Submit your post

Follow Us

कोरोना मरीजों के इलाज से प्लाज्मा थेरेपी को हटाने की वजह जान लीजिए

कोरोना संक्रमण के इस दौर में प्लाज़्मा थेरेपी (Plasma therapy) को लेकर पिछले काफी वक्त से चर्चाएं थीं. पहले इस थेरेपी को कोरोना मरीजों के लिए मददगार माना जा रहा था. मरीजों में कोरोना से ठीक हो चुके लोगों का प्लाज्मा चढ़ाने के लिए कई जगह तो बाकायदा अभियान चल रहा था. प्लाज्मा बैंक तक खोल दिए गए थे. लेकिन अब इस प्लाज्मा थेरेपी को कोविड ट्रीटमेंट प्रोटोकॉल से हटा दिया गया है.

स्वास्थ्य मंत्रालय के एक जॉइंट मॉनीटरिंग ग्रुप ने कोरोना मरीजों के मैनेजमेंट को लेकर रिवाइज्ड गाइडलाइंस जारी की हैं. इन गाइडलाइंस में प्लाज्मा थेरेपी (convalescent plasma) का जिक्र नहीं है. देश में बायोमेडिकल रिसर्च की सबसे बड़ी संस्था है ICMR यानी इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च. इसने बताया है कि नए दिशानिर्देशों से प्लाज्मा थेरेपी को हटा दिया गया है. ऐसा इसलिए कि कोरोना बीमारी की गंभीरता को दूर करने और मौतों को कम करने में ये थेरेपी फायदेमंद साबित नहीं हुई है.

प्लाज़्मा होता क्या है?

हमारे खून में रेड ब्लड सेल्स, व्हाइट ब्लड सेल्स के अलावा एक पीले रंग का लिक्विड भी मौजूद होता है. इस लिक्विड में 90 प्रतिशत पानी के अलावा प्लेटलेट्स, प्रोटीन, मिनरल्स, हार्मोन्स व अन्य चीजें मौजूद होती है. इसमें ही होता है प्लाज़्मा. अब इसको ऐसे भी समझ सकते हैं कि हमारे ख़ून का करीब 55 प्रतिशत प्लाज्मा होता है. शरीर को रोगों से बचाने में प्लाज़्मा का बहुत बड़ा रोल होता है. जब शरीर पर कोई बीमारी हमला करती है, तब इसी प्लाज़्मा में मौजूद रोग प्रतिरोधक तत्त्व बीमारी का मुकाबला करते हैं. कोरोना के केस में जो प्लाज़्मा मरीज को दिया जाता है, उसे convalescent plasma कहते हैं. यानी कोरोना से जो शख्स रिकवर हो चुके हैं, उनके शरीर से निकाला गया प्लाज़्मा. अभी तक की गाइडलाइंस के मुताबिक, कोरोना के लक्षणों की शुरुआत के बाद, 7 दिनों के अंदर प्लाज्मा थेरेपी के इस्तेमाल की इजाजत थी.

विशेषज्ञों ने बताया था गैर-वैज्ञानिक

नेशनल टास्क फोर्स और ICMR की शुक्रवार 14 मई को एक मीटिंग हुई थी. इसमें सभी सदस्य प्लाज्मा थेरेपी (convalescent plasma) को बालिग कोविड मरीजों के इलाज में इस्तेमाल न करने को लेकर सहमत थे. इसी मीटिंग के बाद सरकार की ओर से नई गाइडलाइंस जारी की गई हैं. ICMR के एक अधिकारी ने बताया कि कोरोना के इलाज में प्लाज्मा थेरेपी के उपयोग को कई चिकित्सा विशेषज्ञ और वैज्ञानिक तर्कहीन, अवैज्ञानिक बता चुके हैं. ये इस बारे में प्रिंसिपल साइंटिफिक एडवाइज़र के. विजयराघवन को भी लिख चुके हैं.

