Submit your post

Follow Us

सोनू सूद पर शिवसेना ने कहा- वो अच्छा कर रहे हैं, लेकिन ‘इस फिल्म का डायरेक्टर’ कोई और है

कोरोना वायरस लॉकडाउन के बीच लोगों की मदद करने वालों में एक नाम एक्टर सोनू सूद का भी है. सोनू लगातार लोगों को बस, ट्रेन और अब तो फ्लाइट के ज़रिये घर पहुंचाने का इंतज़ाम रहे हैं. लेकिन महाराष्ट्र की सत्ताधारी पार्टी शिवसेना का कहना है कि सोनू की ‘इस फिल्म का डायरेक्टर’ कोई और है.

शिवसेना के सीनियर लीडर संजय राउत ने 7 जून को कहा –

“सोनू सूद अच्छे एक्टर हैं. लेकिन इस फिल्म का डायरेक्टर कोई और है. वो जो काम कर रहे हैं, वो अच्छा है. लेकिन मुमकिन है कि इस फिल्म के पीछे कोई पॉलिटिकल डायरेक्टर हो.”

इससे पहले शिवसेना ने अपने मुख पत्र ‘सामना’ अख़बार में भी लिखा –

“महाराष्ट्र की धरती से महात्मा ज्योतिबा फुले और महात्मा बाबा आम्टे जैसे लोग रहे हैं. अब इस लिस्ट में एक और महात्मा शामिल हो गए हैं. सोनू सूद. कई वीडियो और तस्वीरें सामने आ रहे हैं, जिनमें सोनू चिलचिलाती धूप में प्रवासी मजदूरों की मदद कर रहे हैं.”

इससे पहले कि आप सोचें कि ये तो सोनू सूद की तारीफ की गई है, लेख का अगला हिस्सा पढ़िए –

“इन अभियानों के पीछे सोनू सूद महज एक चेहरा हैं. महाराष्ट्र के कुछ राजनीतिक दल सोनू सूद का इस्तेमाल उद्धव सरकार पर आरोप लगाने के लिए कर रहे हैं. ये लोग सोनू सूद को सुपर हीरो के तौर पर पेश करने में सफल रहे हैं, लेकिन राज्य सरकार की मदद के बिना वे कुछ नहीं कर सकते थे. बीजेपी के कुछ लोगों ने सोनू सूद को एडॉप्ट किया है. अब सोनू सूद का नाम मन की बात में लिया जाएगा. फिर वे पीएम से मिलेंगे और फिर बीजेपी का प्रचार करेंगे.”

बीजेपी की ओर से जवाब दिया उनके नेता राम कदम ने. कहा कि ये शिवसेना की फ्रस्ट्रेशन है. सोनू सूद बहुत अच्छा काम कर रहे हैं. उन पर घटिया आरोप लगाकर शिवसेना अपनी नाकामी नहीं छिपा सकती.


सोनू सूद ने एक बार फिर चार्टेड फ्लाइट से 173 मज़दूरों को उनके घर पहुंचाया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

गर्भवती ने 13 घंटे तक आठ अस्पतालों के चक्कर लगाए, किसी ने भर्ती नहीं किया, मौत हो गई

महिला की मौत के बाद अब जिला प्रशासन जांच की बात कर रहा है.

दिल्ली के सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में अब सिर्फ दिल्ली वालों का इलाज होगा

दिल्ली के बॉर्डर खोले जाने पर भी हुआ फैसला.

लद्दाख में तनाव: भारत-चीन सेना के कमांडरों की मीटिंग में क्या हुआ, विदेश मंत्रालय ने बताया

6 जून को दोनों देशों के सेना के कमांडरों की मीटिंग करीब 3 घंटे तक चली थी.

पहले से फंसी 69000 शिक्षक भर्ती में अब पता चला, रुमाल से हो रही थी नकल!

शुरू से विवादों में रही 69 हजार शिक्षक भर्ती में जुड़ा एक और विवाद

'निसर्ग' चक्रवात क्या है और ये कितना ख़तरनाक है?

'निसर्ग' नाम का मतलब भी बता रहे हैं.

कोरोना काल में क्रिकेट खेलने वाले मनोज तिवारी ‘आउट’

दिल्ली में हार के बाद बीजेपी का पहला बड़ा फैसला.

1 जून से लॉकडाउन को लेकर क्या नियम हैं? जानिए इससे जुड़े सवालों के जवाब

सरकार ने कहा कि यह 'अनलॉक' करने का पहला कदम है.

3740 श्रमिक ट्रेनों में से 40 प्रतिशत ट्रेनें लेट रहीं, रेलवे ने बताई वजह

औसतन एक श्रमिक ट्रेन 8 घंटे लेट हुई.

कंटेनमेंट ज़ोन में लॉकडाउन 30 जून तक बढ़ाया गया, बाकी इलाकों में छूट की गाइडलाइंस जानें

गृह मंत्रालय ने कंटेनमेंट ज़ोन के बाहर चरणबद्ध छूट को लेकर गाइडलाइंस जारी की हैं.

मशहूर एस्ट्रोलॉजर बेजान दारूवाला नहीं रहे, कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी

बेटे ने कहा- निमोनिया और ऑक्सीजन की कमी से हुई मौत.