Submit your post

Follow Us

विराट कोहली के कप्तानी छोड़ने पर सचिन और गावस्कर को क्यों खींच लाए रवि शास्त्री?

टीम इंडिया के पूर्व हेड कोच रवि शास्त्री ने विराट कोहली के कप्तानी छोड़ने के फैसले का पूरा समर्थन किया है. रवि शास्त्री का कहना है कि सुनील गावस्कर और सचिन तेंदुलकर ने भी बैटिंग पर ध्यान देने के लिए कप्तानी छोड़ी थी. इसलिए कोहली ने जो भी फैसला लिया है. वो सही है. गौरतलब है कि T20I विश्वकप 2021 से ठीक पहले कोहली ने T20I टीम की कप्तानी छोड़ने का ऐलान किया था. कोहली ने वर्कलोड का हवाला देते हुए कप्तानी छोड़ी थी. और कहा था कि वह बैटिंग पर ध्यान देना चाहते हैं.

बता दें कि कोहली (Virat Kohli) ने IPL में RCB की कप्तानी भी छोड़ दी है. हाल ही में रवि शास्त्री ने ‘द वीक’ मैगज़ीन को इंटरव्यू दिया. इस दौरान उन्होंने अपने कोचिंग कार्यकाल और भविष्य की योजनाओं पर बात की. शास्त्री से जब कोहली के T20I कप्तानी छोड़ने के फैसले पर पूछा गया तो उन्होंने कहा,

‘सौ फीसदी, ये सर्वश्रेष्ठ लोगों के साथ होता है. मुझे याद है गावस्कर ने अपनी बल्लेबाजी पर ध्यान देने के लिए कप्तानी छोड़ दी थी. सचिन तेंदुलकर ने भी अपने करियर को बढ़ाने के लिए ये किया था.’

बता दें कि विराट कोहली बतौर T20I कप्तान काफी सफल रहे थे. कोहली के कुल 50 मैचों में देश की अगुवाई की. इस दौरान टीम इंडिया को 30 में जीत मिली. और 16 में हार. दो मैच टाई और दो मैच बेनतीजा भी रहे. T20I में कोहली की कप्तानी में भारत का जीत प्रतिशत लगभग 65 का रहा.

कोहली की कप्तानी की तारीफ करते हुए रवि शास्त्री ने आगे कहा,

विराट कोहली एक ऐसे कप्तान थे जो रणनीतिक तौर पर शानदार थे. लोग आपको हमेशा परिणामों के आधार पर जज करते हैं. या फिर लोग आपको इस बात पर जज करते हैं कि आपने कितने रन बनाए. उन्हें इस चीज़ में कोई दिलचस्पी नहीं कि आपने वो रन कैसे बनाए. कोहली ने अपने अंदर काफी सुधार किया है. वह एक खिलाड़ी के तौर पर काफी परिपक्व हुए हैं. टीम इंडिया का कप्तान होना आसान नहीं है. उन्होंने जो हासिल किया है उस पर उन्हें गर्व होना चाहिए.’

बताते चलें कि रवि शास्त्री के कार्यकाल में टीम इंडिया भले ही कोई ICC खिताब नहीं जीत सकी. लेकिन भारतीय टीम ने विदेशों में द्विपक्षीय सीरीज में ऐतिहासिक जीत हासिल की. ऑस्ट्रेलिया में लगातार दो मर्तबा टीम इंडिया ने टेस्ट सीरीज जीती. वनडे और T20I सीरीज में भी जीत हासिल की.

इसके अलावा न्यूज़ीलैंड की सरजमीं पर वनडे और T20I सीरीज जीती. शास्त्री के कार्यकाल में साउथ अफ्रीका में भारत ने लिमिटेड ओवर सीरीज पर कब्जा जमाया. इसके अलावा घर में कई द्विपक्षीय सीरीज में जीत हासिल की.


ऑस्ट्रेलिया ने मैच से तीन दिन पहले ही क्यों कर दी प्लेइंग XI की घोषणा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

ट्रैवल हिस्ट्री नहीं होने के बाद भी डॉक्टर के ओमिक्रॉन से संक्रमित होने पर डॉक्टर्स क्या बोले?

बेंगलुरु में 46 साल के एक डॉक्टर कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन से संक्रमित पाए गए हैं.

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

ये रिपोर्ट कान खड़े कर देगी.

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

इस्तीफे में पराग अग्रवाल के लिए क्या-क्या बोले जैक डोर्से?

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.