Submit your post

Follow Us

शाहजहांपुर में वकील ने ही मारी थी वकील को गोली, कहा- मजबूरी थी

उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में 18 अक्टूबर को कोर्ट परिसर के अंदर एक वकील की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. मृतक वकील का नाम भूपेंद्र सिंह था, जिन्हें शहर के थाना सदर बाजार क्षेत्र स्थित अदालत में गोली मारी गई थी. जलालाबाद के भूपेंद्र सिंह 60 साल के थे. उन्हें गोली मारने वाला 88 साल का है और वो भी वकील है. नाम है सुरेश गुप्ता. हत्या के आरोपी वकील को गिरफ्तार कर लिया गया है. उनके खिलाफ IPC की धारा 302 (हत्या) और 120-B (आपराधिक साजिश) के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है.

आरोपी सुरेश गुप्ता का एक वीडियो भी सामने आया है. इसमें वो कह रहे हैं –

“इन्होंने (भूपेंद्र ने) मेरे ऊपर 24 फ़र्जी मुकदमे कर रखे थे. चोरी से लेकर मर्डर तक के. कोई भी मुकदमा बंद होता था तो उसका ये रिवीजन डाल देते थे कि पिछला जजमेंट ग़लत हुआ. तो वो केस रीस्टोर हो जाते थे. मैं खाना नहीं खा पा रहा था. रात में नींद नहीं आती थी. हम इस वजह से परेशान थे. अब या तो हम सुसाइड कर लेते या इसको मार देते.”

आरोपी सुरेश गुप्ता ने आगे बताया कि घटना के दिन पुलिस सुरक्षा कम थी इसलिए वे जेब में ही तमंचा रखकर कोर्ट परिसर तक पहुंच गए. आगे उन्होंने बताया,

“वो (भूपेंद्र) मेरे मकान में किरायेदार रह चुके थे. साल 2000 में मकान खाली कराया था. तब भी पुलिस के दख़ल से ही मकान खाली हो पाया था वरना वो कब्जा करना चाह रहे थे. मकान खाली करा लिया तो वो हमारी ही शिकायतें करने लगे. 153 शिकायतें मेरे पास रिसीव हुई हैं.”

सुरेश गुप्ता ने बताया कि वे बैंक से रिटायर्ड हैं, पेंशनर हैं.  क्या गोली मारने का कोई पश्चाताप है? इस सवाल पर आरोपी बोले –

“मेरे सामने मजबूरी थी. खुद मर जाना या मार देना.”

गौरतलब है कि हत्या की शुरुआती जांच के बाद पुलिस ने भी मीडिया को जानकारी देते हुए सुरेश गुप्ता का जिक्र किया था. शाहजहांपुर के एसपी एस आनंद ने कहा था कि सुरेश कुमार गुप्ता 2019-20 में ही वकील बने हैं. उन्होंने बताया था कि मकान की किरायेदारी को लेकर सुरेश गुप्ता और मृतक वकील के कुछ केस चल रहे थे. उसी सिलसिले में सुरेश, भूपेंद्र से मिलने आए थे. अब खुद सुरेश ने इसकी पुष्टि कर दी है कि उनके और मृतक वकील के बीच क्या कलह चल रहा था.

इस घटना से दूसरे वकीलों और न्यायाधीशों की सुरक्षा पर भी बड़ा सवाल खड़ा हो गया है. कोर्ट परिसर के अंदर जाने के लिए सभी लोगों को गेट पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था से गुजरना होता है. इसके बावजूद सुरेश गुप्ता कैसे तमंचा लेकर अंदर पहुंच गए, ये बड़ा सवाल है. मृतक वकील भूपेंद्र सिंह जलालाबाद जिले के रहने वाले थे. उनकी हत्या के बाद साथी वकीलों में डर के साथ काफी गुस्सा भी है. सोमवार को हुई घटना के बाद उनका कहना था कि गेट पर लगे सुरक्षाकर्मियों के खिलाफ भी कार्रवाई होना चाहिए.


शाहजहांपुर कोर्ट में जलालाबाद के वकील की हत्या, गोली मारने के बाद हमलावर फरार

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

इस्तीफे में पराग अग्रवाल के लिए क्या-क्या बोले जैक डोर्से?

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?

Covaxin को WHO के एक्सपर्ट पैनल से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली

Covaxin को WHO के एक्सपर्ट पैनल से इमरजेंसी यूज की मंजूरी मिली

स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने पीएम मोदी के लिए क्या कहा?