Submit your post

Follow Us

एंटी-CAA पोस्टर केसः सुप्रीम कोर्ट ने पहली सुनवाई में क्या कहा?

सुप्रीम कोर्ट में गुरुवार को उत्तर प्रदेश सरकार हाज़िर थी. मामला था- लखनऊ में CAA विरोधियों के पोस्टर लगाने का. इलाहाबाद हाईकोर्ट ने पोस्टर हटाने के लिए कहा था. अब सुप्रीम कोर्ट ने भी कह दिया है कि वो हाईकोर्ट के आदेश पर स्टे नहीं लगाएगा. कोर्ट ने कहा मामले को तीन सदस्यों की बेंच को भेज दिया है. कोर्ट ने यूपी सरकार से ये भी पूछा कि किस कानून के तहत उन्होंने लोगों की निजी जानकारी को पोस्टर में शेयर करने का फैसला किया.

दिसंबर में लखनऊ में एंटी-CAA प्रोटेस्ट में हिंसा हुई थी. सरकार ने हिंसा करने वाले 57 लोगों के नाम और पोस्टर वाले होर्डिंग लखनऊ की सड़क पर लगा दिए. लिखा कि- हिंसक प्रोटेस्ट में हुए नुकसान की भरपाई इन्हीं लोगों से की जाएगी. इलाहाबाद हाईकोर्ट ने मामले पर स्वतः संज्ञान लेते हुए पोस्टर हटाने के लिए कहा था. इसी आदेश पर स्टे लगवाने के लिए यूपी सरकार सुप्रीम कोर्ट पहुंची है.

इलाहाबाद हाईकोर्ट पहले ही यूपी सरकार को ये पोस्टर हटाने के लिए कह चुका है. हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस गोविंद माथुर और जस्टिस रमेश सिन्हा की बेंच ने इस पर सुनवाई की. बेंच ने कहा था-

“इस तरह सरकार की तरफ से महज आरोपों के आधार पर लोगों के पोस्टर लगाकर उनको अपमानित करना ठीक नहीं है. साथ ही यह तो लोगों के निजता के अधिकार का हनन करने वाली बात भी है. सरकार की तरफ से ऐसा कोई काम नहीं किया जाना चाहिए, जिससे किसी को ठेस पहुंचे. ऐसे पोस्टर लगाना तो सरकार के लिए भी गलत बात है और नागरिक के लिए भी.”

पोस्टर लगाने की दो वजहें थीं

पहली– इन लोगों की पब्लिक नेमिंग-शेमिंग करना. सरकार चाहती है कि सबको पता चले कि ये ही लोग हैं, जिन्होंने उत्पात मचाया था. इसमें शहर के कई जाने-माने लोगों के भी नाम हैं. मसलन- कांग्रेस की कार्यकर्ता सदफ ज़फर, पूर्व IPS ऑफिसर एसआर दारापुरी, इस्लामिक स्कॉलर कल्बे सादिक के बेटे सिबतैन सादिक.

दूसरी वजह– हज़रतगंज में लगी होर्डिंग पर कुल 28 लोगों के नाम हैं. ठाकुरगंज वाली होर्डिंग पर 10, हसनगंज में 13 और कैसरगंज में छह लोगों के नाम हैं. सारे होर्डिंग मिलाकर कुल 57 लोगों के नाम हैं. इन 57 लोगों से कुल मिलाकर करीब 1.55 करोड़ रुपए वसूल किए जाएंगे. प्रोटेस्ट के दौरान हुए सरकारी नुकसान के बराबर का अमाउंट.


इलाहाबाद हाईकोर्ट ने लखनऊ में CAA के खिलाफ प्रदर्शन करने वालों के पोस्टर लगाने पर क्या कहा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

सात मुख्यमंत्रियों और सोनिया गांधी के बीच मीटिंग में JEE-NEET को लेकर क्या बात हुई

सरकार कह रही– छात्र तैयार, लेकिन सोशल मीडिया पर कुछ अलग तस्वीर दिख रही है.

नीना गुप्ता अपने नए गाने में पूछ रही हैं, 'आंटी किसको बोला बे?'

मसाबा पर बनी वेब सीरीज़ में दिखेगी मां-बेटी की केमिस्ट्री

यूपी में फिर से पूरी तरह लॉकडाउन लगाने को लेकर हाईकोर्ट ने बड़ी बात कह दी है

कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर कोर्ट ने चिंता जताई.

EMI की ब्याज माफी पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा, RBI के पीछे नहीं छिप सकती सरकार

यहां जानिए, सरकार की किस बात को लेकर भड़क गया सुप्रीम कोर्ट

जामताड़ा का नया ई-सिम फ़्रॉड मिनटों में बैंक खाते के तोते उड़ा सकता है; इससे बचने का यही उपाय है

फ़्रॉडियों ने ऑनलाइन स्कैम का नया तरीका निकाला है; सावधानी हटी, दुर्घटना घटी

छात्रों के साथ-साथ अब सेलेब्स भी कर रहे हैं JEE-NEET परीक्षा स्थगित करने की मांग

सोशल मीडिया पर बहस जारी है.

लद्दाख में चीन की चुनौती से निपटने के लिए भारत ने बड़ा कदम उठाया है

चीन सीमा के पास ऊंचाई वाले इलाके में भारत ने तैयारी तेज की.

पेंशन बांटने आए डाकिया से गांव के 102 लोग कोरोना संक्रमित हो गए!

तेलंगाना के उस जिले में अब मेगा टेस्टिंग और कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग की जा रही है.

कोरोना काल में गणेश विसर्जन और मोहर्रम को लेकर योगी सरकार सख़्त मूड में है

धार्मिक कार्यक्रमों में भीड़ पर पाबंदी 30 सितंबर तक बढ़ा दी गई है.

RSS के निशाने पर आमिर खान, 'पांचजन्य' ने खूब खरी-खोटी सुनाई है

आमिर खान किस बात पर ट्रोल हो रहे हैं?