Submit your post

Follow Us

दूरदर्शन 'रामायण' के नाम पर हम सब से इतना बड़ा झूठ क्यों बोल रहा है?

पिछले दिनों ये खबर आई थी कि ‘रामायण’ इंडिया ही नहीं दुनिया का सबसे ज़्यादा देखा जाने वाला शो बन गया. दूरदर्शन ने अपने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से बाकायदा एक वीडियो शेयर करते हुए इस बात की जानकारी दी. लेकिन अब खबर ये आ रही है कि दूरदर्शन का वो दावा फर्जी था. यानी ‘रामायण’ नहीं, सबसे ज़्यादा देखे जाने वाले टीवी शो का रिकॉर्ड 80 के दशक में ही आने वाले अमेरिकी टीवी शो ‘मैश’ (MASH- Mobile Army Surgical Hospital) के नाम है.

रामायण Vs मैश!

30 अप्रैल को दूरदर्शन के हैंडल से जो ट्वीट आया, उसमें बताया गया था कि ‘रामायण’ गेम ऑफ थ्रोन्स (1.7 करोड़), ‘बिंग बैंग थ्योरी’ (1.8 करोड़) और ‘इंग्लिश प्रीमियर लीग’ (1.2 करोड़) जैसे इवेंट्स को पछाड़कर मोस्ट व्यूड टीवी शो एवर बन गया है. इंडिया में टीवी शोज़ की टीआरपी मापने वाली एजेंसी BARC (Broadcast Audience Research Council) की रिपोर्ट के मुताबिक 16 अप्रैल को लक्ष्मण और मेघनाद के बीच युद्ध वाले एपिसोड को 77 मिलियन यानी 7.7 करोड़ लोगों ने देखा. दूसरी तरफ न्यूज़ वेबसाइट लाइवमिंट में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक 28 फरवरी, 1983 को टीवी पर आए अमेरिकी टीवी शो ‘मैश’ के आखिरी एपिसोड को 106 मिलियन यानी 10.6 करोड़ लोगों ने टीवी पर देखा था. यानी दूरदर्शन ने ‘रामायण’ के वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने का जो दावा किया था, वो गलत था.

अमेरिकी टीवी शो 'मैश' का एक सीन. 1968 में आए इसी नाम के नॉवल से प्रेरित ये टीवी सीरीज़ कोरियन युद्ध (1950-53) के दौरान वहां मौजूद आर्मी डॉक्टर्स की एक टीम की कहानी दिखाती है.
अमेरिकी टीवी शो ‘मैश’ का एक सीन. 1968 में आए इसी नाम के नॉवल से प्रेरित ये टीवी सीरीज़ कोरियन युद्ध (1950-53) के दौरान वहां मौजूद आर्मी डॉक्टर्स की एक टीम की कहानी दिखाती है.

दूरदर्शन ने गलती कैसे कर दी?

लाइवमिंट ने इस मामले को विस्तार से समझने के लिए बार्क के चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर (COO) रोमिल रामगढ़िया से बात की. इस इंटरैक्शन में रोमिल ने बताया कि दूरदर्शन ने ये दावा ग्लांस की 2018 की एक रिपोर्ट के हवाले से किया था. ग्लांस के लिंक्डइन पेज डिस्क्रिप्शन के मुताबिक टीवी रेटिंग्स देने वाली एजेंसी है, जो 120 देशों के 7000 से ज़्यादा टीवी चैनल्स की रेटिंग देखती है. बकौल रोमिल, ग्लांस की रिपोर्ट ‘वन टीवी ईयर इन द वर्ल्ड’ को देखने के बाद ये पता लगता है कि ‘रामायण’ ने दुनियाभर के किसी भी टीवी शो बेहतर प्रदर्शन किया है. इसी आधार पर दूरदर्शन ने वो दावा कर दिया. लेकिन समस्या ये है कि वो रिपोर्ट सिर्फ 2018 की है. उसमें 2018 से पहले या उसके बाद के कोई आंकड़े नहीं हैं. रोमिल के मुताबिक बार्क ने कभी दूरदर्शन से वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने वाली बात का कोई ज़िक्र नहीं किया. उनका ये भी कहना है कि उन्होंने इस रेटिंग्स की दौड़ में ‘गेम ऑफ थ्रोन्स’ की भी चर्चा नहीं की थी.

'रामायण' का पोस्टर. इस टीवी शो को रामानंद सागर और उनके बेटे प्रेम सागर ने मिलकर बनाया था. रामानंद पहले फिल्म प्रोड्यूसर थे लेकिन बॉलीवुड में अंडरवर्ल्ड की बढ़ती धाक की वजह से उन्होंने फिल्में छोड़ टीवी में आने का मन बनाया है.
‘रामायण’ का पोस्टर. इस टीवी शो को रामानंद सागर और उनके बेटे प्रेम सागर ने मिलकर बनाया था. रामानंद पहले फिल्म प्रोड्यूसर थे लेकिन बॉलीवुड में अंडरवर्ल्ड की बढ़ती धाक की वजह से उन्होंने फिल्में छोड़ टीवी में आने का मन बनाया है.

इस फर्जीवाड़े पर दूरदर्शन ने क्या कहा?

