Submit your post

Follow Us

'शक्तिमान' की मौत के मामले में कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी बरी, कोर्ट ने कहा- सबूत नहीं मिले

मार्च 2016 में बीजेपी के प्रदर्शन के दौरान शक्तिमान नाम के घोड़े का पैर टूट गया था. बाद में उसकी मौत हो गई थी. इस मामले में अब अदालत ने कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी को बरी कर दिया है. देहरादून की चीफ जुडिशल मैजिस्ट्रेट कोर्ट का कहना है कि आरोपियों पर दोष साबित करने लायक “सबूत” नहीं हैं. गणेश जोशी के अलावा चार अन्य लोगों को भी बरी कर दिया गया है.

प्रोटेस्ट में घायल हुआ घोड़ा

14 मार्च 2016 का दिन था. देहरादून में उत्तराखंड विधानसभा के बाहर बीजेपी का विरोध प्रदर्शन चल रहा था. मसूरी से तत्कालीन विधायक गणेश जोशी भीड़ का नेतृत्व कर रहे थे. आक्रोश उस समय के मुख्यमंत्री हरीश रावत के खिलाफ था, लेकिन भीड़ का गुस्सा फूटा शक्तिमान (Shaktiman) पर. शक्तिमान पुलिस का घोड़ा था. आरोप लगा कि प्रदर्शनकारियों ने उसके पैर पर इतने डंडे बरसाए कि उसका पैर टूट गया.

डॉक्टरों ने कहा कि 13 साल के शक्तिमान को एक से ज्यादा फ्रैक्चर हुए, जिनमें एक कंपाउंड फ्रैक्चर भी था. मतलब शक्तिमान की एक टांग काटनी पड़ेगी. टांग काट दी गई. अमेरिका से आर्टिफिशियल टांग मंगवाकर लगाई गई. उसकी कीमत थी लगभग तीन हजार डॉलर. इसके बावजूद भी उसकी जान नहीं बच पाई. करीब एक महीने तक जिंदगी की जंग लड़ने के बाद शक्तिमान ने दम तोड़ दिया. डॉक्टरों का कहना था कि चोट लगने के कारण शक्तिमान के शरीर में इंफेक्शन फैल गया था.

बाद में कुछ फोटो और वीडियो सामने आए. एक फोटो में दिख रहा था कि विधायक गणेश जोशी डंडा लेकर मारने की मुद्रा में थे. सामने शक्तिमान था. उस पर पुलिसकर्मी बैठा हुआ था. एक और फोटो आया, जिसमें शक्तिमान का खून से लथपथ पैर दिख रहा था. घटना के फोटो और वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो गए.

गणेश जोशी की गिरफ्तारी

पुलिस ने केस दर्ज किया. विधायक गणेश जोशी और बीजेपी के 4 अन्य लोगों के खिलाफ. इनके नाम थे प्रमोद बोरा, जोगेंद्र सिंह पुंडीर, अभिषेक गोंड और राहुल. प्रिवेंशन ऑफ क्रुएल्टी टू एनिमल्स यानी जानवरों से क्रूरता के खिलाफ़ अधिनियम की धारा 11 लगाई गई. IPC की धारा 188 (पब्लिक सर्वेंट के आदेश का उल्लंघन), धारा 332 (जानबूझकर पब्लिक सर्वेंट को ड्यूटी के दौरान नुकसान पहुंचाने) और धारा 353 (लोकसेवक से मारपीट) भी लगाई गईं.

केस दायर होने के बाद गणेश जोशी को गिरफ्तार किया गया. अदालत ने उन्हें कस्टडी में जेल भेज दिया. एनिमल लवर्स, सामाजिक संस्थाओं और राजनीतिक दलों ने गणेश जोशी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया. गणेश जोशी ने अपने आपको निर्दोष बताया और इसे हरीश राव सरकार की साजिश करार दिया. पांच दिन के बाद सेशन कोर्ट से गणेश जोशी को जमानत मिली.

2017 में जब बीजेपी सत्ता में आई तो गणेश जोशी के खिलाफ मुकदमा वापस लेने की सिफारिश की गई. लेकिन कोशिशें कामयाब नहीं हुईं. कोर्ट में मुकदमा चला. गवाह पेश किए गए. गणेश जोशी ने दलील दी कि उन्होंने डंडा उठाया जरूर था, लेकिन घोड़े पर वार नहीं किया था.

बरी होने के बाद जोशी ने क्या कहा?

अब देहरादून की चीफ जुडिशल मैजिस्ट्रेट की अदालत ने सुनवाई पूरी करने के बाद फैसला सुनाया है. कोर्ट ने कहा है कि गणेश जोशी और अन्य चार गवाहों के खिलाफ ठोस सबूत नहीं मिले हैं. गवाहों के बयानों में भी विरोधाभास है. इसी आधार पर कोर्ट ने पांचों को बरी कर दिया.

