Submit your post

Follow Us

क्या वाकई अब एक रुपए में मिलेंगे सैनिटरी पैड्स?

सैनिटरी नैपकिन, यानी पैड्स अब एक रुपए में मिलेंगे. ये पैड्स आपको जन औषधि स्टोर्स में मिलेंगे. इन पैड्स की कीमत पहले ढाई रुपए थी, लेकिन अब एक रुपया हो गई है. 27 अगस्त के दिन से नई कीमतें लागू हो जाएंगी.

इन बायोडिग्रेडेबल सैनिटरी नैपकिन्स का नाम ‘सुविधा’ है. रसायन और उर्वरक राज्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने पीटीआई को एक इंटरव्यू दिया. कहा कि ‘सुविधा’ सैनिटरी पैड्स जन औषधि स्टोर्स में 27 अगस्त से एक रुपए में मिलेंगे.

अब तक चार पैड्स का एक पैकेट दस रुपए में आता था, अब चार रुपए में आएगा. मंडाविया ने 26 अगस्त के दिन एक इंटरव्यू दिया था, जिसमें कहा था-

‘हम ऑक्सो-बायोडिग्रेडेबल सैनिटरी नैपकिन, जो 1 रुपए में मिलेंगे, उन्हें 27 अगस्त से लॉन्च कर रहे हैं. ये नैपकिन्स ‘सुविधा’ नाम के ब्रांड के तहत बिकेंगे. देश के 5500 जन औषधि केंद्रों में उपलब्ध रहेंगे. अभी सप्लायर्स प्रॉडक्शन कॉस्ट के आधार पर सैनिटरी नैपकिन्स सप्लाई कर रहे हैं. इसलिए हम नैपकिन्स की कीमत कम करने के लिए सब्सिडी देंगे.’

'पैडमैन' फिल्म का सीन.
‘पैडमैन’ फिल्म का सीन.

राज्य मंत्री ने कहा कि 2019 चुनाव के वक्त बीजेपी ने घोषणापत्र में वादा किया था, कि सैनिटरी पैड्स की कीमत कम कर दी जाएंगी. इनकी कीमत 60 फीसदी तक कम कर दी गई है. सरकार ने अपना वादा पूरा किया. सरकार ने सैनिटरी नैपकिन्स स्कीम का ऐलान मार्च 2018 में किया था. मई 2018 तक जन औषधि केंद्रों में ये नैपकिन्स उपलब्ध करवा दी गई थीं.

मंडाविया ने आगे कहा,

‘पिछले साल इन स्टोर्स से 2.2 करोड़ सैनिटरी नैपकिन्स बिके थे. अब इनके दाम कम होने के बाद हमें उम्मीद है कि पैड्स की बिक्री दोगुनी हो जाएगी. हम दाम कम करने के साथ ही क्वालिटी पर भी फोकस कर रहे हैं.’

रसायन और उर्वरक राज्य मंत्री मनसुख मंडाविया. फोटो- ट्विटर
रसायन और उर्वरक राज्य मंत्री मनसुख मंडाविया. फोटो- ट्विटर

क्या कहते हैं जन औषधि स्टोर्स वाले?

अब ऐलान हुआ है कि 27 अगस्त से 1 रुपए वाले सैनिटरी नैपकिन्स उपलब्ध होंगे, तो हमने सच्चाई जानने के लिए कुछ जन औषधि केंद्र में कॉल किया. एक स्टोर के मालिक ने बताया कि उन्हें इस तरह की योजना या ऐलान के बारे में कोई जानकारी नहीं है. उनके पास तो इस वक्त ढाई रुपए वाले नैपकिन्स भी नहीं है. उन्होंने बताया कि इन नैपकिन्स की सप्लाई ही बहुत कम होती है. ये जल्दी खत्म हो जाते हैं.

दूसरे स्टोर वाले ने बताया कि उन्हें एक कस्टमर का कॉल आया था. तभी उन्हें पता चला कि एक रुपए वाले सैनिटरी नैपकिन वाली स्कीम का ऐलान हुआ है. इसके पहले उन्हें इसकी जानकारी नहीं थी.

जन औषधि परियोजना की वेबसाइट.
जन औषधि परियोजना की वेबसाइट.

तीसरे स्टोर वाले ने भी हमें यही जवाब दिया, कि उन्हें इस तरह की स्कीम की जानकारी नहीं मिली है. हमारे फोन कॉल के जरिए ही पता चला है कि ‘सुविधा’ सैनिटरी नैपकिन एक रुपए का हो गया है. उन्होंने बताया कि अभी स्टॉक में ढाई रुपए वाले नैपकिन ही हैं, लेकिन वो कोशिश करेंगे कि जल्द से जल्द एक रुपए वाले नैपकिन लाए जा सके.

खैर, ऐलान तो हो गया है. अब इन केंद्रों तक ये पैड्स कब पहुचेंगे, ये पता नहीं.


वीडियो देखें:

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कोरोना टेस्टिंग पर यूपी सरकार को घेरने वाले पूर्व IAS की पूरी कहानी जानिए!

सूर्यप्रताप सिंह, जिन पर FIR दर्ज हुई.

ज्योतिरादित्य सिंधिया की दूसरी कोरोना जांच रिपोर्ट में क्या निकला?

पिछले दिनों सिंधिया और उनकी मां को कोरोना पॉजिटिव पाया गया था.

WHO ने कोरोना पर राहत देने वाली बात की तो दुनियाभर के वैज्ञानिकों ने कहा, “अरी मोरी मईया!”

पलटकर WHO से ही सबूत मांग रहे हैं लोग.

ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनकी मां को हुआ कोरोना इंफेक्शन, दिल्ली के अस्पताल में भर्ती

बीते कुछ दिनों से दोनों की तबीयत खराब थी.

बिहार: अमित शाह ने वर्चुअल रैली में तेजस्वी को घेरा, कहा-लालटेन राज से एलईडी युग में आ गए

तेजस्वी यादव ने रैली पर 144 करोड़ खर्च करने का आरोप लगाया.

गर्भवती ने 13 घंटे तक आठ अस्पतालों के चक्कर लगाए, किसी ने भर्ती नहीं किया, मौत हो गई

महिला की मौत के बाद अब जिला प्रशासन जांच की बात कर रहा है.

दिल्ली के सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में अब सिर्फ दिल्ली वालों का इलाज होगा

दिल्ली के बॉर्डर खोले जाने पर भी हुआ फैसला.

लद्दाख में तनाव: भारत-चीन सेना के कमांडरों की मीटिंग में क्या हुआ, विदेश मंत्रालय ने बताया

6 जून को दोनों देशों के सेना के कमांडरों की मीटिंग करीब 3 घंटे तक चली थी.

पहले से फंसी 69000 शिक्षक भर्ती में अब पता चला, रुमाल से हो रही थी नकल!

शुरू से विवादों में रही 69 हजार शिक्षक भर्ती में जुड़ा एक और विवाद

'निसर्ग' चक्रवात क्या है और ये कितना ख़तरनाक है?

'निसर्ग' नाम का मतलब भी बता रहे हैं.