस, जानिए यूपी में कांग्रेस ने किन चेहरों पर दांव लगाया है?

कांग्रेस की पहली लिस्ट में 50 महिला उम्मीदवार शामिल हैं

इस तस्वीर ने यूपी चुनाव से पहले सपा गठबंधन को लेकर क्या सवाल खड़े कर दिए?

इस तस्वीर ने यूपी चुनाव से पहले सपा गठबंधन को लेकर क्या सवाल खड़े कर दिए?

तस्वीर गौर से देखेंगे तो समझ आ जाएगा, हम तो बता ही देंगे.

योगी सरकार को एक और झटका, मंत्री दारा सिंह चौहान ने भी साथ छोड़ा

योगी सरकार को एक और झटका, मंत्री दारा सिंह चौहान ने भी साथ छोड़ा

बीते 24 घंटों के भीतर यूपी के दो कैबिनेट मंत्रियों ने इस्तीफा दे दिया है.

ITR फाइलिंग की डेडलाइन बढ़ी है, लेकिन नाचने से पहले ये खबर पढ़ लो!

ITR फाइलिंग की डेडलाइन बढ़ी है, लेकिन नाचने से पहले ये खबर पढ़ लो!

सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेस ने असल में क्या कहा है?