Submit your post

Follow Us

एक्टर करण ओबेरॉय छूट गए, रेप का आरोप लगाने वाली लड़की को ही पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया

17
शेयर्स

एक्टर-सिंगर करण ओबेरॉय को 6 मई, 2019 को गिरफ्तार कर लिया गया था. करण पर एक महिला ने रेप और ब्लैकमेलिंग का आरोप लगाया था. करण को इस मामले में 7 जून को बेल मिली है. अब खबर ये है कि पुलिस ने करण पर आरोप लगाने वाली लड़की को गिरफ्तार कर लिया है. करण पर झूठे इल्जाम लगाने और खुद पर फर्जी हमला करवाने के मामले में.

न्यूज़ एजेंसी आइएएनएस (IANS) की रिपोर्ट के मुताबिक इस महिला ने बताया था कि 25 मई को दो बाइकसवारों ने उन पर हमला किया. और उनके पास एक पर्ची (नोट) छोड़ गए. जिस पर लिखा था कि अगर उन्होंने करण के खिलाफ केस वापस नहीं लिया, तो उनके चेहरे पर एसिड फेंक देंगे. इस घटना के कुछ ही दिन बाद पुलिस ने उन दोनों हमलावरों को गिरफ्तार कर लिया. उनसे पूछताछ करने पर पता चला कि एक हमलावर करण के खिलाफ केस करने वाली महिला की वकील का रिश्तेदार है. साथ ही उन हमलावरों ने ये भी बताया कि ये हमला प्लान करके किया गया था, जिसके लिए उन्हें 10 हज़ार रुपए दिए गए थे.

इसके बाद ओशिवाडा पुलिस ने आरोप लगाने वाली महिला को गिरफ्तार कर लिया है. इस गिरफ्तारी की पुष्टि डीसीपी मंजुनाथ सिंह ने की है. इससे पहले ‘जस्सी जैसी कोई नहीं’ फेम एक्टर करण ओबेरॉय को गिरफ्तार कर उनके खिलाफ मुंबई के ओशीवाडा थाने में धारा 376 (रेप) और 384 (जबरन वसूली) के तहत मुकदमे दर्ज कर लिया गया था. इसके बाद उन्हें मजिस्ट्रेट कोर्ट में पेश किया गया और 9 मई तक पुलिस कस्टडी में भेज दिया गया था. 6 मई को जब कोर्ट में ये सब चल रहा था, तो करण ने अपने ऊपर लगे सभी इल्जामों को गलत बताया और भरे कोर्ट में रो पड़े.

करण ओबेरॉय टीवी पर ‘जस्सी जैसी कोई नहीं’, ‘साया’, ‘दिशाएं’, ‘टाइटन अंताक्षरी’ और ‘द ग्रेट इंडियन लाफ्टर शो’ जैसे शोज़ का हिस्सा रह चुके हैं.
करण ओबेरॉय टीवी पर ‘जस्सी जैसी कोई नहीं’, ‘साया’, ‘दिशाएं’, ‘टाइटन अंताक्षरी’ और ‘द ग्रेट इंडियन लाफ्टर शो’ जैसे शोज़ का हिस्सा रह चुके हैं.

करण लगातार कहते आ रहे थे कि ये लड़की उन्हें जानबूझकर फर्जी केस में फंसाने की कोशिश कर रही है. करण ने बताया था कि वो इस लड़की से एक डेटिंग एप के ज़रिए मिले थे. इसके बाद से वो उन्हें लगातार परेशान करती रहीं. करण के म्यूज़िक बैंड के साथियों ने करण का पक्ष रखने के लिए एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी. यहां उन्होंने एक मैसेज पढ़कर सुनाया, जो आरोप लगाने वाली लड़की ने करण को भेजा था. इसमें उन्होंने करण से पूछा था कि क्या वो बिना फ्यूचर और इमोशन के बारे में सोचे उनके साथ शारीरिक संबंध बना सकते हैं? ये उनकी फिज़िकल जरूरत है लेकिन वो किसी और के साथ ये सब नहीं करना चाहतीं. इसके जवाब में करण ने लिखा कि फिलहाल वो इस तरह की मानसिक स्थिति में नहीं है. वो अपने करियर पर ध्यान देने में लगे हुए हैं.

अपने बैंड के साथियों के साथ करण (सबसे बाएं).
अपने बैंड के साथियों के साथ करण (सबसे बाएं).

इस घटना के बाद से लड़की ने करण को परेशान करना शुरू कर दिया. और बकौल करण के बैंड मेंबर्स ये सब कुछ प्लानिंग के साथ किया गया है. अगर ऐसा नहीं होता, तो वो महिला केस करने के लिए ऐसा समय नहीं चुनतीं जब कोर्ट की छुट्टी रहे और करण को बेल न मिल पाए. हालांकि अब करण को बेल मिल गई है. अपने साथ घटी इस तरह की घटना की वजह से करण #Metoo के बाद #MenToo कैंपेन के समर्थन में खड़े हो गए हैं. उनका मानना है कि सिर्फ महिलाएं ही नहीं पुरुषों को भी हैरस किया जाता रहा है और अब हमें इसके खिलाफ भी आवाज़ उठानी पड़ेगी.


वीडियो देखें: करन ओबेरॉय की बहन पूजा बेदी ने उनके बारे में अपना पक्ष रखा है

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Police arrests the woman who accused actor singer Karan Oberoi of rape and for faking assault on herself

टॉप खबर

CM नीतीश कुमार अस्पताल में थे, बच्चे की मौत हो गई

चमकी कहें या इंसेफेलाइटिस, अब तक 129 बच्चों की मौत हो चुकी है.

मनमोहन सिंह को राज्य सभा में भेजने के लिए कांग्रेस ये तिगड़म भिड़ा रही है

अपना एक मात्र चुनाव हारने वाले मनमोहन सिंह पिछले 28 साल में पहली बार संसद के सदस्य नहीं होंगे.

राजीव गांधी के हत्यारे ने संजय दत्त की मुश्किलें बढ़ा दी हैं

जेल में बंद पेरारिवलन ने संजय दत्त से जुड़ी बहुत सी जानकारी इकट्ठी की है.

कठुआ केस के छह दोषियों को क्या सज़ा मिली?

अदालत ने सात में से छह आरोपियों को दोषी माना था. मास्टरमाइंड सांजी राम का बेटा विशाल बरी हो गया.

कठुआ केस में फैसला आ गया है, एक बरी, छह दोषी करार

दोषियों में तीन पुलिसवाले भी शामिल हैं.

पांच साल की बच्ची से रेप किया और फिर ईंटों से कूंचकर मार डाला

उज्जैन में अलीगढ़ जैसा कांड, पड़ोसी ही निकला हत्यारा...

अफगानिस्तान किन गलतियों से श्रीलंका से जीता-जिताया मैच हार गया?

मलिंगा का तो जोड़ नहीं.

क्या चुनावी नतीजे आने के 10 दिनों के अंदर यूपी में 28 यादवों की हत्या हुई है?

28 नामों की एक लिस्ट वायरल हो रही है. लेकिन सच क्या है?

मायावती ने ऐसा क्या कह दिया कि फिलहाल गठबंधन को टूटा मान लेना चाहिए

प्रेस कांफ्रेंस में मायावती ने गठबंधन तोड़ने का सीधा ऐलान तो नहीं किया, लेकिन बहुत कुछ कह गयीं.

चुनाव नतीजे आए दस दिन हुए नहीं, मायावती ने गठबंधन पर सवाल उठा दिए

वो भी तब जब मायावती के पास जीरो से बढ़कर दस सांसद हो गए हैं