Submit your post

Follow Us

सचिन वाझे का बयान - नौकरी के नाम पर महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री ने 2 करोड़ रुपये मांगे थे

एंटीलिया विस्फोटक केस में आरोपी सस्पेंड पुलिस अधिकारी सचिन वाझे पर ED यानी प्रवर्तन निदेशालय ने मनी लॉन्ड्रिंग का भी एक केस दर्ज किया है. इस केस के संबंध में वाझे ने ED को अपना बयान दिया है. बयान में वाझे ने महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्री अनिल देशमुख पर भ्रष्टाचार और जबरन वसूली जैसे गंभीर आरोप लगाए हैं. वाझे ने कहा कि अनिल देशमुख ने उनके एंटीलिया केस से बरी कराने के लिए 2 करोड़ रुपये की मांग की थी. ये पैसे NCP प्रमुख शरद पवार के नाम पर मांगे जा रहे थे. पवार, जो महाराष्ट्र के दिग्गज नेता हैं और वर्तमान में वहां सत्तारुढ़ महाविकास अघाड़ी के सबसे प्रभावशाली नेता माने जाते हैं.

इंडिया टुडे के मुताबिक़ वाझे ने ED से कहा कि शरद पवार ने मुंबई पुलिस फ़ोर्स में उनकी बहाली का विरोध किया था और अनिल देशमुख ने उनसे कहा था कि वो पवार को मना सकते हैं. वाझे का दावा है कि उन्होंने पैसे देने से मना कर दिया था.

क्या है पूरा मामला?

अनिल देशमुख के ख़िलाफ़ ED मनी लॉन्ड्रिंग केस की जांच कर रही है. मामले में दर्ज तमाम शिकायतों में कहा गया है कि देशमुख ने अपने परिवार के सदस्यों और करीबी सहयोगियों की मदद से कई कंपनियां बनाईं और अलग-अलग बिज़नेस चलाए. इंडिया टुडे के मुताबिक ED का दावा है कि वेयरहाउसिंग, लॉजिस्टिक्स और ट्रांसपोर्ट, रियल एस्टेट, होटल और रेस्तरां जैसे कई बिज़नेस चलाए जा रहे थे. इस मामले में ईडी द्वारा दायर चार्जशीट में 14 लोगों और कंपनियों के नाम हैं. इसमें सचिन वाझे, अनिल देशमुख के निजी सचिव संजीव पलांडे और निजी सहायक कुंदन शिंदे सहित का भी नाम है. लेकिन इसमें अनिल देशमुख का नाम नहीं है.

इंडिया टुडे रिपोर्टर विद्या की ख़बर के मुताबिक वाझे ने ED को बताया कि उन्हें 1,750 बार और रेस्टरां की एक लिस्ट दी गई थी. हर बार से 3-3 लाख रुपए लेने को बोला गया था. बयान के मुताबिक दिसंबर 2020 से फरवरी 2021 के बीच 4.7 करोड़ रुपये का कलेक्शन भी किया गया था. वाझे ने ED से कहा –

“जनवरी-2021 में अनिल देशमुख ने मुझे अपने निजी मोबाइल नंबर से मेरे व्हाट्सएप नंबर पर कॉल किया और मुझे कुंदन शिंदे नाम के एक आदमी को अब तक जमा किए गए नकद पैसे सौंपने का निर्देश दिया.”

ED द्वारा दायर की गई चार्जशीट में कई बार मालिकों के बयान हैं, जिन्होंने दावा किया था कि वाझे ऊपर के लोगों को पैसे देने के नाम पर वसूली करते थे. वहीं वाझे ने ED से कहा है कि वे तो अपनी नौकरी बचाने के लिए कलेक्शन करते थे.

सचिन वाझे ने ये भी कहा है कि जुलाई 2020 में तत्कालीन पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने करीब 10 DCP के ट्रांसफर का ऑर्डर दिया था. बाद में अनिल देशमुख और अनिल परब के कहने पर ये ऑर्डर वापस ले लिए गए. वाझे का कहना है कि इन पुलिसवालों से ट्रांसफर रुकवाने के बदले 40 करोड़ रुपए लिए गए थे. इन पैसों को दो अलग-अलग लोगों के ज़रिए अनिल देशमुख और अनिल परब को पहुंचाया गया था.


वीडियो-दी लल्लनटॉप शो: मुकेश अंबानी को धमकाने के पीछे सचिन वाजे की क्या साजिश थी? 

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

डेढ़ महीने पहले राजनीति छोड़ने का ऐलान करने वाले बाबुल सुप्रियो ने TMC जॉइन की

केंद्रीय मंत्री पद से हटाए जाने के बाद भाजपा छोड़ी थी.

मनोज पाटिल सुसाइड अटेम्प्ट केस: साहिल खान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की, कहा नकली स्टेरॉयड्स का रैकेट

कहानी में एक और किरदार सामने आया है, राज फौजदार.

राजस्थान में अब सब-इंस्पेक्टर परीक्षा का पेपर लीक, वॉट्सऐप बना जरिया

पुलिस ने बीकानेर, जयपुर, पाली और उदयपुर से 17 लोगों को गिरफ्तार किया है.

क्या पाकिस्तान यूपी चुनाव में आतंकी हमले कराने की तैयारी में है?

दिल्ली पुलिस ने 6 संदिग्धों को गिरफ्तार कर कई दावे किए हैं.

नसीरुद्दीन शाह ने योगी आदित्यनाथ के 'अब्बा जान' वाले बयान पर बड़ी बात कह दी है!

नसीर ने ये भी कहा कि कई मुस्लिम अपने पिता को बाबा भी कहते हैं.

AIMIM के पूर्व नेता पर FIR, दोस्त के साथ हलाला कराने की कोशिश का आरोप

पूर्व पत्नी ने लगाया रेप के प्रयास का आरोप, AIMIM नेता ने कहा- बेबुनियाद.

75 साल बाद नर्सिंग के पाठ्यक्रम में किए गए बड़े बदलाव हैं क्या?

ये बदलाव जनवरी 2022 से लागू होंगे.

पश्चिम बंगाल के पूर्व CM बुद्धदेव भट्टाचार्य की साली बेघर हैं, फुटपाथ पर सोती हैं

इरा बसु वायरोलॉजी में PhD हैं और 30 साल से भी ज्यादा समय तक पढ़ाया है.

'माओवादी' बताकर CRPF ने 8 आदिवासियों का एनकाउंटर किया था, 8 साल बाद ये 'एक भूल' साबित हुई है

यहां तक कि CRPF कान्स्टेबल की मौत भी फ्रेंडली फायर में हुई थी!

अक्षय कुमार की मां का निधन

अपने जन्मदिन से सिर्फ एक दिन पहले अक्षय को मिला गहरा सदमा.