Submit your post

Follow Us

जानिए मोदी को पुतिन की सरकार ने अपना सबसे बड़ा सम्मान क्यों दिया है

335
शेयर्स

रुस ने प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी को रूस के सर्वोच्च सम्मान से नवाज़ा है. ये सम्मान है ‘ऑर्डर ऑफ सेंट एंड्रयू द एपोस्टल.’ पीएम मोदी को

“रूस और भारत के बीच विशेष रणनीतिक पार्टनरशिप को बढ़ावा देने के लिए’

ये अवार्ड दिया गया है.

रूसी सरकार के अनुसार इस सम्मान यानी ‘ऑर्डर ऑफ सेंट एंड्रयू द एपोस्टल’ की स्थापना 17 वीं शताब्दी में पीटर द ग्रेट ने 1699 के आसपास की थी. ये उस समय के ज़ार यानी रूसी सम्राट थे. और उनके शासन के लिए बेहतरीन काम करने वाले लोगों को ये सम्मान दिया जाता था. रूसी क्रांति के बाद सोवियत रूस बना. साल 1918 में सोवियत रूस ने इस शासकीय सम्मान को ख़त्म कर दिया था. जब सोवियत रूस टूटा तो 1998 में इसे फिर शुरू किया गया. कुल मिलाकर ये रूस की ओर से दिए जाने वाला सबसे पुराना सम्मान है.
मौजूदा समय में रूस सरकार ये सम्मान बड़े राजनेताओं या चर्चित लोगों को देती है. इसके अलावा देश के लिए बेहतरीन सेवा करने वाले रूसी नागरिकों को इस सम्मान से नवाज़ा जाता है.

पीएम मोदी को ये सम्मान मिलने के कुछ बड़े कारण हैं. बीते 5 सालों में भारत ने रूस के साथ कई ऐसे समझौते किए हैं, जिनसे बाकी देश ज्यादा खुश नहीं थे. जैसे S-400 डिफेंस सिस्टम और MI 17 हेलिकॉप्टर डील का सौदा. अंतरराष्ट्रीय विरोध के बावजूद ये सौदे किए  गए थे.

मोदी से पहले, साल 2017 में, चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग को ‘ऑर्डर ऑफ सेंट एंड्रयू द एपोस्टल’ से सम्मानित किया जा चुका है.

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
PM Modi awarded by Russian Federation with the highest order of state ‘Order of St Andrew the Apostle’

क्या चल रहा है?

DRS के मामले में हमेशा सही साबित होने वाले धोनी ने इस बार एक गलती की जिसे किसी ने नोटिस नहीं किया

कायदे से तो रहाणे को आउट ही नहीं दिया जाना चाहिए था.

पारदर्शिता जरूरी नहीं, जनता क्यों जाने पार्टी किससे पैसा ले रही - सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से कहा

जानिए चुनावी बॉन्ड पर क्यों मचा है घमासान.

कठुआ गैंगरेप वाली बच्ची के पिता के साथ भयंकर धोखा हुआ है

गैंगरेप जैसे घृणित अपराध के बाद पीड़ित परिवार के साथ जानने वाले ही ऐसा करेंगे, सोचा न था!

आख़िरी गेंद पर मिली चेन्नई की जीत पर क्या कह रहे हैं दिग्गज?

बड़े-बड़े क्रिकेटर्स भौंचक्के हैं.

7 साल पहले जब कैप्टन कूल ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अंपायरों पर गर्म हो गए थे

राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ मैच में भी यही हुआ.

पूर्व सेना प्रमुख और 155 पूर्व सैनिकों की मोदी के खिलाफ राष्ट्रपति को चिट्ठी, कइयों का इससे इंकार

ये सैनिक 'मोदी की सेना' कहे जाने, अभिनंदन की फोटो यूज करने और शहीदों के नाम पर वोट मांगे जाने पर नाराज हैं.

कम स्कोर के मैच में धोनी का साथ देने वाली दो इनिंग्स जिन्होंने CSK को जिताया

चेन्नई को पछाड़ना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन लगने लगा है.

बचपन की ये फोटो किस एक्ट्रेस की है?

दूसरी एक्ट्रेस निमृत कौर इस फोटो की एक चीज को पहचानने में गच्चा खा गईं.