इतनी सारी कंफ्यूज़न पर सफाई के लिए लाइवमिंट ने प्रसार भारती के सीईओ शशि शेखर से संपर्क किया. किस बिनाह पर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने की बात कही गई, शशि ने टेक्स्ट मैसेज पर इसका जवाब देते हुए लिखा-

”हमें ये पता है कि टीवी रेटिंग्स वाले खेल के बाहर भी बहुत सारे लोगों ने ये शो देखा है. मोबाइल टीवी सर्विसेज़, जिन पर डीडी के चैनल्स आते हैं, जैसे जियो टीवी और एमएक्स प्लेयर, उनके माध्यम से. अगर हम इन सभी आंकड़ों को जोड़कर ‘रामायण’ की व्यूअरशिप के बारे में बात करें, तो इसे लॉकडाउन के दौरान 200 मिलियन यानी 20 करोड़ से ज्यादा लोगों ने देखा है. मैं रिकॉर्ड वगैरह के फेर में नहीं पड़ूंगा, मगर लॉकडाउन के दौरान दोबारा इस महाकाव्य को देखने के लिए बहुत सारे परिवार एक साथ आए. लोगों को घर पर सुरक्षित रखने में ब्रॉडकास्टिंग सर्विस ने अपना काम काफी प्रभावी तरीके से किया.”

मतलब ये कि इस पूरे कंफ्यूज़न पर दूरदर्शन का जवाब भी काफी गोलमोल रहा. खैर, अगर लॉकडाउन के दौरान दूरदर्शन के व्यूअरशिप की बात करें, तो जनवरी में इसे जहां 9 मिलियन यानी 90 लाख लोगों ने देखा, वहीं मार्च के आखिर में इसकी व्यूअरशसिप 545 मिलियन यानी 54 करोड़ के आसपास पहुंच गई. और इसमें ‘रामायण’, ‘महाभारत’ समेत 80-90 के दशक के तमाम हिट शोज़ की वापसी का बड़ा हाथ रहा.


वीडियो देखें: रामायण सीरियल वाले राम-लक्ष्मण, सीता और रावण अब क्या करते हैं?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

हैदराबाद में भारी बारिश से सड़कों पर भरा पानी, परीक्षाएं टलीं, 11 लोगों की मौत

हैदराबाद में भारी बारिश से सड़कों पर भरा पानी, परीक्षाएं टलीं, 11 लोगों की मौत

एनडीआरएफ की टीम मदद में जुटी. लोगों से घरों में रहने की अपील.

सीएम जगनमोहन ने सुप्रीम कोर्ट के जज एनवी रमना की शिकायत चीफ जस्टिस से क्यों कर दी?

सीएम जगनमोहन ने सुप्रीम कोर्ट के जज एनवी रमना की शिकायत चीफ जस्टिस से क्यों कर दी?

ये पूरा मामला तो वाकई हैरान कर देने वाला है.

फारुख अब्दुल्ला बोले- चीन के सपोर्ट से दोबारा लागू किया जाएगा अनुच्छेद 370

फारुख अब्दुल्ला बोले- चीन के सपोर्ट से दोबारा लागू किया जाएगा अनुच्छेद 370

कहा- आर्टिकल 370 को हटाया जाना चीन कभी स्वीकार नहीं करेगा.

पीएम मोदी ने जिस स्वामित्व योजना की शुरुआत की है, उसके बारे में जान लीजिए

पीएम मोदी ने जिस स्वामित्व योजना की शुरुआत की है, उसके बारे में जान लीजिए

2024 तक देश के 6.62 लाख गांवों तक सुविधा पहुंचाने का लक्ष्य है.

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री ने CJI को चिट्ठी लिखी, सुप्रीम कोर्ट के जज एनवी रमन्ना पर लगाए गंभीर आरोप

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री ने CJI को चिट्ठी लिखी, सुप्रीम कोर्ट के जज एनवी रमन्ना पर लगाए गंभीर आरोप

जस्टिस एनवी रमन्ना अगले संभावित चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया बन सकते हैं.

TRP स्कैम: FIR में इंडिया टुडे टीवी का नाम आने पर मुंबई पुलिस ने क्या कहा है?

TRP स्कैम: FIR में इंडिया टुडे टीवी का नाम आने पर मुंबई पुलिस ने क्या कहा है?

रिपब्लिक टीवी का आरोप है कि FIR में इंडिया टुडे टीवी का नाम आने पर एक्शन नहीं लिया गया.

IPL 2020: मयंक-राहुल के विकेट से नहीं, इन छह गेंदों से हार गया पंजाब

IPL 2020: मयंक-राहुल के विकेट से नहीं, इन छह गेंदों से हार गया पंजाब

सीजन बदला पर पंजाब की हालत नहीं.

मुंबई पुलिस का दावा, पैसे देकर TRP खरीदता है रिपब्लिक टीवी

मुंबई पुलिस का दावा, पैसे देकर TRP खरीदता है रिपब्लिक टीवी

रैकेट में दो और चैनलों के भी नाम हैं, उनके मालिक गिरफ्तार कर लिए गए है.

दो बार छह छ्क्के लगा चुका वह भारतीय, जिसे करोड़पति बनना रास ना आया

दो बार छह छ्क्के लगा चुका वह भारतीय, जिसे करोड़पति बनना रास ना आया

गणित के मास्टर भी हैं CSK को पीटने वाले राहुल त्रिपाठी.

आधी रात को क्यों जलाई थी हाथरस विक्टिम की बॉडी, यूपी सरकार ने अब बताया है

आधी रात को क्यों जलाई थी हाथरस विक्टिम की बॉडी, यूपी सरकार ने अब बताया है

साथ ही ये भी बताया कि 14 सितंबर से अब तक क्या-क्या किया.