एक्सपर्ट्स क्या कहते हैं?

AIIMS के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया ने अप्रैल में कहा था कि प्लाज़्मा थेरेपी को लेकर बहुत खबरें आ रही हैं. लेकिन शोध बताते हैं कि इसका कोरोना के इलाज में कोई ज़्यादा फ़ायदा नहीं है. इसकी भूमिका बहुत सीमित है.

ICMR के डायरेक्टर जनरल बलराम भार्गव ने अक्टूबर 2020 में कहा था कि

“हमने प्लाज्मा थेरेपी पर दुनिया का सबसे लंबा ट्रायल किया है. यह ट्रायल 39 अस्पतालों में 464 पेशंट्स पर किया गया. इसके नतीजों को 350 लोगों ने लिखा. इसमें पता चला कि प्लाज्मा थेरेपी ने कोविड से लड़ने में मदद नहीं की. 

जब इस सिलसिल में दी लल्लनटॉप ने हेल्थ पॉलिसी एक्सपर्ट डॉक्टर विकास केशरी से बात की थी, तब उन्होंने भी कहा था,

“पिछले साल फर्स्ट वेव के दौरान हमने देखा कि प्लाज़्मा थेरेपी का बहुत अधिक इस्तेमाल किया जा रहा था. इस पर काफी स्टडी भी हुई. भारत में भी और विदेशों में भी. लेकिन किसी भी स्टडी में ये नहीं पाया गया कि प्लाज़्मा थेरेपी का बहुत अधिक फायदा होता है. इस बारे में भारत में Indian Council of Medical Research, अमेरिका के  National Institutes of Health और ऑक्सफोर्ड ने भी स्टडी की हैं. इन सभी की स्टडी में प्लाज़्मा थेरेपी की भूमिका ना तो कोरोना की गंभीरता को कम करने वाली पाई गई, और ना ही ऐसा कोई साक्ष्य मिला कि इससे मृत्यु दर को कम किया जा सकता है.”

दिल्ली सरकार करती रही है वकालत

दिल्ली सरकार कोरोना के इलाज में प्लाज्मा थेरेपी का खुलकर सपोर्ट करती रही है. अरविंद केजरीवाल सरकार ने ही देश का पहला प्लाज्मा बैंक ILBS अस्पताल में खुलवाया था. दिल्ली के हेल्थ मिनिस्टर सत्येंद्र जैन प्लाज्मा थेरेपी के इस्तेमाल के लिए खुद अपना उदाहरण देते रहे हैं. जैन का मानना है कि जब कोरोना की वजह से उनकी तबीयत बिगड़ गई थी तो प्लाज्मा थेरेपी की वजह से ही उनकी जान बची. अक्टूबर 2020 में सत्येंद्र जैन ने दावा किया था कि दिल्ली में 2 हजार से ज्यादा कोरोना मरीज प्लाज्मा थेरेपी की वजह से ठीक हो चुके हैं.

दिल्ली के मदन मोहन मालवीय अस्पताल के मेडिकल ऑफिसर, डॉक्टर मणि शंकर प्रियदर्शी ने भी दावा किया था कि हमने देखा है कि मॉडरेट कोविड से पीड़ित मरीज को अगर प्लाज़्मा थेरेपी दी जाती है तो अच्छे नतीजे सामने आते हैं. लेकिन हालत गंभीर होने के बाद ये थेरेपी काम नहीं करती. वेंटीलेटर वाले मरीजों पर भी इसका असर कम होता है.

बहरहाल, इस तरह के दावे चाहे कुछ हों, लेकिन अब केंद्र सरकार ने प्लाज्मा थेरेपी को कोरोना के ट्रीटमेंट प्रोटोकॉल से बाहर कर दिया है.


