Submit your post

Follow Us

सुनील गावस्कर ने बताई अपने बेटे का नाम वेस्ट इंडीज़ के दिग्गज पर रखने की वजह

सुनील गावस्कर. असली लिटिल मास्टर के नाम से मशहूर गावस्कर दुनिया के बेस्ट बल्लेबाजों में से एक माने जाते हैं. गावस्कर टेस्ट क्रिकेट में 10,000 रन बनाने वाले पहले बल्लेबाज थे. दुनिया के कई बल्लेबाजों को प्रेरित करने वाले गावस्कर खुद वेस्ट इंडीज़ के ग्रेट रोहन कन्हाई से बेहद प्रभावित थे. गावस्कर ने अब उस घटना का जिक्र किया है, जिसके बाद वह रोहन से इतने प्रभावित हुए कि अपने बेटे का नाम ही उनके नाम पर रख लिया.

गावस्कर ने बताया कि 1971 की अपनी डेब्यू सीरीज में वह बैटिंग कर रहे थे.  जब वह सेंचुरी के करीब थे तभी उन्होंने एक रिस्की शॉट खेला. ये देख कन्हाई चलकर उनके पास आए और कुछ ऐसा बोल गए जिस पर गावस्कर को आज भी भरोसा नहीं होता. गावस्कर ने गौरव कपूर के साथ हुई बातचीत के दौरान कहा,

‘अपनी डेब्यू सीरीज के दौरान अगर मैं कोई खराब शॉट खेलता, तो वह मुझे क्रॉस करते हुए विकेटकीपर से बचकर मेरे कान में कहते- ध्यान से! तुम सेंचुरी नहीं मारना चाहते क्या? समस्या क्या है तुम्हारी? वह विरोधी टीम में थे, मुझे स्लेज नहीं कर थे बल्कि चाहते थे कि मैं सेंचुरी मारूं. अविश्वसनीय!’

गावस्कर ने इस सीरीज में तीन सेंचुरी और एक डबल सेंचुरी मारी थी. यह दौरा उनके लिए बेहद सफल रहा था. गावस्कर ने इस टेस्ट सीरीज में 774 रन बनाए थे. हालांकि उनके लिए इस सीरीज का हासिल सिर्फ वर्ल्ड रिकॉर्ड डेब्यू ही नहीं था, उन्होंने इस टूर पर कन्हाई की दोस्ती भी हासिल की. बाद में दोनों बेहद करीबी दोस्त बने. यहां तक कि गावस्कर ने अपने बेटे का नाम भी रोहन रखा. गावस्कर ने इस बारे में कहा,

‘बल्लेबाजी के अलावा मैं रोहन कन्हाई की इतनी इज्जत इसलिए भी करता हूं क्योंकि वह हमेशा सीक्रेट रूप से मेरा हौसला बढ़ाते थे. अफ्रीका और भारत से त्रिनिदाद और गुयाना गए लोगों में हमेशा ही ये बात रही है. फील्ड के बाद वह उन अच्छे लोगों में से एक थे जिनसे मैं परिचित हूं. उनके नाम पर अपने बेटे का नाम रखने में मुझे दिमाग नहीं लगाना पड़ा.’

बता दें कि सुनील गावस्कर के बेटे रोहन गावस्कर भी क्रिकेटर रह चुके हैं. उन्होंने भारत के लिए कुल 11 वनडे खेले थे. रोहन ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में लगभग सात हजार रन बनाए हैं.


किस्सा अंबर रॉय का, जिन्होंने 15 साल की उम्र में फर्स्ट क्लास डेब्यू किया था

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

बिहार: अमित शाह ने वर्चुअल रैली में तेजस्वी को घेरा, कहा-लालटेन राज से एलईडी युग में आ गए

तेजस्वी यादव ने रैली पर 144 करोड़ खर्च करने का आरोप लगाया.

गर्भवती ने 13 घंटे तक आठ अस्पतालों के चक्कर लगाए, किसी ने भर्ती नहीं किया, मौत हो गई

महिला की मौत के बाद अब जिला प्रशासन जांच की बात कर रहा है.

दिल्ली के सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में अब सिर्फ दिल्ली वालों का इलाज होगा

दिल्ली के बॉर्डर खोले जाने पर भी हुआ फैसला.

लद्दाख में तनाव: भारत-चीन सेना के कमांडरों की मीटिंग में क्या हुआ, विदेश मंत्रालय ने बताया

6 जून को दोनों देशों के सेना के कमांडरों की मीटिंग करीब 3 घंटे तक चली थी.

पहले से फंसी 69000 शिक्षक भर्ती में अब पता चला, रुमाल से हो रही थी नकल!

शुरू से विवादों में रही 69 हजार शिक्षक भर्ती में जुड़ा एक और विवाद

'निसर्ग' चक्रवात क्या है और ये कितना ख़तरनाक है?

'निसर्ग' नाम का मतलब भी बता रहे हैं.

कोरोना काल में क्रिकेट खेलने वाले मनोज तिवारी ‘आउट’

दिल्ली में हार के बाद बीजेपी का पहला बड़ा फैसला.

1 जून से लॉकडाउन को लेकर क्या नियम हैं? जानिए इससे जुड़े सवालों के जवाब

सरकार ने कहा कि यह 'अनलॉक' करने का पहला कदम है.

3740 श्रमिक ट्रेनों में से 40 प्रतिशत ट्रेनें लेट रहीं, रेलवे ने बताई वजह

औसतन एक श्रमिक ट्रेन 8 घंटे लेट हुई.

कंटेनमेंट ज़ोन में लॉकडाउन 30 जून तक बढ़ाया गया, बाकी इलाकों में छूट की गाइडलाइंस जानें

गृह मंत्रालय ने कंटेनमेंट ज़ोन के बाहर चरणबद्ध छूट को लेकर गाइडलाइंस जारी की हैं.