Submit your post

Follow Us

यूपी: 'लव जिहाद' पर कानून, गैरजमानती होगा अपराध, इतने साल की सजा का प्रस्ताव

कथित ‘लव जिहाद’ पर कानून बनाने को लेकर यूपी के गृह विभाग ने मसौदा तैयार कर लिया है. कानून विभाग को प्रस्ताव भेज दिया गया है. ऐसा माना जा रहा है कि अगली कैबिनेट बैठक में इसे पेश किया जा सकता है. इस मसौदे में ‘लव जिहाद’ शब्द का कोई जिक्र नहीं है, लेकिन कड़ी सजा का प्रावधान किया गया है.

नए कानून में क्या हो सकता है?

मीडिया में चल रही खबरों के मुताबिक नए कानून में पांच से लेकर 10 साल तक की सजा के प्रावधान किए गए हैं. अगर ये साबित होता है कि धर्म परिवर्तन केवल शादी के लिए किया गया है तो शादी को भी अमान्य घोषित किया जा सकता है. धर्म परिवर्तन के लिए जिला मजिस्ट्रेट को एक महीने पहले बताना होगा. इसके उल्लंघन पर 6 माह से तीन साल तक की सजा का प्रावधान है. जबरन धर्मपरिवर्तन के मामले में 5 साल और सामूहिक धर्म परिवर्तन के मामले में 10 साल तक की सजा संभव है. साथ ही आर्थिक जुर्माना भी लगाया जाएगा. अपराध गैरजमानती होगा.

नाबालिग लड़की, अनुसूचित जाति-जनजाति की महिला के जबरन धर्म परिवर्तन के मामले में दो से सात साल तक की सजा और कम से कम 25 हजार रुपये जुर्माने का प्रावधान होगा. अध्यादेश के उल्लंघन की दोषी संस्था या संगठन भी सजा के पात्र होंगे.

बीजेपी प्रवक्ता डॉक्टर चंद्रमोहन ने ‘दी लल्लनटॉप’ को बताया कि यूपी की योगी सरकार ‘लव जिहाद’ पर सख्त कानून बनाएगी और महिलाओं के सम्मान का पूरा ध्यान रखा जाएगा. उन्होंने कहा,

“यूपी सरकार लव जिहाद को लेकर कानून बनाने जा रही है. इसका मसौदा तैयार कर लिया गया है. हम पहले एंटी रोमियो स्क्वायड लेकर आए थे. तीन तलाक पर कानून बनाया था. अब महिलाओं के सम्मान और सुरक्षा के लिए लव जिहाद पर कानून की तैयारी है. ताकि कोई किसी महिला को फंसाकर जबरन धर्म परिवर्तित नहीं करा सके.”

इससे पहले योगी सरकार के मंत्री मोहसिन रजा ने कहा कि अब यूपी में मिशन की तरह लड़कियों को बहला-फुसलाकर धर्म परिवर्तन कराया नहीं जा सकेगा. ऐसे लोगों को जेल में डाला जाएगा.

कांग्रेस का इस पर क्या कहना है?

हरियाणा के बल्लभगढ़ में एक युवती की हत्या के बाद देश भर में ‘लव जिहाद’ चर्चा में आ गया था. यूपी, एमपी, हरियाणा, आदि कुछ बीजेपी शासित राज्यों ने ‘लव जिहाद’ पर कानून बनाने की बात कही थी. वहीं राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने इसको लेकर बीजेपी पर हमला बोला है. उन्होंने कहा कि ‘लव जिहाद’ देश को बांटने के लिए बीजेपी का गढ़ा शब्द है.

यूपी कांग्रेस प्रवक्ता अंशु अवस्थी ने ‘ दी लल्लनटॉप’ से फोन पर हुई बातचीत में कहा,

“आईपीसी में 394 से लेकर 397 तक इस तरह की चीजों के लिए पहले से प्रावधान हैं. 10 साल की सजा तक की बातें हैं, लेकिन नए कानून में तो केवल 5 साल किए जाने की बात है. ये तो पुराने कानूनों को कमजोर करना हुआ. दूसरी बात ये कि अगर पहले से कानून है तो नए कानून की जरूरत क्या है, पुराने कानून को ही इम्प्लीमेंट कराया जाना चाहिए. और तीसरी बात ये कि अगर ये साबित होता है कि ‘लव जिहाद’ जैसी कोई चीज वाकई में है तो देश की संसद को कानून बनाना चाहिए और वो भी नेशनवाइड. दरअसल ये बातें मूल मुद्दों से ध्यान हटाने के लिए हैं.”

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ कह चुके हैं कि लव जिहाद को लेकर प्रदेश सरकार सख्त कानून बनाएगी. ऐसी हरकतें करने वालों का राम नाम सत्य होगा.


वीडियो- लखनऊ: सपा नेता के फ्लैट पर बर्थ-डे पार्टी में गोली चली और युवक की जान चली गई

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

ड्रग्स केस: अर्जुन रामपाल के बाद अब कॉमेडियन भारती सिंह के घर पर NCB ने मारा छापा

सुशांत सिंह की मौत के बाद से अब तक कई सेलेब्स से पूछताछ हो चुकी है.

मुकेश भाई की रिलायंस के दिए 19 किलो सोने से सजा कामख्या मंदिर देख लो

गुवाहाटी के इस मंदिर की गिनती देश के सबसे पुराने शक्त पीठों में होती है.

नाम से नफरत थी, शिवसेना के नेता ने दे डाला 'कराची स्वीट्स' को अल्टिमेटम

दुकानदार ने साइन बोर्ड पर छिपा दिया 'कराची' शब्द

एक और प्राइवेट बैंक का बंटाधार? RBI को लगानी पड़ी पैसे निकालने की लिमिट

PMC और यस बैंक की तरह ही अब इस बैंक पर भी लगा मोरेटोरियम.

तबलीगी जमात पर सरकार के किस जवाब से सुप्रीम कोर्ट खफा हो गया

तुषार मेहता से सुप्रीम कोर्ट ने क्या कहा?

नीतीश की कैबिनेट में किसे कौन सा मंत्रालय मिला, लिस्ट आ गई है

उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद और रेणु देवी को कौन से अतिरिक्त मंत्रालय मिले?

बच्चे की चाह में छह साल की बच्ची का कलेजा निकालकर खा गए

तंत्र-मंत्र के चक्कर में बच्ची की हत्या कर उसका शरीर गांव के बाहर फेंक दिया.

गुजरात : धोखाधड़ी का केस होने के बाद BJP नेता ने की आत्महत्या की कोशिश

सूरत के बीजेपी जिला उपाध्यक्ष पीवीएस शर्मा का मामला.

हाथरस कांड की कवरेज में अरेस्ट हुए पत्रकार की ज़मानत याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने क्या कहा?

आर्टिकल 32 क्या है, जिसके मामलों को हतोत्साहित करने की बात कोर्ट ने कही.

गुजरात : सूरत BJP के उप जिलाध्यक्ष के यहां इनकम टैक्स का छापा, फ़्रॉड और धोखाधड़ी का केस दर्ज

अधिकारियों के खिलाफ़ ट्वीट, आयकर विभाग का छापा और मुक़दमा.