गणेश जोशी इन दिनों उत्तराखंड सरकार में मंत्री हैं. कोर्ट का फैसला आने के बाद  उन्होंने न्यूज़ 18 से कहा कि,

“मैं शुरू से ही कह रहा था कि मैं बेकसूर हूं, अब कोर्ट के फैसले से ये साबित हो चुका है”

गणेश जोशी ने ये भी कहा था कि अगर मैं दोषी पाया गया तो हर सजा के लिए तैयार हूं. अगर आरोप साबित हो गए तो उनके पैर काट दिए जाएं.

उत्तराखंड पुलिस का शक्तिमान!

शक्तिमान घोड़े करीब 10 साल से पुलिस में सेवा दे रहा था. उसे 2007 में 95000 रुपए में उत्तराखंड पुलिस ने खरीदा था. कई विरोध प्रदर्शन के दौरान शक्तिमान ने पुलिस का साथ दिया था. शक्तिमान की याद में देहरादून पुलिस लाइन्स में एक प्रतिमा भी स्थापित की गई है. एक पेट्रोल पंप भी शक्तिमान की यादों को ताजा करता है.

(आपके लिए ये ख़बर हमारे साथी दीपेंद्र ने लिखी है)


विडियो- उत्तराखंड: कोरोना पर गणेश जोशी ने जो कहा, उसे सुनकर त्रिवेन्द्र सिंह रावत तमतमा जाएंगे

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

सिंघु बॉर्डर पर युवक की बर्बर हत्या पर किसान नेताओं ने क्या कहा है?

राकेश टिकैत ने भी मीडिया से बात की है.

बांग्लादेश: दुर्गा पूजा पंडाल को कट्टरपंथियों ने तहस-नहस किया, मूर्तियां तोड़ीं, 3 लोगों की मौत

बांग्लादेश: दुर्गा पूजा पंडाल को कट्टरपंथियों ने तहस-नहस किया, मूर्तियां तोड़ीं, 3 लोगों की मौत

कुरान को लेकर अफवाह उड़ी और बांग्लादेश के कई हिस्सों में सांप्रदायिक तनाव फैल गया.

आर्यन खान को अब भी नहीं मिली बेल, 20 तारीख तक जेल में ही रहना होगा

आर्यन खान को अब भी नहीं मिली बेल, 20 तारीख तक जेल में ही रहना होगा

जज ने दोनों पक्षों की दलीलें तो सुनी लेकिन अपना फैसला रिज़र्व रख दिया.

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

पुंछ मुठभेड़ से कुछ देर पहले भाई से बचपन की बातें कर हंस रहे थे शहीद मंदीप सिंह!

किसी ने लोन लेकर परिवार को नया घर दिया था तो कोई दिवंगत पिता के शोक में जाने वाला था.

दिल्ली में संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकी गिरफ्तार, पूछताछ में डराने वाली जानकारी दी

दिल्ली में संदिग्ध पाकिस्तानी आतंकी गिरफ्तार, पूछताछ में डराने वाली जानकारी दी

पुलिस ने संदिग्ध आतंकी के पास से एके-47, हैंड ग्रेनेड और कई कारतूस मिलने का दावा किया है.

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

Urban Company की महिला 'पार्टनर्स' ने इसके खिलाफ मोर्चा क्यों खोल दिया है?

ये महिलाएं अर्बन कंपनी के लिए ब्यूटिशियन या स्पा वर्कर का काम करती हैं.

लखीमपुर केस में आशीष मिश्रा 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार

लखीमपुर केस में आशीष मिश्रा 12 घंटे की पूछताछ के बाद गिरफ्तार

जांच में सहयोग नहीं करने का आरोप.

नवाब मलिक ने कहा-NCB ने 11 को हिरासत में लिया था फिर 3 को छोड़ क्यों दिया?

नवाब मलिक ने कहा-NCB ने 11 को हिरासत में लिया था फिर 3 को छोड़ क्यों दिया?

NCB की रेड को फर्जी बताया, ज़ोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े की कॉल डिटेल की जांच की मांग की

आशीष मिश्रा लखीमपुर में हैं या नहीं? पिता अजय मिश्रा और रिश्तेदारों के जवाबों ने सिर घुमा दिया

आशीष मिश्रा लखीमपुर में हैं या नहीं? पिता अजय मिश्रा और रिश्तेदारों के जवाबों ने सिर घुमा दिया

अजय मिश्रा कुछ और कह रहे, परिवारवाले कुछ और कह रहे.

RBI ने ऑनलाइन पैसा ट्रांसफर करने वालों को बड़ी खुशखबरी दी है

RBI ने ऑनलाइन पैसा ट्रांसफर करने वालों को बड़ी खुशखबरी दी है

RBI की मॉनिटरी पॉलिसी कमिटी (MPC) की बैठक आज खत्म हो गई.