Submit your post

Follow Us

G7 में PM मोदी ने बताया, कोरोना के बाद दुनिया को किस स्लोगन के साथ आगे बढ़ना चाहिए

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 12 जून को G7 समिट को वर्चुअली संबोधित किया. ये G7 समिट का पहला आउटरीच सेशन था, जिसमें सदस्य देशों के अलावा कुछ अतिथि देशों को भी शामिल किया गया था. इन अतिथि देशों में भारत के अलावा ऑस्ट्रेलिया, साउथ कोरिया भी शामिल हैं. समिट 11 से 13 जून तक चलनी है.

G7 में प्रधानमंत्री के संबोधन का मुख्य विषय कोविड-19 ही रहा. मोदी जिस सेशन में बोल रहे थे, उसका नाम ही ‘Building back stronger-Health’ रखा गया था, जिसमें महामारी के दौर में देशों के साथ आने की अपील की गई. मोदी के संबोधन के बाद PMO की तरफ से स्टेटमेंट जारी कर बताया गया कि G7 में क्या-क्या बात हुईं. इसके मुताबिक प्रधानमंत्री ने महामारी के ख़िलाफ़ लड़ाई में भारत के अलग-अलग समाजों के साथ आने की बात पर जोर दिया. बताया कि किस तरह सरकार, इंडस्ट्रीज़ और सिविल सोसायटी इस मुश्किल वक्त में साथ आए. उन्होंने भारत के साथ ही दुनिया की भी स्वास्थ्य सेवाओं को मजबूत करने पर जोर दिया और कहा कि इस समय दुनिया को ‘One Earth, One Health’ का स्लोगन लेकर आगे बढ़ना चाहिए, जिसमें सारी दुनिया साथ मिलकर लोगों को बेहतर से बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं देने की दिशा में काम करे. इसके अलावा G7 नेताओं ने भी कोविड-19 से निपटने को ही इस समय दुनिया की प्राथमिकता माना और कहा कि सभी को मिलकर ऐसे प्लान पर काम करना चाहिए, जिससे महामारी को 100 दिन के भीतर रोका जा सका.

PMO की तरफ से जारी स्टेटमेंट में कहा गया है कि –

“PM मोदी ने संबोधन के दौरान बताया कि भारत ने किस तरह अपने ओपन सोर्स डिजिटल टूल को कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग और वैक्सीन मैनेजमेंट के लिए इस्तेमाल किया है. साथ ही उन्होंने कहा कि अगर दुनिया के विकसित देश चाहें तो भारत अपना ये अनुभव उनके साथ साझा भी कर सकता है.”

मुमकिन है कि यहां ओपन सोर्स डिजिटल टूल से प्रधानमंत्री का तात्पर्य आरोग्य सेतु ऐप से रहा हो.

इसके अलावा PM ने TRIPS वेवर की भी बात की. TRIPS माने Trade Related Aspects of Intellectual Property Rights. इसके तहत कहा गया कि सभी देश कोविड के ख़िलाफ़ इस्तेमाल हो रही तमाम टेक्नॉलजी को दूसरे देशों के साथ साझा करें.

क्या है G7?

G7,जो कि ग्रुप ऑफ़ सेवन का ज़्यादा प्रचलित शॉर्टकट है. हर साल गर्मियों में G7 का सालाना सम्मेलन होता है. G7 के सदस्य देश हैं – अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस, इटली, जापान, जर्मनी और कनाडा. इसकी शुरुआत 1975 में छह देशों के बनाए ‘ग्रुप ऑफ़ सिक्स’ से हुई थी. इसमें कनाडा के अलावा बाकी छह देश शामिल थे. बाद में 1976 में कनाडा के आ जाने से ग्रुप ऑफ सिक्स तब्दील हो गया ग्रुप ऑफ सेवन में. यानी G7 में. 1991 में सोवियत संघ का विघटन होने के सात साल बाद 1998 में रूस भी इनके साथ आ गया. अब ये समूह हो गया ग्रुप ऑफ़ ऐट. बाद में रूस को इससे हटा दिया गया और ये वापस G7 ही बचा.


यूपी को तोड़कर पूर्वांचल राज्य बनाने की तैयारी कर रही है मोदी सरकार?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पंजाब चुनाव: अकाली दल और बसपा गठबंधन का ऐलान, कितनी सीटों पर लड़ेगी मायावती की पार्टी?

पंजाब के अलावा बाकी चुनाव भी साथ लड़ने की घोषणा.

TMC में घर वापसी करने वाले मुकुल रॉय ने 4 साल बाद बीजेपी छोड़ने का फैसला क्यों लिया?

मुकुल रॉय को बराबर में बिठाकर ममता बनर्जी किन गद्दारों पर भड़कीं?

लक्षद्वीप: किस एक बयान के बाद फिल्म निर्माता आयशा सुल्ताना पर राजद्रोह का केस हो गया?

पहले TV डिबेट में बोला, फिर फेसबुक पर पोस्ट लिखा.

कोरोना वैक्सीन लेने के बाद शरीर से सिक्के-चम्मच चिपकने के दावों में कितना सच?

क्या शरीर में वाकई चुंबकीय शक्ति पैदा हो जाती है?

पावर बैंक ऐप, जिसने 15 दिन में पैसे डबल करने का झांसा दे 4 महीने में 250 करोड़ उड़ा लिए

पैसा शेल कंपनियों में लगाते, फिर क्रिप्टोकरंसी बनाकर विदेश भेज देते थे.

भूटान के बाद अब नेपाल ने पतंजलि की कोरोनिल दवा बांटने पर रोक क्यों लगा दी?

नेपाल के अधिकारियों ने IMA के उस लेटर का भी हवाला दिया है, जिसमें कोरोनिल को लेकर रामदेव को चुनौती दी गई थी.

दक्षिण में बीजेपी की मुश्किलें बढ़ीं, कर्नाटक और केरल में टॉप नेता सवालों में क्यों हैं?

मामला इतना बढ़ गया कि बीजेपी के केंद्रीय नेतृत्व को दखल देना पड़ा है.

आसिफ को भीड़ ने पीटकर मार डाला तो आरोपियों की रिहाई के लिए महापंचायतें क्यों हो रही हैं?

करणी सेना के नेता धमकी दे रहे- जो भी हमें रोकेंगे, उन्हें ठोक देंगे.

तमिल नेता ने अमेज़न से कहा 'फैमिली मैन 2' को बंद करो, वरना...

अमेज़न प्राइम वीडियो की हेड को लेटर लिख दी है खुली चेतावनी.

सुवेंदु अधिकारी और उनके भाई के खिलाफ राहत सामग्री चोरी करने के आरोप में FIR

वेस्ट बंगाल पुलिस ने इस मामले में जांच शुरू कर दी है.