Submit your post

Follow Us

पैंडोरा पेपर्सः भारतीय सेना के सीनियर ऑफिसर का नाम भी लिस्ट में आया

पैंडोरा पेपर (Pandora Papers) के नित-नए खुलासे जारी हैं. खुलासे की दूसरी किस्त में सेना के एक बड़े अधिकारी का नाम आया है. सेना का ये अधिकारी मिलिट्री इंटेलिजेंस के डायरेक्टर जनरल जैसे बड़े ओहदे पर रहा था. फिलहाल ये अधिकारी रिटायर हो चुका है. ये कंपनी 2016 में पनामा पेपर लीक्स के कुछ दिन बाद ही स्थापित की गई थी. जानते हैं कौन है ये सेना अधिकारी और उसने कितने की कंपनी बनाई.

कौन है सेना का वो अधिकारी?

इंडियन एक्सप्रेस में पैंडोरा पेपर लीक के खुलासे की दूसरी किस्त में एक बड़े सैन्य अधिकारी का नाम आया है. इस अधिकारी का नाम है लेफ्टिनेंट जनरल राकेश कुमार लोम्बा. लेफ्टिनेंट जनरल लोम्बा साल 2010 में सेना से डीजी मिलिट्री इंटेलिजेंस जैसे संवेदनशील पद से रिटायर हुए हैं. सेना की मिलिट्री इंटेलिजेंस के ऊपर ही खुफिया जानकारी जुटाने का जिम्मा होता है. इस पद पर रहने से पहले वो सेना में महत्वपूर्ण पदों पर रहे हैं. साल 2016 में पनामा पेपर लीक्स की जानकारी आने के कुछ दिन बाद ही राकेश लोम्बा ने सेशेल्स में इंटरनेशनल बिजनेस कंपनी बनाई. इस कंपनी को बनाते वक्त उन्होंने कहीं भी जिक्र नहीं किया कि वो भारतीय सेना से जुड़े रहे हैं.

कहां से मिली जानकारी?

इंडियन एक्सप्रेस अखबार को ये जानकारी ऑफशोर सर्विस उपलब्ध कराने वाली कंपनी आबोल के सीक्रेट रिकॉर्ड्स से मिली है. आबोल नाम की ये कंपनी सेशेल्स के माहे में स्थित है. पैंडोरा पेपर्स में खुलासा हुआ है कि लोम्बा की कंपनी का बैंक अकाउंट मॉरिशस के एबीसी बैंकिंग कॉर्पोरेशन से लिंक्ड है. कंपनी का नाम है रारिंट पार्टनर्स लिमिटेड. इस कंपनी में लोम्बा के साथ उनका बेटा भी पार्टनर है. इस कंपनी का डिपॉजिट/टर्न ओवर तकरीबन 1 मिलियन डॉलर या तकरीबन वर्तमान डॉलर दर से साढ़े 74 करोड़ रुपए था.

इस अकाउंट को 1 लाख डॉलर या तकरीबन 74 लाख रुपए के अमाउंट से दिसंबर 2016 में खोला गया था. ये जानकारी बैंक अकाउंट खोलने वाले डॉक्युमेंट्स से मिली है. रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल राकेश लोम्बा और उनके बेटे के अलावा रेरिंट पार्टनर्स लिमिटेड नाम की इस कंपनी में तीसरे डायरेक्टर हैं अनंत घनश्याम. ये नई दिल्ली के वसंत विहार के रहने वाले हैं. ये तीनों ही इस कंपनी के फर्स्ट डायरेक्टर और लाभार्थी हैं.

अनंत घनश्याम के इस कंपनी में 34 फीसदी शेयर हैं. लेफ्टिनेंट जनरल राकेश कुमार लोम्बा और उनके बेरे राहुल लोम्बा के पास 33-33 फीसदी शेयर हैं. इन तीनों ने ही कंपनी खोलने और बैंक अकाउंट खोलने के डॉक्युमेंट्स पर साइन किए हैं. लेफ्टिनेंट लोम्बा ने अपने निवास का पता गुरुग्राम में एक महंगे अपार्टमेंट कॉम्पलैक्स का दिया है. इसका जिक्र कई बार डेटा में मिला है.

रेकॉर्ड्स से ये भी पता चलता है कि दिसंबर 2016 में जब ये कंपनी बनाई गई थी उस वक्त तीनों डायरेक्टर ने एक रेजॉल्यूशन पास किया था. इसके मुताबिक रेरिंट पार्टनर्स लिमिटेड के सभी रेकॉर्ड्स पश्चिम विहार नई दिल्ली के एक पते पर ही मेंटेन होंगे. इनवेस्टिगेशन में सामने आया है कि पश्चिम विहार का ये पता सेरूल कंसल्टिंग नाम की किसी कंपनी का है.

सफाई में क्या कहा?

इस पड़ताल को करने वाले अखबार इंडियन एक्सप्रेस ने जब लेफ्टिनेंट जनरल राकेश लोम्बा से संपर्क किया तो उनके बेटे राहुल लोम्बा ने प्रतिक्रिया देने के लिए सामने आए. उन्होंने बताया कि तीसरे शेयर होल्डर अनंत घनश्याम उनके बिजनेस पार्टनर हैं.

