Submit your post

Follow Us

ममता बनर्जी के साथ लंदन गए कई पत्रकार चम्मच चोरी करते पकड़े गए

ममता बनर्जी लंदन गईं. उनके कारवां में कई वरिष्ठ पत्रकार भी थे. सबको एक आलीशान होटल में ठहराया गया. सारे लोग रात का खाना खाने पहुंचे. एक बड़ी टेबल पर सबके बैठने का इंतजाम था. प्लेट वगैरह सब टेबल पर रखे थे. खाने के लिए जो चम्मच-छुरी-कांटा था, वो चांदी का था. ग्रुप में शामिल एक सीनियर पत्रकार ने मौका देखकर चुपके से कुछ चम्मच-कांटे चुराए और उन्हें अपने बैग में छुपा लिया. खबरों के मुताबिक, ये टुच्चई दिखाने वाले पत्रकार एक बड़े बंगाली अखबार में खूब भारी-भरकम ओहदे पर हैं. पास में बैठे कुछ और पत्रकारों ने उसे चोरी करते देखा. रोकने की जगह वो खुद भी चांदी के चम्मच चुराने में जुट गए.

पत्रकारों को मालूम नहीं था कि होटल का स्टाफ सीसीटीवी कैमरे के जरिये उनकी इस चार सौ बीसी को लाइव देख रहा है (सांकेतिक तस्वीर) (फोटो क्रेडिट: James Baldwin Antiques)
पत्रकारों को मालूम नहीं था कि होटल का स्टाफ सीसीटीवी कैमरे के जरिये उनकी इस चार सौ बीसी को लाइव देख रहा है (सांकेतिक तस्वीर, क्रेडिट: James Baldwin Antiques)

पत्रकारों की नीयत खराब थी, अक्ल भी खराब हो गई
नीयत खराब हो, तो अक्ल भी बर्बाद हो जाती है. इन चोर पत्रकारों को ध्यान नहीं रहा कि ऊपर सीसीटीवी कैमरा लगा है. जो हो रहा है, उसे होटल के कर्मचारी लाइव देख रहे हैं. होटल कर्मचारियों ने पत्रकारों को चोरी करते देख लिया. मगर वो उलझन में थे. भारत की एक मुख्यमंत्री का कारवां है. इतने बड़े, VVIP लोग हैं. न केवल भारत के, बल्कि ब्रिटेन के भी कई बड़े वहां साथ बैठकर डिनर कर रहे हैं. टोकें, तो टोकें कैसे.

पहले चोरी, फिर सीनाजोरी
काफी सोचने के बाद कर्मचारियों ने फैसला किया कि खुलेआम न बोला जाए. तो जिन पत्रकारों ने चोरी की थी, सीधे उनसे बात की गई. उन्हें बताया गया कि उनकी हरकत कैमरे में कैद हो गई है. उनसे चोरी की गई चीजें वापस लौटाने को कहा गया. एक पत्रकार और बड़ा वाला 420 निकला. उसने चुराई हुई चीजें अपने बैग में न रखकर एक साथी पत्रकार के बैग में छुपा दी थीं. उसकी ये हरकत भी होटल कर्मचारियों ने सीसीटीवी कैमरे पर देख ली थी. जब उससे बात की गई, तो वो सीनाजोरी पर उतर आया. फिर होटल के पास कोई चारा नहीं रहा. उन्होंने कहा- अगर सीधे से नहीं मानोगे, तो पुलिस को बुलाएंगे. धमकी मिलने के बाद उस पत्रकार ने अपनी गलती मानी और 50 पाउंड का जुर्माना भरा. देखते ही देखते लंदन में रहने वाले VIP भारतीयों के बीच ये बात फैल गई. जाहिर है, उन्हें शर्मिंदगी हुई होगी.

नेता जब भी आधिकारिक दौरे पर विदेश जाते हैं, उनके साथ पत्रकारों का जत्था होता है. इन पत्रकारों को काफी सोच-समझकर चुना जाता है.
नेता जब भी आधिकारिक दौरे पर विदेश जाते हैं, उनके साथ पत्रकारों का जत्था होता है. इन पत्रकारों को काफी सोच-समझकर चुना जाता है.

और ये लोग खुद को पत्रकार कहते हैं…
ये हाल उन पत्रकारों का है, जिनके ऊपर सच्ची बात करने की जिम्मेदारी होती है. क्या बोलते हैं- लोकतंत्र का चौथा खंभा. इतना भारी-भरकम ओहदा और हरकतें इतनी टुच्ची. इतनी हाई-प्रोफाइल मीटिंग में ऐसे चोरी कर सकते हैं, तो बाकी जगहों पर जाने क्या करते होंगे? बातें बड़ी-बड़ी और हरकतें इतनी छोटी.


ये भी पढ़ें: 

ठंड में बिना पैंट के लड़के-लड़कियां मेट्रो में क्यों घूम रहे हैं!

अपना दिल अपने बैग में लेकर चलती है ये औरत

बच्चे का 22 लीटर ख़ून पी गया ये कीड़ा, कहीं आपके भी पेट में तो नहीं है?

कहीं मिसयूज़ तो नहीं हुआ है आपका आधार कार्ड, जानिए इन 5 स्टेप्स में

यूपी के मंत्री बोले- भगवा रंग से ऊर्जा मिलती है और कुछ घंटे बाद रंग गायब


वीडियो: पैराडाइज़ पेपर्स लीक करने वाला ये अखबार दीवालिया होने जा रहा था

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

अब केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने लगवाया नारा, "देश के गद्दारों को, गोली मारो *लों को"

क्या केन्द्रीय मंत्री ऐसे बयान दे सकता है?

माओवादियों ने डराया तो गांववालों ने पत्थर और तीर चलाकर माओवादी को ही मार डाला

और बदले में जलाए गए गांववालों के घर

बंगले की दीवार लांघकर पी. चिदम्बरम को गिरफ्तार किया, अब राष्ट्रपति मेडल मिला

CBI के 28 अधिकारियों को राष्ट्रपति पुलिस मेडल दिया गया.

झारखंड के लोहरदगा में मार्च निकल रहा था, जबरदस्त बवाल हुआ, इसका CAA कनेक्शन भी है

एक महीने में दूसरी बार झारखंड में ऐसा बवाल हुआ है.

BJP नेता कैलाश विजयवर्गीय लोगों को पोहा खाते देख उनकी नागरिकता जान लेते हैं!

विजयवर्गीय ने कहा- देश में अवैध रूप से रह रहे लोग सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा हैं.

CAA-NRC, अयोध्या और जम्मू-कश्मीर पर नेशन का मूड क्या है?

आज लोकसभा चुनाव हुए तो क्या होगा मोदी सरकार का हाल?

JNU हिंसा केस में दिल्ली पुलिस की बड़ी गड़बड़ी सामने आई है

RTI से सामने आई ये बात.

CAA पर सुप्रीम कोर्ट में लगी 140 से ज्यादा याचिकाओं पर बड़ा फैसला आ गया

असम में NRC पर अब अलग से बात होगी.

दिल्ली चुनाव में BJP से गठबंधन पर JDU प्रवक्ता ने CM नीतीश को पुरानी बातें याद दिला दीं

चिट्ठी लिखी, जो अब वायरल हो रही है.

CAA और कश्मीर पर बोलने वाले मलयेशियाई PM अब खुद को छोटा क्यों बता रहे हैं?

हाल में भारत और मलयेशिया के बीच रिश्तों में खटास बढ़ती गई है.