Submit your post

Follow Us

केरल में फंसी 177 महिलाओं के लिए सोनू सूद ने ग़ज़ब की दरियादिली दिखलाई है

एक्टर सोनू सूद. बीते कुछ दिनों से काफी चर्चा में हैं. फिलहाल शूट वगैरह बंद है. कोरोना के चलते लॉकडाउन है. लेकिन सोनू लॉकडाउन के दौरान फंसे लोगों को उनके घर पहुंचाने में लगे हुए हैं. अब तक आपने सुना होगा कि सोनू ने बसों का इंतज़ाम किया और लोगों को घर पहुंचा दिया. लेकिन इस बार मामला कुछ अलग है. उन्होंने इस बार केरल में फंसी 177 महिलाओं के लिए फ्लाइट की व्यवस्था की और उन्हें ओडिशा पहुंचवाया है.

क्या है मामला

केरल का एर्नाकुलम जिला. वहां ओडिशा की 177 महिलाएं एक टेक्सटाइल कंपनी में काम करती थीं. लॉकडाउन की वजह से वहीं फंसी हुई थीं. ‘द न्यूज मिनट’ के अनुसार, उनकी नौकरी भी छूट गई थी. वे सभी ओडिशा लौटना चाहती थीं, लेकिन उनके पैसे खत्म हो रहे थे. इसके बाद उनका संपर्क सोनू सूद से हुआ. फिर क्या था, सोनू ने उनके लिए प्लेन की ही व्यवस्था कर दी.

सोनू सूद के अरेंज किए गए विमान ने शुक्रवार, 29 मई को सुबह 8 बजे एर्नाकुलम के कोचीन एयरपोर्ट से भुवनेश्वर के लिए उड़ान भरी. फ्लाइट में उन 177 महिलाओं के साथ-साथ एर्नाकुलम की एक लकड़ी की फैक्ट्री में काम करने वाले नौ अन्य मज़दूर भी थे.

दरअसल सोनू सूद ने एक टोल फ्री नंबर जारी किया है. नंबर है- 18001213711. प्रवासी मजदूर इस नंबर पर फोन करके सोनू की मदद ले सकते हैं. उन्होंने ट्वीट करके लिखा है,

मेरे प्यारे श्रमिक भाइयों और बहनों. अगर आप मुंबई में हैं और अपने घर जाना चाहते हैं, तो कृपया इस नंबर पर कॉल करें- 18001213711 और बताएं कि आप कितने लोग हैं, अभी कहां पर हैं और कहां जाना चाहते हैं. मैं और मेरी टीम जो भी मदद कर पाएंगे, हम जरूर करेंगे.

 

ट्वीट देखिए-

सोनू सूद ने जैसे ही ये नंबर जारी किया, उन्हें देशभर से फोन और मैसेज आने लगे. उन्होंने खुद ही ट्वीट करके ये बात कही.

ये ट्वीट देखिए-

फिलहाल यह फ्लाइट शुक्रवार को ही ओडिशा के बीजू पटनायक अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंच चुकी है.



वीडियो देखें: सोनू सूद ने प्रवासी मजदूरों की मदद के लिए अपना व्हाट्सएप नंबर दे दिया है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

लॉकडाउन-5 को लेकर किस तरह के प्रपोज़ल सामने आ रहे हैं?

कई मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि 31 मई के बाद लॉकडाउन बढ़ सकता है.

क्या जम्मू-कश्मीर में फिर से पुलवामा जैसा अटैक करने की तैयारी में थे आतंकी?

सिक्योरिटी फोर्स ने कैसे एक्शन लिया? कितना विस्फोटक मिला?

लद्दाख में भारत और चीन के बीच डोकलाम जैसे हालात हैं?

18 दिनों से भारत और चीन की फौज़ आमने-सामने हैं.

शादी और त्योहार से जुड़ी झारखंड की 5000 साल पुरानी इस चित्रकला को बड़ी पहचान मिली है

जानिए क्या खास है इस कला में.

जिस मंदिर के पास हजारों करोड़ रुपये हैं, उसके 50 प्रॉपर्टी बेचने के फैसले पर हंगामा क्यों हो गया

साल 2019 में इस मंदिर के 12 हजार करोड़ रुपये बैंकों में जमा थे.

पुलवामा हमले के लिए विस्फोटक कहां से और कैसे लाए गए, नई जानकारी सामने आई

पुलवामा हमला 14 फरवरी, 2019 को हुआ था.

दो महीने बाद शुरू हुई हवाई यात्रा, जानिए कैसा रहा पहले दिन का हाल?

दिल्ली में पहले दिन 80 से ज्यादा उड़ानें कैंसिल क्यों करनी पड़ी?

बलबीर सिंह सीनियर: तीन बार के हॉकी गोल्ड मेडलिस्ट, जिन्होंने 1948 में इंग्लैंड को घुटनों पर ला दिया था

हॉकी लेजेंड और भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और कोच बलबीर सिंह सीनियर का 96 साल की उम्र में निधन.

दूसरे राज्य इन शर्तों पर यूपी के मजदूरों को अपने यहां काम करने के लिए ले जा सकते हैं

प्रवासी मजदूरों को लेकर सीएम योगी ने बड़ा फैसला किया है.

ऑनलाइन क्लास में Noun समझाने के चक्कर में पाकिस्तान की तारीफ, टीचर सस्पेंड

टीचर शादाब खनम ने माफी भी मांगी, लेकिन पैरेंट्स ने शिकायत कर दी.