Submit your post

Follow Us

दिल्ली में कॉन्स्टेबल ने ट्रेन के नीचे कुचलने से महिलाओं-बच्चों को बचाया, लेकिन खुद नहीं बच पाया

ख़ुशी होती है जब इस मतलबी जहान में कोई दूसरों के लिए जीता है. और ज़्यादा ख़ुशी होती है जब किसी ऐसे शख्स से मिलो जो दूसरे के लिए जान भी दे सकता है. लेकिन दोस्तो यकीन करो दुःख, बहुत दुःख होता है, जब ऐसे किसी नेकदिल इंसान की ज़िन्दगी चली जाती है. खूब मतलबी होकर सोचो तो भी, एक टीस उठती है कि अगर ये इंसान ज़िंदा होता तो हमारी दुनिया थोड़ी और खूबसूरत होती. तो ऐसे ही एक इंसान की मौत से मन बहुत व्यथित है.

आज तक के पत्रकार हिमांशु मिश्रा के अनुसार दिल्ली के आजादपुर इलाके में ऐसी घटना हुई कि जिससे यकीन हो गया कि दुनिया बची रहेगी, क्यूंकि अच्छे लोग उसे बचाने के लिए मारे जाएंगे.

जगबीर सिंह राणा. ये नाम है उस कांस्टेबल का जिसने बच्चों को बचाते हुए अपनी जान की आहुति दे दी.

रेलवे सुरक्षा बल के अधिकारियों के अनुसार कांस्टेबल जगबीर सिंह राणा की नाईट शिफ्ट चल रही थी – शाम के 8 बजे से लेकर अगले दिन के सुबह के 8 बजे तक.

सोमवार को रात साढ़े नौ बजे का समय रहा होगा. जगबीर की ड्यूटी आजादपुर रेलवे ट्रैक पर सिग्नल 7 के पास थी. सिग्नल ग्रीन था. उनके सामने ट्रैक पर एक नहीं बल्कि दोनों तरफ से ट्रेन आ रही थी. एक ट्रेन होशियारपुर दिल्ली से अम्बाला जा रही थी और दूसरी कालका से नई दिल्ली की तरफ. तभी जगबीर राणा की नजर ट्रैक पर कर रहे दो-तीन बच्चों और महिलाओं पर पड़ी.

इन लोगों को अम्बाला जा रही ट्रेन तो दिख रही थी पर कालका शताब्दी नजर नहीं आई. यही बात बताने के लिए जगबीर तेज़ी से उनकी तरफ दौड़े. वो चिल्ला भी रहे थे लेकिन ट्रेन की तेज़ आवाज़ के चलते किसी ने भी जगबीर को नहीं सुना.

जैसे-तैसे जगबीर उन तक पहुंच गए और बच्चों और महिलाओं को ट्रैक से दूर धकेल दिया. और इस दौरान इससे पहले कि वो खुद को बचा पाते, ट्रेन उनको रौंद कर चल दी.

जगबीर ऑरिजिनली सोनीपत, हरियाणा निवासी थे और उनकी उम्र 50 वर्ष थी . रेलवे पुलिस बल के अधिकारियों ने बताया कि –

इंजन से जगबीर के कंधे पर टक्कर लगी और वो उछल कर दूर गिर गए. इसकी वजह से उनके सिर पर गंभीर चोट लग गई और उनकी मौत हो गई. पुलिस बल उनके परिवार की पूरी मदद करेगा.


वीडियो देखें –

‘मायावती और मुलायम भाई-बहन हैं, झगड़ा तो होता रहता है’ –

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

यूपी: मुर्दाघर के फ्रीजर में जीवित पाए गए श्रीकेश को बचाया नहीं जा सका!

यूपी: मुर्दाघर के फ्रीजर में जीवित पाए गए श्रीकेश को बचाया नहीं जा सका!

मेरठ में इलाज के दौरान श्रीकेश की मौत हो गई.

न्यूज़ीलैंड के खिलाफ़ विराट की जगह किस खिलाड़ी का खेलना हुआ तय?

न्यूज़ीलैंड के खिलाफ़ विराट की जगह किस खिलाड़ी का खेलना हुआ तय?

गुरुवार सुबह होगा डेब्यू.

रहाणे ने बताया विराट-रोहित का ना होना कैसे है टीम इंडिया के लिए अच्छा?

रहाणे ने बताया विराट-रोहित का ना होना कैसे है टीम इंडिया के लिए अच्छा?

कप्तान ने एक और अहम सवाल का जवाब दिया है.

सुब्रमण्यम स्वामी ने किस 'दुर्लभ गुण' की वजह से ममता बनर्जी की तुलना पूर्व प्रधानमंत्रियों से कर डाली?

सुब्रमण्यम स्वामी ने किस 'दुर्लभ गुण' की वजह से ममता बनर्जी की तुलना पूर्व प्रधानमंत्रियों से कर डाली?

चर्चा गरम है कि सुब्रमण्यम स्वामी TMC में जाने वाले हैं.

परमबीर सिंह का पता चल गया, खुद बताया कहां है ठिकाना

परमबीर सिंह का पता चल गया, खुद बताया कहां है ठिकाना

अपने खिलाफ दर्ज मामलों की जांच में जल्दी ही शामिल होंगे परमबीर सिंह.

PWD के जूनियर इंजीनियर के घर के पाइप से मिले बाल्टीभर नोट, लोगों को याद आए अनुराग कश्यप

PWD के जूनियर इंजीनियर के घर के पाइप से मिले बाल्टीभर नोट, लोगों को याद आए अनुराग कश्यप

कुछ को अजय देवगन की भी याद आ गई!

WBBL में इतिहास रचने के बाद BCCI से क्या चाहती हैं हरमनप्रीत?

WBBL में इतिहास रचने के बाद BCCI से क्या चाहती हैं हरमनप्रीत?

हरमनप्रीत बाकी खिलाड़ियों के लिए मिसाल हैं.

UP चुनाव: गठबंधन की दिशा में AAP और सपा, संजय सिंह ने अखिलेश से मुलाकात के बाद क्या बताया?

UP चुनाव: गठबंधन की दिशा में AAP और सपा, संजय सिंह ने अखिलेश से मुलाकात के बाद क्या बताया?

AAP ने यूपी चुनाव अपने दम पर लड़ने की बात कही थी, उसका क्या?

शेड्यूल आने से पहले जान लीजिए किस तारीख से शुरू हो रहा है IPL 2022!

शेड्यूल आने से पहले जान लीजिए किस तारीख से शुरू हो रहा है IPL 2022!

कितने होंगे मैच, कब होगा फाइनल, सारी जानकारी.

कानपुर में सपा नेता की दबंगई, थाने के अंदर दरोगा को बिल्ला नोचने की धमकी दी

कानपुर में सपा नेता की दबंगई, थाने के अंदर दरोगा को बिल्ला नोचने की धमकी दी

इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है