Submit your post

Follow Us

सुशांत राजपूत मामले में परिवार के वकील ने एम्स की रिपोर्ट पर बड़ी बात कह दी है

सुशांत सिंह राजपूत मामले में उनके परिवार के वकील ने एम्स की रिपोर्ट पर ही सवाल उठा दिए हैं. उन्होंने सीबीआई डायरेक्टर से रिक्वेस्ट की है कि वह नई फॉरेंसिक टीम बनाकर दोबारा मामले की जांच कराएं. सुशांत के परिवार के वकील ने और क्या कहा है, आइए जानते हैं –

ट्वीट करके जताई नाराजगी

सुशांत राजपूत के परिवार के वकील विकास सिंह ने एम्स की रिपोर्ट को अधूरा बताया. उन्होंने कहा कि टीम ने सुशांत की बॉडी की वास्तविक जांच न करके फोटोग्राफ्स पर भरोसा किया. एडवोकेट विकास सिंह ने ट्वीट करके कहा,

‘एम्स की रिपोर्ट से काफी दुख हुआ. सीबीआई डायरेक्टर से नई फॉरेंसिक टीम गठिन करने का अनुरोध करने जा रहा हूं. एम्स की टीम बॉडी की गैरमौजूदगी में ऐसे निर्णायक रिपोर्ट कैसे दे सकती है? वो भी कूपर हॉस्पीटल की उस बेकार पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के आधार पर, जिसमें मौत का समय तक दर्ज नहीं किया गया.’

Highly perturbed with AIIMS report. Going to request CBI Director to constitute a fresh Forensic team . How could AIIMS team give a conclusive report in the absence of the body,that too on such shoddy post mortem done by Cooper hospital wherein time of death also not mentioned .

— Vikas Singh (@vikassinghSrAdv) October 4, 2020

इससे पहले, विकास सिंह ने कहा था, ‘एम्स की टीम का हिस्सा रहे एक डॉक्टर ने मुझे काफी समय पहले ही बताया था कि मेरी तरफ से भेजे गए फोटो से यह 200 फीसदी स्पष्ट है कि सुशांत की मौत गला दबाने से हुई है, न की उन्होंने खुदकुशी की.’

एम्स की रिपोर्ट में क्या था?

एम्स की फॉरेंसिक टीम ने 29 सितंबर को सीबीआई को सौंपी रिपोर्ट में कहा था कि सुशांत की मौत रस्सी पर लटकने की वजह से हुई थी, और ये खुदकुशी का मामला है. रिपोर्ट में कहा गया था कि सुशांत के शरीर पर लटकने के अलावा और कोई चोट नहीं मिली. कोई नशीले तत्वों की मौजूदगी भी नहीं पाई गई. इस तरह रिपोर्ट में गला दबाकर हत्या या फिर जहर देकर मारने जैसी आशंकाओं को दरकिनार किया गया था.

एम्स के लीड फॉरेंसिंक इन्वेस्टिगेटर ने कहा – ये आत्महत्या है

बाद में, इंडिया टुडे से बात करते हुए सुशांत की मौत की जांच करने वाली फॉरेंसिक टीम के हेड डॉ. सुधीर गुप्ता ने कहा था, “हमें भी शुरुआत में सुशांत सिंह मामले में आशंकाएं थीं. हमने हर तरह की शंका को दिमाग में रखकर जांच की. अब हमें अब इसमें किसी तरह की शंका नहीं है कि यह आत्महत्या है. जांच करने वाले बोर्ड में एम्स के 7 सीनियर हैं. सभी डॉक्टरों का मानना है कि सुशांत सिंह की मौत आत्महत्या है न कि मर्डर.”


वीडियो – AIIMS में हुए सुशांत सिंह राजपूत के पोस्टमॉर्टम में अब क्या बात सामने निकलकर आई है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

डेढ़ महीने पहले राजनीति छोड़ने का ऐलान करने वाले बाबुल सुप्रियो ने TMC जॉइन की

डेढ़ महीने पहले राजनीति छोड़ने का ऐलान करने वाले बाबुल सुप्रियो ने TMC जॉइन की

केंद्रीय मंत्री पद से हटाए जाने के बाद भाजपा छोड़ी थी.

मनोज पाटिल सुसाइड अटेम्प्ट केस: साहिल खान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की, कहा नकली स्टेरॉयड्स का रैकेट

मनोज पाटिल सुसाइड अटेम्प्ट केस: साहिल खान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की, कहा नकली स्टेरॉयड्स का रैकेट

कहानी में एक और किरदार सामने आया है, राज फौजदार.

राजस्थान में अब सब-इंस्पेक्टर परीक्षा का पेपर लीक, वॉट्सऐप बना जरिया

राजस्थान में अब सब-इंस्पेक्टर परीक्षा का पेपर लीक, वॉट्सऐप बना जरिया

पुलिस ने बीकानेर, जयपुर, पाली और उदयपुर से 17 लोगों को गिरफ्तार किया है.

क्या पाकिस्तान यूपी चुनाव में आतंकी हमले कराने की तैयारी में है?

क्या पाकिस्तान यूपी चुनाव में आतंकी हमले कराने की तैयारी में है?

दिल्ली पुलिस ने 6 संदिग्धों को गिरफ्तार कर कई दावे किए हैं.

नसीरुद्दीन शाह ने योगी आदित्यनाथ के 'अब्बा जान' वाले बयान पर बड़ी बात कह दी है!

नसीरुद्दीन शाह ने योगी आदित्यनाथ के 'अब्बा जान' वाले बयान पर बड़ी बात कह दी है!

नसीर ने ये भी कहा कि कई मुस्लिम अपने पिता को बाबा भी कहते हैं.

AIMIM के पूर्व नेता पर FIR, दोस्त के साथ हलाला कराने की कोशिश का आरोप

AIMIM के पूर्व नेता पर FIR, दोस्त के साथ हलाला कराने की कोशिश का आरोप

पूर्व पत्नी ने लगाया रेप के प्रयास का आरोप, AIMIM नेता ने कहा- बेबुनियाद.

75 साल बाद नर्सिंग के पाठ्यक्रम में किए गए बड़े बदलाव हैं क्या?

75 साल बाद नर्सिंग के पाठ्यक्रम में किए गए बड़े बदलाव हैं क्या?

ये बदलाव जनवरी 2022 से लागू होंगे.

पश्चिम बंगाल के पूर्व CM बुद्धदेव भट्टाचार्य की साली बेघर हैं, फुटपाथ पर सोती हैं

पश्चिम बंगाल के पूर्व CM बुद्धदेव भट्टाचार्य की साली बेघर हैं, फुटपाथ पर सोती हैं

इरा बसु वायरोलॉजी में PhD हैं और 30 साल से भी ज्यादा समय तक पढ़ाया है.

'माओवादी' बताकर CRPF ने 8 आदिवासियों का एनकाउंटर किया था, 8 साल बाद ये 'एक भूल' साबित हुई है

'माओवादी' बताकर CRPF ने 8 आदिवासियों का एनकाउंटर किया था, 8 साल बाद ये 'एक भूल' साबित हुई है

यहां तक कि CRPF कान्स्टेबल की मौत भी फ्रेंडली फायर में हुई थी!

अक्षय कुमार की मां का निधन

अक्षय कुमार की मां का निधन

अपने जन्मदिन से सिर्फ एक दिन पहले अक्षय को मिला गहरा सदमा.