Submit your post

Follow Us

अब मथुरा की कृष्ण जन्मभूमि का मामला अदालत पहुंच गया है

उत्तर प्रदेश के मथुरा में श्रीकृष्ण जन्मभूमि परिसर है. यहां भव्य मंदिर बना है. मंदिर से लगी हुई है ईदगाह मस्जिद. इसी वजह से इस पूरे परिसर को लेकर एक लंबा विवाद चला आ रहा है. इसी से जुड़ी ख़बर है.

मथुरा की अदालत में 26 सितंबर को एक याचिका दायर की गई है. श्रीकृष्ण विराजमान के नाम से. याचिका में 13.37 एकड़ की कृष्ण जन्मभूमि के स्वामित्व की मांग की गई है. साथ ही शाही ईदगाह मस्जिद को हटाने की मांग की गई है. याचिका में कहा गया है कि जिस जगह पर आज ईदगाह मस्जिद खड़ी है, वही जगह असल में कभी कारागार हुआ करती थी, जहां भगवान कृष्ण का जन्म हुआ था. ये याचिका भगवान श्रीकृष्ण की भक्त रंजना अग्निहोत्री और छह अन्य भक्तों की तरफ से लगाई गई है. इनकी तरफ से पेश होने वाले वकील हैं- हरिशंकर जैन और विष्णु जैन. पूरे मामले में दूसरा पक्ष है- यूपी सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड और कमेटी ऑफ मैनेजमेंट ऑफ शाही मस्जिद ईदगाह.

बताते चलें कि अयोध्या विवाद में भी 1989 में रामलला विराजमान की तरफ से एक याचिका लगाकर ज़मीन का स्वामित्व मांगा गया था, जिसका फैसला 2019 में मंदिर के पक्ष में आया था. और अब मथुरा में श्रीकृष्ण विराजमान की तरफ से याचिका लगाई गई है.

इंडियन एक्सप्रेस की ख़बर के मुताबिक याचिका में कहा गया है –

“मुगल शासक औरंगज़ेब ने 31 जुलाई 1658 से लेकर 3 मार्च 1707 तक भारत पर शासन किया. इस दौरान उसने तमाम हिंदू धार्मिक स्थल और मंदिर तुड़वाए. इसी बीच 1669-70 में कटरा केशव देव, मथुरा का श्रीकृष्ण मंदिर भी तोड़ दिया गया. केशव देव मंदिर गिरा दिया गया और इसकी जगह मस्जिद बना दी गई, जिसे ईदगाह मस्जिद नाम दिया गया.”

Place of Worship Act

हालांकि इस केस में और इस तरह के किसी भी विवाद में Place of Worship Act-1991 का भी ज़िक्र होना ज़रूरी हो जाता है. इस एक्ट के मुताबिक 15 अगस्त 1947 को जो धार्मिक स्थल जिस संप्रदाय का था, वो उसी का रहेगा. इस एक्ट के तहत सिर्फ रामजन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद को ही छूट दी गई थी. पिछले साल 9 नवंबर को जब सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या विवाद पर फैसला सुनाया था, तो ये टिप्पणी भी की थी कि अदालत ऐतिहासिक गलतियों को सुधार नहीं सकती.

फिलहाल मथुरा की इस याचिका पर कोर्ट की कोई टिप्पणी आना या मस्जिद पक्ष का जवाब आना बाकी है. आएगा, तो हम वो भी आपको बताएंगे.


दावा है कि मथुरा में बीते दिनों एक मठ के साधु को मुस्लिमों ने लहूलुहान कर दिया!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

आप दीपिका और रकुल प्रीत में उलझे रहे और राजस्थान में इतना बड़ा कांड हो गया!

दो दिन से बवाल चल रहा है.

मोदी सरकार ने भ्रष्टाचार रोकने वाले इस क़ानून को जरूरी बनाने की बात से पलटी मार ली

और यह जानकारी ख़ुद सरकार ने दी है.

किसान कर्फ्यू से पहले किसानों ने कहां-कहां ट्रेन रोक दी है?

कई ट्रेनों को कैंसिल किया गया, कई के रूट बदले गए.

केंद्रीय मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोविड-19 से निधन

दिल्ली के एम्स में उनका इलाज चल रहा था.

धोनी का वर्ल्ड कप जिताने वाला सिक्सर याद है! वो अब स्टेडियम में अमर होने वाला है

भारत में किसी खिलाड़ी को जो मुकाम हासिल नहीं हुआ, वो अब धोनी को मिलने वाला है.

अंतरिक्ष में भी लद्दाख जैसी हरकतें कर रहा है चीन

भारत के सैटेलाइट पर है ख़तरा!

चुनाव लड़ने के लिए गुप्तेश्वर पांडे ने दूसरी बार पुलिस सेवा से रिटायरमेंट ले ली है

2009 में भी गुप्तेश्वर पांडे ने वीआरएस लिया था, पर तब बीजेपी ने टिकट नहीं दिया था.

दिल्ली दंगे के लिए पुलिस ने अब इस ग्रुप को जिम्मेदार ठहराया है

चार्जशीट में दिल्ली पुलिस ने और क्या कहा है?

किस बात पर पंजाब में सनी देओल के 'सामाजिक बहिष्कार' की बात हो रही है?

कुछ लोग कह रहे हैं कि अपने गांवों में घुसने नहीं देंगे.

एक्ट्रेस के यौन शोषण के इल्ज़ाम पर अनुराग कश्यप का जवाब आया है

पायल घोष ने आरोप लगाया है.