“ साल 2016 में हमें दक्षिण अफ्रीकी देशों में काम करने का आइडिया आया. इसे लेकर ही हमने नवंबर 2016 में एक कंपनी बनाई और बैंक अकाउंट के लिए अप्लाई करने का सोचा. हालांकि एबीसी बैंक से साथ कभी भी अकाउंट नहीं खोला गया क्योंकि हम अपने बिजनेस प्लान के साथ आगे नहीं गए. कंपनी लाइसेंस फीस के तौर पर भी कोई फीस नहीं दी गई. उसके बाद 2017 में हमें अपने सलाहकार से पता चला कि कंपनी बंद कर दी जाएगी. इससे पता चलता है कि न तो कोई बिजनेस किया गया और नही इस कंपनी ने किसी से कॉन्ट्रैक्ट किया. इसलिए बैंक अकाउंट खोलने का तो सवाल ही नहीं उठता.”

उन्होंने आगे बताया कि,

“हमसे कभी रैंक या डेजिग्नेशन के बारे में पूछा ही नहीं गया. उससे भी जरूरी बात ये है कि हम भी इन बातों को कभी सामने नहीं लाए क्योंकि मिलिट्री या पुलिस के लिए सुरक्षा कारणों से भी ऐसा करना सही नहीं है. हमने अपने पर्सनल बिजनेस ट्रिप पर जाने के लिए ऐसी जानकारी देने की जरूरत नहीं है. ये जानकारी तब ही दी जाती है जब अधिकारी किसी आधिकारिक प्रतिनिधिमंडल का हिस्सा होता है.’’

राहुल लोम्बा ने ये भी बताया कि उन्होंने बैंक से कंफर्म कर लिया है कि रेंरिंट पार्टनर्स का बैंक में कोई भी अकाउंट नहीं है. हालांकि लीक रिकॉर्ड्स में ये बात सामने आई है कि रेरिंट पार्टनर्स लिमिटेड से कई इनवॉयस जारी किए गे हैं. जिन्हें आबोल ने किसी विनीत अग्रवाल को पश्चिम विहार दिल्ली के पते पर भेजा है.

रेरिंट पार्टनर्स के अलावा राकेश कुमार लोम्बा कई दूसरी भारतीय कंपनियों और फाउंडेशंस के डायरेक्टर भी हैं. रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज़ के रेकॉर्ड्स के मुताबिक रिटायर्ड लेफ्टिनेंट लोम्बा इनके डायरेक्टर भी हैं – बीबीवी इंटरनेशनल प्राइवेट लिमिटेड, डिफेंस वेलफेयर हाउसिंह एसोसिएशन, प्रवास इंडिया फाउंडेशन, सैनिक इंफ्रास्ट्रक्चर इंडिया लिमिटेड, इंडो श्री लंका चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री, समाज़ पीड़ित सेवा चैरिटेबल फाउंडेशन और जन कल्याण संवाद फाउंडेशन.

क्या है पैंडोरा पेपर्स?

लगभग 12 मिलियन यानी 1 करोड़ 20 लाख लीक दस्तावेजों की जांच पर आधारित पैंडोरा पेपर्स यह खुलासा करता है कि कैसे दुनिया के कई अमीर और शक्तिशाली लोग अपनी संपत्ति छिपा रहे हैं. इस सूची में 380 भारतीयों के नाम भी हैं. अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस ने इस सूची में से 60 प्रमुख कंपनियों और लोगों के नाम की पुष्टि की है. 117 देशों में 600 से अधिक पत्रकारों ने पैंडोरा पेपर्स के दस्तावेजों की महीनों तक जांच की है. पेंडोरा पेपर्स खुलासे में इंटरनेशनल कंसोर्टियम ऑफ इंवेस्टिगेटिव जर्नलिस्ट्स (ICIJ) ने ऑफशोर कंपनी खोलने में मदद करने वाली 14 सर्विस प्रोवाइडर कंपनियों से जुड़े सोर्स से दस्तावेज जुटाए हैं. पनामा पेपर्स नाम से हुए खुलासे के बाद अब पैंडोरा पेपर्स (Pandora Papers) दूसरा बड़ा खुलासा है.


वीडियो – दुनियादारी: पैंडोरा पेपर्स में सचिन से लेकर व्लादिमीर पुतिन का नाम, अब क्या होगा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

ट्रैवल हिस्ट्री नहीं होने के बाद भी डॉक्टर के ओमिक्रॉन से संक्रमित होने पर डॉक्टर्स क्या बोले?

ट्रैवल हिस्ट्री नहीं होने के बाद भी डॉक्टर के ओमिक्रॉन से संक्रमित होने पर डॉक्टर्स क्या बोले?

बेंगलुरु में 46 साल के एक डॉक्टर कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन से संक्रमित पाए गए हैं.

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

ये रिपोर्ट कान खड़े कर देगी.

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

इस्तीफे में पराग अग्रवाल के लिए क्या-क्या बोले जैक डोर्से?

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.