Submit your post

Follow Us

कोरोना: पीएम मोदी ने दिए बिजनेस के पांच मंत्र, कहा- भारत को सबसे आगे होना चाहिए

पीएम नरेंद्र मोदी ने 19 अप्रैल को एक लेख लिखा. लिंक्डइन पर लेख में उन्होंने कोरोना वायरस के बाद की दुनिया के बारे में लिखा है. इसका शीर्षक है- Life in the era of COVID-19. यानी कोरोना वायरस के युग में जीवन. इसमें पीएम मोदी ने कॉर्पोरेट जगत को नई संभावनाओं को लेकर तैयार रहने को कहा. लोगों से अपील की है कि वे भारत में नए बिजनेस और वर्क कल्चर तैयार करें.

पीएम ने अंग्रेजी भाषा के पांच स्वरों A,E,I,O,U के आधार पर बिजनेस के नए जरूरी तत्व बताए. ये हैं-

A- अडैप्टबिलटी यानी अनुकूलनशीलता

पीएम ने कहा कि इस तरह के बिजनेस मॉडल की जरूरत है, जो आसानी से प्रयोग में लाया जा सके. जिससे कि संकट के समट में काम जारी रहे. जानमाल का नुकसान न हो. डिजिटल पेमेंट और टेलीमेडिसीन इस तरह के एक उदाहरण हैं. दुनिया नए बिजनेस मॉडल की तलाश में है. भारत एक युवा देश है. यह नया वर्क कल्चर तैयार कर सकता है.

E- एफिशिएंसी यानी कुशलता

पीएम ने कहा कि संभवतया यही वह समय है, जब हमें कुशलता पर ध्यान देना चाहिए. एफिशिएंसी का मतलब यह नहीं है कि आप दफ्तर में कितना समय देते हैं. ऐसा मॉडल होना चाहिए, जिसमें प्रयासों से ज्यादा उत्पादन और कुशलता नज़र आए. तय समय में काम पूरा करने पर जोर होना चाहिए.

I- इन्क्लूजिविटी यानी समावेशी

पीएममोदी ने कहा कि ऐसा बिजनेस मॉडल हो, जिसमें गरीब की चिंता हो. कोरोना वायरस के चलते हमें अहसास हुआ है कि सस्ते, लेकिन बड़े स्तर के इलाज पर काम करने की जरूरत है. हम ऐसा मॉडल तैयार करना चाहिए कि किसान की फसल सही कीमत पा सके. और लोगों को जरूरी सामान की किल्लत न झेलनी पड़े.


O- अपॉर्चुनिटी यानी अवसर

उन्होंने कहा कि प्रत्येक संकट एक अवसर लाता है. कोरोना वायरस भी इससे अलग नहीं है. हमें देखना होगा कि कौन से ऐसे क्षेत्र हैं, जो आने वाले समय में उभर सकते हैं. कोरोना के बाद की दुनिया में भारत को पिछलग्गू बनने के बजाए सबसे आगे होना चाहिए.

U- यूनिवर्सलिज्म यानी सार्वभौमिकता

पीएम ने कहा कि कोरोना वायरस नस्ल, धर्म, रंग, जाति, वर्ण, भाषा या सीमा नहीं देखता है. इसलिए हमारा रेस्पॉन्स एकता और भाईचारे के लिए होना चाहिए. कोरोना वायरस ने प्रोफेशनल जिंदगी में बड़ा बदलाव किया है. अब घर ही ऑफिस बन गए हैं. इंटरनेट ही मीटिंग रूम है. कुछ समय के लिए साथियों के साथ ऑफिस में लिया जाने वाले ब्रेक इतिहास बन गया है. फिजिकल और वर्चुअल के मिश्रण से कोरोना के बाद की दुनिया में भारत सप्लाई चैन का केंद्र बन सकता है. हमें इस मौके का आगे बढ़कर फायदा उठाना चाहिए.

इसके अलावा पीएम ने कहा

– भारत से आने वाले नए विचार दुनिया के लिए उपयुक्त होने चाहिए. इनमें पॉजिटिव बदलाव लाने की क्षमता होना चाहिए.

