Submit your post

Follow Us

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बारे में एम्स की रिपोर्ट से एक बड़ा खुलासा हुआ है

सुशांत सिंह राजपूत की मौत को लेकर ये बहस चलती रही है कि ये आत्महत्या है या हत्या. सुशांत का परिवार इसे मर्डर बता रहा है. शुरुआती जांच में मुंबई पुलिस ने इसे सुसाइड माना था. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में भी मौत की वजह फांसी के कारण दम घुटना बताया गया था. अब एम्स की रिपोर्ट भी आ गई है. इसमें कहा गया है कि सुशांत के शरीर में किसी तरह का जहर नहीं मिला है.

सूत्रों का कहना है कि इस रिपोर्ट से साफ हो गया है कि सुशांत को जहर नहीं दिया गया था. ये रिपोर्ट विसरा जांच के आधार पर तैयार की गई है. बता दें कि पोस्टमॉर्टम के दौरान बॉडी से विसरा यानी किडनी, लिवर, दिल, पेट के अंगों के सैंपल लेकर रख लिए जाते हैं. इनकी केमिकल जांच करके देखा जाता है कि मौत की वजह क्या थी.

सीबीआई की ओर से हालांकि सोमवार को कहा गया था कि वह अब तक मिले सभी सबूतों को देखने के बाद ही किसी नतीजे पर पहुंचेगी. सीबीआई ने कहा था,

“हम इस पूरे मामले की प्रोफेशनल तरीके से जांच कर रहे हैं. किसी भी पहलू को अभी खारिज नहीं किया गया है.”

सुशांत का शव 14 जून को अपने बांद्रा स्थित फ्लैट में पंखे से लटका मिला था। मुंबई के कूपर अस्पताल के डॉक्टरों ने उनका पोस्टमॉर्टम किया था. रिपोर्ट में सांस रुकने से मौत की बात कही गई थी. इस पर सुशांत के परिवारवालों ने सवाल उठाए तो एम्स के डॉ. सुधीर गुप्ता के नेतृत्व में 5 डॉक्टरों की टीम बनाई गई. कमिटी ने विसरा जांच करके सोमवार को अपनी रिपोर्ट सीबीआई के साथ शेयर की. सूत्रों के मुताबिक, सुशांत के विसरा में डॉक्टरों को किसी तरह का ऑर्गेनिक जहर नहीं मिला है.

आजतक की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि एम्स के डॉक्टरों ने सुशांत के विसरा के 20% हिस्से की जांच के आधार पर ये रिपोर्ट तैयार की है. ऐसा इसलिए कि मुंबई पुलिस ने सुशांत के 80 फीसदी विसरा को अपनी जांच में इस्तेमाल कर लिया था।

मीडिया रिपोर्ट्स में सूत्रों के हवाले से दावा किया गया है कि एम्स की रिपोर्ट में मुंबई के कूपर हॉस्पिटल के डॉक्टर्स को क्लीन चिट देने की बात नहीं है. सुशांत का पोस्टमॉर्टम करने वाले इस अस्पताल के डॉक्टरों की रिपोर्ट पर कई सवाल उठे थे. रिपोर्ट में सुशांत के गले पर दिख रहे निशान का जिक्र नहीं था. मौत की टाइमिंग के बारे में भी कुछ नहीं कहा गया था.

सुशांत के परिवार के वकील विकास सिंह ने कुछ समय पहले दावा किया था कि एम्स की टीम के डॉक्टर ने मुझे पहले ही बता दिया था कि मैंने जो फ़ोटो उन्हें भेजी थीं, वो 200 फीसद बताती है कि यह आत्महत्या नहीं है. गला घोंटने से मौत हुई है. हालांकि डॉ. सुधीर ने विकास सिंह के इन दावों को ‘गलत’ बताया था. इंडिया टुडे से बातचीत में उन्होंने कहा था कि हम सिर्फ किसी एक निशान और क्राइम सीन के आधार पर हत्या या आत्महत्या के नतीजे पर नहीं पहुंचते. जांच अभी जारी है.


विडियो- रिया के भाई ने बताया, सुशांत को ड्रग की सप्लाई कैसे होती थी

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह नहीं रहे, पीएम मोदी ने कहा- "बातें याद रहेंगी"

जसवंत सिंह अटल सरकार के कद्दावर मंत्रियों में से थे.

IPL2020 के जरिए टीम इंडिया में आएगा फाजिल्का का ये लड़का?

सबकी उम्मीदें शुभमन गिल से लगी है.

आप दीपिका और रकुल प्रीत में उलझे रहे और राजस्थान में इतना बड़ा कांड हो गया!

दो दिन से बवाल चल रहा है.

मोदी सरकार ने भ्रष्टाचार रोकने वाले इस क़ानून को जरूरी बनाने की बात से पलटी मार ली

और यह जानकारी ख़ुद सरकार ने दी है.

किसान कर्फ्यू से पहले किसानों ने कहां-कहां ट्रेन रोक दी है?

कई ट्रेनों को कैंसिल किया गया, कई के रूट बदले गए.

केंद्रीय मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोविड-19 से निधन

दिल्ली के एम्स में उनका इलाज चल रहा था.

धोनी का वर्ल्ड कप जिताने वाला सिक्सर याद है! वो अब स्टेडियम में अमर होने वाला है

भारत में किसी खिलाड़ी को जो मुकाम हासिल नहीं हुआ, वो अब धोनी को मिलने वाला है.

अंतरिक्ष में भी लद्दाख जैसी हरकतें कर रहा है चीन

भारत के सैटेलाइट पर है ख़तरा!

चुनाव लड़ने के लिए गुप्तेश्वर पांडे ने दूसरी बार पुलिस सेवा से रिटायरमेंट ले ली है

2009 में भी गुप्तेश्वर पांडे ने वीआरएस लिया था, पर तब बीजेपी ने टिकट नहीं दिया था.

दिल्ली दंगे के लिए पुलिस ने अब इस ग्रुप को जिम्मेदार ठहराया है

चार्जशीट में दिल्ली पुलिस ने और क्या कहा है?