Submit your post

Follow Us

कोरोना जांच के लिए सैंपल ले रहे थे, नाक में टूट गई स्वाब स्टिक, 6 घंटे तक मरीज रहा परेशान

कोरोना जांच के लिए सैंपल लेने के दौरान लापरवाही का मामला सामने आया है. मामला राजस्थान के जालौर जिले का है. यहां पर सैंपल लेने के दौरान स्वाब स्टिक टूटकर नाक में फंस गई. इसे निकालने में करीब छह घंटे लगे. बाद में एक प्राइवेट अस्पताल में टूटी हुई स्टिक को नाक से निकाला जा सका.

कब, कहां, कैसे हुई घटना

इंडिया टुडे के नरेश खिलेरी ने बताया कि घटना 4 जून की शाम की है. जालौर के थलवाड़ प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में एक युवक का सैंपल लिया जा रहा था. इसी दौरान स्वाब स्टिक टूट गई और नाक में फंस गई. स्टिक को निकालने के लिए पहले युवक को सायला के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया. लेकिन डॉक्टर स्टिक को नहीं निकाल पाए. इसके बाद युवक को जालौर रैफर किया गया. यहां पर एक प्राइवेट अस्पताल में युवक को भर्ती कराया गया. करीब डेढ़ घंटे की मेहनत के बाद स्टिक को निकाला गया.

स्टिक निकालने वाले डॉक्टर विजय चौधरी के अनुसार, पहले जो कोशिशें की गई थी, उनके चलते स्टिक अंदर चली गई थी. इस वजह से काफी परेशानी हुई. करीब डेढ़ घंटे बाद स्टिक निकाली गई.

युवक के नाक से निकाली गई कोरोना सैंपल स्टिक. (Photo: Naresh Khileri)
युवक के नाक से निकाली गई कोरोना सैंपल स्टिक. (Photo: Naresh Khileri)

क्या है स्वाब स्टिक

कोरोना जांच के लिए नाक और गले से सैंपल लिया जाता है. सैंपल एक पतली सी स्टिक से लिया जाता है. इस स्टिक के आगे रूई लगी होती है. इसके जरिए नाक और गले में मौजूद खंखार का सैंपल कलेक्ट होता है. बाद में इसी की जांच से कोरोना होने या ने होने का पता चलता है.

किसी पर कार्रवाई हुई?

मामले में लैब टेक्नीशियन प्रमोद शर्मा पर कार्रवाई की गई. शर्मा को लापरवाही से काम करने के चलते पद से हटाकर सब डिवीजन हेडक्वार्टर भेजा गया है. साथ ही मामले की जांच के आदेश भी दिए गए हैं. इस मामले में थलवाड़ प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी दूदाराम ने कहा कि सैंपल सही तरीके से लिया जा रहा था. लेकिन युवक की नाक में टेढ़ापन था. इस वजह से स्टिक टूट गई.

राजस्थान पत्रिका की खबर के अनुसार, चीफ मेडिकल और हेल्थ ऑफिसर (सीएमएचओ) डॉ. गजेंद्र सिंह ने कहा कि मामले की जांच के आदेश दिए गए हैं. दो दिन में कमिटी से रिपोर्ट देने को कहा है. कमिटी में तीन डॉक्टरों को शामिल किया गया है.

भारत में कोरोना वायरस के मामलों का स्टेटस


Video: क्या दिल्ली के अस्पताल नहीं कर रहे कोरोना जांच?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

'निसर्ग' चक्रवात क्या है और ये कितना ख़तरनाक है?

'निसर्ग' नाम का मतलब भी बता रहे हैं.

कोरोना काल में क्रिकेट खेलने वाले मनोज तिवारी ‘आउट’

दिल्ली में हार के बाद बीजेपी का पहला बड़ा फैसला.

1 जून से लॉकडाउन को लेकर क्या नियम हैं? जानिए इससे जुड़े सवालों के जवाब

सरकार ने कहा कि यह 'अनलॉक' करने का पहला कदम है.

3740 श्रमिक ट्रेनों में से 40 प्रतिशत ट्रेनें लेट रहीं, रेलवे ने बताई वजह

औसतन एक श्रमिक ट्रेन 8 घंटे लेट हुई.

कंटेनमेंट ज़ोन में लॉकडाउन 30 जून तक बढ़ाया गया, बाकी इलाकों में छूट की गाइडलाइंस जानें

गृह मंत्रालय ने कंटेनमेंट ज़ोन के बाहर चरणबद्ध छूट को लेकर गाइडलाइंस जारी की हैं.

मशहूर एस्ट्रोलॉजर बेजान दारूवाला नहीं रहे, कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी

बेटे ने कहा- निमोनिया और ऑक्सीजन की कमी से हुई मौत.

लॉकडाउन-5 को लेकर किस तरह के प्रपोज़ल सामने आ रहे हैं?

कई मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि 31 मई के बाद लॉकडाउन बढ़ सकता है.

क्या जम्मू-कश्मीर में फिर से पुलवामा जैसा अटैक करने की तैयारी में थे आतंकी?

सिक्योरिटी फोर्स ने कैसे एक्शन लिया? कितना विस्फोटक मिला?

लद्दाख में भारत और चीन के बीच डोकलाम जैसे हालात हैं?

18 दिनों से भारत और चीन की फौज़ आमने-सामने हैं.

शादी और त्योहार से जुड़ी झारखंड की 5000 साल पुरानी इस चित्रकला को बड़ी पहचान मिली है

जानिए क्या खास है इस कला में.