Submit your post

Follow Us

हत्यारोपी पहलवान सुशील कुमार से मेडल्स और अवॉर्ड्स छीने जा सकते हैं, क्या कहते हैं नियम?

सुशील कुमार. दो बार के ओलंपिक मेडलिस्ट. वर्ल्ड चैंपियनशिप गोल्ड मेडलिस्ट. एशियन गेम्स में ब्रॉन्ज़. कॉमनवेल्थ में तीन गोल्ड मेडल. एशियन चैंपियनशिप में एक गोल्ड, एक सिल्वर और दो ब्रॉन्ज़. यानी कुल पांच गोल्ड, दो सिल्वर और चार ब्रॉन्ज़ मेडल. इसके अलावा अर्जुन अवॉर्ड, राजीव गांधी खेल रत्न अवॉर्ड और पद्म श्री. इतने तगड़े अवॉर्ड्स जीत चुके सुशील आजकल मैट से दूर पहलवानी करने को लेकर चर्चा में हैं.

सुशील पर युवा पहलवान सागर धनखड़ की हत्या का आरोप है. बीती 4 मई को छत्रसाल स्टेडियम कॉम्प्लेक्स में हुई मारपीट से लगी चोटों के चलते सागर की मृत्यु हो गई. इस हत्या के बाद सुशील काफी दिनों तक फरार रहे. लंबी फरारी के बाद उन्हें दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया. गिरफ्तारी के बाद उन्हें छह दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया. मामले की जांच जारी है. उम्मीद है कि जल्दी ही सच सामने आ जाएगा.

लेकिन तमाम लोगों के दिमाग में एक और सवाल भी है. क्या सुशील कुमार से उनके मेडल्स और अवॉर्ड्स वापस ले लिए जाएंगे? हाल ही में सागर धनखड़ के परिवार ने भी यह मांग की थी कि सुशील से सारे पुरस्कार वापस ले लिए जाएं. लेकिन क्या सच में ऐसा हो सकता है? चलिए देख लेते हैं.

मेडल वापसी का नियम नहीं

सबसे पहले बात ओलंपिक मेडल्स की. ओलंपिक में डोपिंग के अलावा किसी भी मामले में फंसने वाले एथलीट्स से मेडल वापस लेने का कोई नियम नहीं है. अब तक 33 एथलीट्स को सजा हो चुकी है, लेकिन किसी से भी मेडल वापस नहीं लिया गया. ऐसे मामलों में सबसे चर्चित मामला साउथ अफ्रीकी एथलीट ऑस्कर पिस्टोरियस का था. पिस्टोरियस को अपनी गर्लफ्रेंड की हत्या के मामले में सजा हुई थी. लेकिन उनके मेडल्स वापस नहीं लिए गए.

पद्म पुरस्कार वापसी पर नियम क्या कहते हैं?

ओलंपिक के साथ ही कॉमनवेल्थ गेम्स या फिर एशियन गेम्स में भी ऐसे मामलों में मेडल वापस लेने का कोई नियम नहीं है. मेडल्स के बाद अब बात सुशील को भारत सरकार से मिले अवॉर्ड्स की. नियमावली देखें तो सरकार ने ऐसे अवॉर्ड्स को वापस लेने के लिए कोई नियम नहीं बनाया है. हां, सरकार चाहे तो अवॉर्ड्स वापस जरूर ले सकती है. लेकिन इसके लिए कोई नियम नहीं है. यह पूरी तरह से सरकार के ऊपर है.

इस मामले में पद्म अवॉर्ड्स की स्कीम कहती है,

‘राष्ट्रपति किसी व्यक्ति को मिला अवॉर्ड निरस्त कर सकते हैं. इसके बाद उस व्यक्ति का नाम रजिस्टर से मिटा दिया जाएगा. उसे डेकोरेशन और सनद दोनों ही वापस करने होंगे. हालांकि राष्ट्रपति के पास डेकोरेशन और सनद वापस करने और कैंसिलेशन के ऑर्डर को वापस लेने का अधिकार है.’

