Submit your post

Follow Us

महेश कटारे को मिला साल 2019 का श्रीलाल शुक्ल स्मृति इफको साहित्य सम्मान

फ़र्टिलाइज़र सेक्टर की लीडिंग कॉपरेटिव आर्गेनाइजेशन इंडियन फार्मर्स फ़र्टिलाइज़र कॉपरेटिव लिमिटेड (IFFCO) द्वारा साल 2019 के ‘श्रीलाल शुक्ल स्मृति इफको साहित्य’ सम्मान के लिए कथाकार महेश कटारे के नाम की घोषणा की गई है. साहित्य अकादमी के पूर्व अध्यक्ष विश्वनाथ त्रिपाठी की चयन समिति में डी.पी. त्रिपाठी, मृदुला गर्ग, रविभूषण, मुरली मनोहर प्रसाद सिंह, इब्बार रब्बी और श्री दिनेश कुमार शुक्ल शामिल थे.

महेश कटारे का जन्म 1948 में मध्य प्रदेश के ग्वालियर जिले के बिल्हैटी गांव में एक किसान परिवार में हुआ. समर शेष है, इतिकथा अथकथा, मुर्दा स्थगित, पहरुआ, छछिया भर छाछ, सात पान की हमेल, फागुन की मौत, मेरी प्रिय कथाएं, गौरतलब कहानियां, महासमर का साक्षी, पचरंगी, विभाजन, देस बिदेस दरवेश, काली धार, काया के वन में, समय के साथ-साथ आदि उनकी प्रकाशित कृतियां हैं. महेश न केवल अपनी रचनाओं में बल्कि वास्तविक जीवन में भी खेती-किसानी से जुड़े हुए हैं. मध्य प्रदेश साहित्य परिषद, बिहार राजभाषा परिषद सहित कई संस्थाओं द्वारा उन्हें सम्मानित किया गया है.

मूर्धन्य कथाशिल्पी श्रीलाल शुक्ल की स्मृति में वर्ष 2011 में शुरू किया गया यह अवार्ड ऐसे हिंदी लेखक को दिया जाता है जिसकी रचनाओं में मुख्यत: ग्रामीण और कृषि जीवन, हाशिए के लोग, विस्थापन आदि से जुड़ी समस्याओं, संघर्षों का चित्रण किया गया हो. इससे पहले यह सम्मान विद्यासागर नौटियाल, शेखर जोशी, संजीव, मिथिलेश्वर, अष्टभुजा शुक्ल, कमलाकांत त्रिपाठी, रामदेव धुरंधर और रामधारी सिंह दिवाकर को दिया गया है. सम्मानित साहित्यकार को एक प्रतीक चिह्न, प्रशस्ति पत्र और 11 लाख रुपये का चेक दिया जाता है. महेश को यह सम्मान 31 जनवरी, 2020 को नई दिल्ली में एक समारोह में प्रदान दिया जाएगा.


वीडियो- किताबवाला: चौचक दास्तानगो हिमांशु बाजपेयी ने सुनाए लखनउआ किस्से

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

एंटी-CAA प्रोटेस्ट को उकसाने के आरोप में कपल गिरफ्तार, पुलिस ने कहा- ISIS से लिंक हो सकता है

दिल्ली के शाहीन बाग में 15 दिसंबर से प्रोटेस्ट चल रहा है.

सबसे ज्यादा रणजी मैच और सबसे ज्यादा रन, इस खिलाड़ी ने 24 साल बाद लिया संन्यास

42 की उम्र तक खेलते रहे, अब बल्ला टांगा.

लखनऊ में CAA विरोधी प्रदर्शन के दौरान 'तोड़फोड़ करने वाले' 57 लोगों के होर्डिंग लगाए

होर्डिंग पर पूर्व IPS एसआर दारापुरी और कांग्रेस कार्यकर्ता सदफ ज़फर जैसे लोगों का नाम.

दिल्ली दंगे के 'हिन्दू पीड़ितों' की मदद के लिए कपिल मिश्रा ने जुटाये 71 लाख, खुद एक पईसा नहीं दिया

अब भी कह रहे हैं, 'आप धर्म को बचाइये, धर्म आपको बचायेगा'

कांग्रेस सांसद का आरोप : अमित शाह का इस्तीफा मांगा, तो संसद में मुझ पर हमला कर दिया गया

कांग्रेस सांसद ने कहा, 'मैं दलित महिला हूं, इसलिए?'

निर्भया केस: चार दोषियों की फांसी से एक दिन पहले कोर्ट ने क्या कहा?

राष्ट्रपति ने पवन गुप्ता की दया याचिका खारिज कर दी है.

कश्मीर : हथियारों के फर्जी लाइसेंस बनवाने वाला IAS अधिकारी कैसे धरा गया?

हर लाइसेंस पर 8-10 लाख रूपए लेता था!

गृहमंत्री अमित शाह की रैली में आई भीड़ ने लगाया देश के गद्दारों को गोली मारो... का नारा!

ये नारा डरावना है, उससे भी डरावना है इसका गृहमंत्री की रैली में लगाया जाना.

दिल्ली के बाद मेघालय में भी हिंसा भड़की, दो की मौत, कई जिलों में इंटरनेट बंद

मामला CAA प्रोटेस्ट से जुड़ा है.

एक्टिंग छोड़ बीजेपी जॉइन की थी, अब कपिल मिश्रा और अनुराग ठाकुर की वजह से पार्टी छोड़ दी

बीजेपी नेता ने अपनी पार्टी के नेताओं पर बड़ा बयान दिया है.