वीडियो- प्लाज्मा थेरेपी को लेकर सभी सवालों के जवाब जान लीजिए

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

शौर्य चक्र से सम्मानित इन 6 जवानों की कहानियां हर किसी को सुननी चाहिए

शौर्य चक्र से सम्मानित इन 6 जवानों की कहानियां हर किसी को सुननी चाहिए

कैप्टन आशुतोष कुमार को मरणोपरांत शौर्य चक्र मिल रहा है.

पेट्रोल के दाम में भारी कटौती हो गई है!

पेट्रोल के दाम में भारी कटौती हो गई है!

कुछ पैसों की नहीं, पूरे 3 रुपये की कटौती हुई है!

तेज प्रताप यादव पत्रकारों को किस बात पर धमका रहे हैं?

तेज प्रताप यादव पत्रकारों को किस बात पर धमका रहे हैं?

पोस्टर वॉर के पीछे की कहानी क्या है?

हरियाणा में कई सरकारी भर्ती परीक्षाओं के पेपर लीक होने का दावा, सवालों के घेरे में HSSC

हरियाणा में कई सरकारी भर्ती परीक्षाओं के पेपर लीक होने का दावा, सवालों के घेरे में HSSC

3 साल बाद हुई कॉन्स्टेबल भर्ती परीक्षा को भी पेपर लीक कांड के बाद रद्द कर दिया गया है.

Ujjwala Yojana 2.0: मोदी सरकार की फ्लैगशिप स्कीम में नया क्या है?

Ujjwala Yojana 2.0: मोदी सरकार की फ्लैगशिप स्कीम में नया क्या है?

पीएम मोदी ने मंगलवार को उज्ज्वला योजना के दूसरे संस्करण की शुरुआत की.

दलितों के लिए आपत्तिजनक बातें कहने वाली एक्ट्रेस मीरा के खिलाफ पुलिस ने एक्शन लिया

दलितों के लिए आपत्तिजनक बातें कहने वाली एक्ट्रेस मीरा के खिलाफ पुलिस ने एक्शन लिया

पुलिस ने 7 धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है. 'बिग बॉस' का हिस्सा रह चुकी हैं मॉडल कम एक्ट्रेस मीरा मिथुन.

बाबर पर बनी इस वेब सीरीज़ का ट्रेलर देखकर इसकी नई डायरेक्टर से उम्मीदें बंध गई हैं

बाबर पर बनी इस वेब सीरीज़ का ट्रेलर देखकर इसकी नई डायरेक्टर से उम्मीदें बंध गई हैं

Disney Plus Hotstar की नई वेब सीरीज़ The Empire का ट्रेलर आया.

अनिल देशमुख को फंसा देगा वो काग़ज़, जिसके लिए मुंबई पुलिस ने CBI तक को धमका दिया?

अनिल देशमुख को फंसा देगा वो काग़ज़, जिसके लिए मुंबई पुलिस ने CBI तक को धमका दिया?

क्या ये काग़ज़ CBI के हत्थे लगने से अनिल देशमुख की हालत ख़राब हो जाएगी?

'CID', 'जोधा अकबर' जैसे टीवी शोज़ में काम कर चुके एक्टर को डायबिटीज़ के चलते पैर कटवाना पड़ा

'CID', 'जोधा अकबर' जैसे टीवी शोज़ में काम कर चुके एक्टर को डायबिटीज़ के चलते पैर कटवाना पड़ा

लोकेंद्र सिंह राजावत रणबीर कपूर के साथ 'जग्गा जासूस' में भी नज़र आ चुके हैं.

मुहर्रम को लेकर यूपी पुलिस के 'गोपनीय' सर्कुलर में क्या है, जिस पर मुस्लिम धर्मगुरुओं की सख्त आपत्ति है?

मुहर्रम को लेकर यूपी पुलिस के 'गोपनीय' सर्कुलर में क्या है, जिस पर मुस्लिम धर्मगुरुओं की सख्त आपत्ति है?

यूपी पुलिस का कहना है कि उसके सर्कुलर में कुछ भी नया नहीं है.