इस मसले पर पूर्व होम सेक्रेटरी एन. गोपालास्वामी ने टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया कि सुशील कुमार के मामले में गृह मंत्रालय खुद संज्ञान लेकर उनके पद्म अवॉर्ड की वापसी पर विचार कर सकता है. लेकिन ऐसा लगता है कि मंत्रालय कोर्ट ऑर्डर का इंतजार करेगा.

पद्म पुरस्कारों की वापसी के लिए भले ही कोई सीधा सपाट नियम न हो, लेकिन इतना तो माना ही जाता है कि इसे पाने वाला व्यक्ति डेकोरम के हिसाब से चलेगा. सुशील कुमार के मामले में फिलहाल तो ये टूटता नजर आ रहा है. हालांकि सुशील पहलवान सागर धनखड़ की हत्या के गुनहगार हैं या नहीं, इसका फैसला अदालत ही करेगी.


मर्डर केस में गिरफ्तार सुशील कुमार को अब कौन सा बड़ा झटका लगा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

राजस्थान में एक और दलित को बुरी तरह पीटा गया, मंदिर चला गया था!

राजस्थान में एक और दलित को बुरी तरह पीटा गया, मंदिर चला गया था!

इस घटना का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल है.

मध्य प्रदेशः कॉलेज के गरबा कार्यक्रम में पहुंचे मुस्लिम युवक, पकड़कर जेल भेज दिए गए!

मध्य प्रदेशः कॉलेज के गरबा कार्यक्रम में पहुंचे मुस्लिम युवक, पकड़कर जेल भेज दिए गए!

गिरफ्तार लड़के के परिवारवाले न्याय की गुहार लगा रहे हैं.

पोर्ट से 21 हजार करोड़ की हेरोइन जब्त होने के बाद अडाणी ग्रुप ने अब ये बड़ा कदम उठाया है

पोर्ट से 21 हजार करोड़ की हेरोइन जब्त होने के बाद अडाणी ग्रुप ने अब ये बड़ा कदम उठाया है

मुंद्रा पोर्ट पर मिली थी करीब 2,988 किलो हेरोइन.

पेट्रोल-डीजल की महंगाई के लिए पेट्रोलियम राज्य मंत्री ने जो वजह बताई, वो गले नहीं उतरेगी!

पेट्रोल-डीजल की महंगाई के लिए पेट्रोलियम राज्य मंत्री ने जो वजह बताई, वो गले नहीं उतरेगी!

ये भी बोले, पेट्रोल-डीजल से महंगा है पीने का पानी.

एलिमिनेटर की हार से दुखी RCB फ़ैन्स को खुश कर जाएंगे ये आंकड़े!

एलिमिनेटर की हार से दुखी RCB फ़ैन्स को खुश कर जाएंगे ये आंकड़े!

ये परेशानी तो सुलझ गई.

RCB कप्तान के रूप में आखिरी बार क्या बोले विराट कोहली?

RCB कप्तान के रूप में आखिरी बार क्या बोले विराट कोहली?

'मेरे लिए वफादारी मायने रखती है.'

विराट कोहली जी, इस बहसबाज़ी की ज़रूरत नहीं थी

विराट कोहली जी, इस बहसबाज़ी की ज़रूरत नहीं थी

बेकार का बवाल.

सुनील नरेन ने तय कर दिया KKR का IPL जीतना?

सुनील नरेन ने तय कर दिया KKR का IPL जीतना?

स्टैट्स तो यही कहते हैं.

RCB के बिग शो ने कौन सा बड़ा काम कर दिया?

RCB के बिग शो ने कौन सा बड़ा काम कर दिया?

जो इस सीजन कोहली-ABD भी नहीं कर पाए.

मध्य प्रदेश: SDM को चोर की नसीहत- घर में पैसे नहीं थे तो लॉक नहीं करना था कलेक्टर

मध्य प्रदेश: SDM को चोर की नसीहत- घर में पैसे नहीं थे तो लॉक नहीं करना था कलेक्टर

देवास जिले में चोरों का कॉन्फिडेंस आसमान छू रहा है!