– तकनीक का सबसे ज्यादा असर गरीब पर पड़ता है. तकनीक नौकरशाही की हाइरार्की को तोड़ती है. बिचौलियों को दूर करती है और कल्याणकारी कदमों को बढ़ाती है.

– 2014 में एनडीए सरकार बनने के बाद से हमने लोगों को जन धन खातों, आधार और मोबाइल को आपस में जोड़ा. इससे भ्रष्टाचार रुका. एक बटन दबाने से लोगों के खातों में सरकार से पैसे आ गए.

– इससे कोरोना के समय भी गरीब और जरूरतमंद लोगों तक पैसा पहुंचाने में मदद मिली.

– आज हम सब मिलकर एक ही चुनौती का सामना कर रहे हैं. आने वाला समय हमारी एकजुटता और जुझारूपन का होगा.

– इन सबके बीच फिटनेस और एक्सरसाइज़ को भी समय दीजिए. शारीरिक और मानसिक सेहत के लिए योग कीजिए.

भारत में कोरोना वायरस के मामलों का स्टेटस


Video: आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और छत्तीसगढ़ ने रैपिड टेस्ट किट्स खरीदी, पर दाम में अंतर क्यों है?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह नहीं रहे, पीएम मोदी ने कहा-

पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह नहीं रहे, पीएम मोदी ने कहा- "बातें याद रहेंगी"

जसवंत सिंह अटल सरकार के कद्दावर मंत्रियों में से थे.

IPL2020 के जरिए टीम इंडिया में आएगा फाजिल्का का ये लड़का?

IPL2020 के जरिए टीम इंडिया में आएगा फाजिल्का का ये लड़का?

सबकी उम्मीदें शुभमन गिल से लगी है.

आप दीपिका और रकुल प्रीत में उलझे रहे और राजस्थान में इतना बड़ा कांड हो गया!

आप दीपिका और रकुल प्रीत में उलझे रहे और राजस्थान में इतना बड़ा कांड हो गया!

दो दिन से बवाल चल रहा है.

मोदी सरकार ने भ्रष्टाचार रोकने वाले इस क़ानून को जरूरी बनाने की बात से पलटी मार ली

मोदी सरकार ने भ्रष्टाचार रोकने वाले इस क़ानून को जरूरी बनाने की बात से पलटी मार ली

और यह जानकारी ख़ुद सरकार ने दी है.

किसान कर्फ्यू से पहले किसानों ने कहां-कहां ट्रेन रोक दी है?

किसान कर्फ्यू से पहले किसानों ने कहां-कहां ट्रेन रोक दी है?

कई ट्रेनों को कैंसिल किया गया, कई के रूट बदले गए.

केंद्रीय मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोविड-19 से निधन

केंद्रीय मंत्री सुरेश अंगड़ी का कोविड-19 से निधन

दिल्ली के एम्स में उनका इलाज चल रहा था.

धोनी का वर्ल्ड कप जिताने वाला सिक्सर याद है! वो अब स्टेडियम में अमर होने वाला है

धोनी का वर्ल्ड कप जिताने वाला सिक्सर याद है! वो अब स्टेडियम में अमर होने वाला है

भारत में किसी खिलाड़ी को जो मुकाम हासिल नहीं हुआ, वो अब धोनी को मिलने वाला है.

अंतरिक्ष में भी लद्दाख जैसी हरकतें कर रहा है चीन

अंतरिक्ष में भी लद्दाख जैसी हरकतें कर रहा है चीन

भारत के सैटेलाइट पर है ख़तरा!

चुनाव लड़ने के लिए गुप्तेश्वर पांडे ने दूसरी बार पुलिस सेवा से रिटायरमेंट ले ली है

चुनाव लड़ने के लिए गुप्तेश्वर पांडे ने दूसरी बार पुलिस सेवा से रिटायरमेंट ले ली है

2009 में भी गुप्तेश्वर पांडे ने वीआरएस लिया था, पर तब बीजेपी ने टिकट नहीं दिया था.

दिल्ली दंगे के लिए पुलिस ने अब इस ग्रुप को जिम्मेदार ठहराया है

दिल्ली दंगे के लिए पुलिस ने अब इस ग्रुप को जिम्मेदार ठहराया है

चार्जशीट में दिल्ली पुलिस ने और क्या कहा है?