Submit your post

Follow Us

भारत में कोरोना वायरस का पहला कन्फर्म केस, चीन से 400 भारतीयों को लाने की तैयारी

भारत में कोरोना वायरस का पहला कन्फर्म केस केरल से सामने आया है. त्रिशूर में 20 साल की एक मेडिकल स्टूडेंट कोरोना वायरस से प्रभावित पाई गई है. इस वक्त उसे त्रिशूर मेडिकल कॉलेज अस्पताल में अलग-थलग रखा गया है. उसकी हालत स्थिर है. लड़की चीन की वुहान यूनिवर्सिटी की छात्रा है. सात दिन पहले ही भारत वापस आई थी. इस बीच, चीन के वुहान शहर से करीब 400 भारतीयों के अपने देश लाए जाने की तैयारी पूरी हो चुकी है.

‘द इंडियन एक्सप्रेस’ की रिपोर्ट के मुताबिक, केरल के हेल्थ मिनिस्टर केके शैलजा ने बताया कि चीन से लौटने वाले तीन और लोगों को त्रिशूर में अलग वार्ड में रखा गया है. उन्होंने कहा,

‘कुल 20 सैम्पल नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (NIV), पुणे भेजे गए थे. इनमें से 10 निगेटिव पाए गए, लेकिन एक पॉजिटिव पाया गया है.’

रिपोर्ट्स के मुताबिक, जो लड़की कोरोना वायरस प्रभावित पाई गई है, वो 22 जनवरी को चीन से कोलकाता आई थी. दूसरे दिन वो कोच्चि पहुंची. सीधा अपने घर गई. 25 से 26 जनवरी तक उसे किसी तरह की कोई दिक्कत नहीं हुई थी.

# कैसे सामने आया केस

27 जनवरी के दिन उसे अपनी तबीयत में कुछ गड़बड़ी महसूस हुई. गले में दिक्कत हुई और फीवर आया. उसने प्राइमरी हेल्थ सेंटर (PHC) में कॉल किया. एंबुलेंस आई और उसे त्रिशूर के ज़िला जनरल अस्पताल ले जाया गया. रात में ही उसके ब्लड सैंपल कलेक्ट कर लिए गए.

केरल के एक अधिकारी ने जानकारी दी कि चीन से लौटने के बाद से लेकर अस्पताल में एडमिट होने तक, लड़की जितने भी लोगों के कॉन्टैक्ट में आई है, उन सबका मेडिकल चेकअप करवाया जाएगा. इनमें वो लोग भी शामिल होंगे, जो उसके साथ एक ही फ्लाइट में चीन से कोलकाता आए थे. भले ही उनके अंदर किसी तरह की कोई बीमारी का कोई लक्षण नजर नहीं आ रहा हो.

कोराना वायरस को लेकर केंद्र की हेल्थ एंड फैमिली वेलफेयर मिनिस्ट्री ने एक स्टेटमेंट जारी किया था. कहा था कि 15 जनवरी के बाद से जो भी भारतीय चीन से अपने देश लौट रहाे हैं, उनका चेकअप किया जाएगा. अभी तक 234 फ्लाइट से लौटने वाले 43,343 यात्रियों का चेकअप किया जा चुका है.

# एयर इंडिया की फ्लाइट 400 भारतीयों को लाएगी

एयर इंडिया की एक स्पेशल फ्लाइट 31 जनवरी, शुक्रवार को दिल्ली से वुहान जा रही है. वहां से 400 भारतीयों को 1 फरवरी की दोपहर तक भारत वापस लाया जाएगा.

# चीन में कोरोना वायरस के 7 हज़ार से ज्यादा केस

30 जनवरी, 2020 की तारीख तक चीन में कोरोना वायरस के 7,711 केस सामने आ चुके हैं. इनमें से 1,370 केस काफी सीरियस हैं. 170 लोगों की मौत हो चुकी है. 124 लोगों को ठीक करके डिस्चार्ज किया जा चुका है. वहीं 12,167 मामले अभी संदिग्ध श्रेणी में हैं.

# चीन के बाहर कितने मामले?

थाइलैंड में कोरोना वायरस के 14, सिंगापुर में 10, ऑस्ट्रेलिया में 5, यूएस में 5, जापान में 8, साउथ कोरिया में 4, मलेशिया में 7, फ्रांस में 4, वियतनाम में 2, कनाडा में 2, नेपाल, कंबोडिया, श्रीलंका, जर्मनी और भारत में 1-1 मामले सामने आए हैं.

27 जनवरी तक कोरोना वायरस के दुनियाभर में कन्फर्म मामले 2,798 थे. तीन दिन के अंदर ही ये आंकड़ा 7 हजार पार हो गया. यानी दोगुने से भी ज्यादा.

# मलयेशिया में भारतीय की कोरोना से मौत!

त्रिपुरा के सेपहिजला ज़िले से एक खबर आई थी. दावा किया गया था कि सेपहिजला का 23 साल का मोनिर हुसैन मलयेशिया के एक होटल में वेटर के तौर पर काम कर रहा था. कोरोना वायरस की चपेट में आने की वजह से उसकी मौत हो गई है. मोनिर के परिवार की तरफ से ये बात कही गई थी. हालांकि इस बात को त्रिपुरा की सरकार ने खारिज कर दिया है. ‘द हिंदू’ की रिपोर्ट के मुताबिक, राज्य सरकार के एक अधिकारी ने कहा है कि मलयेशिया सरकार की तरफ से इस खबर की पुष्टि नहीं हुई है.

ये भी पढ़ें-

कोरोना वायरसः चीन में फैल रही नई बीमारी, जिसका इलाज ढूंढ़ने में पांच देश जुटे हैं

कोरोना वायरस की वजह से चीन ने 14 शहर सील किए, वुहान में 700 भारतीय छात्र फंसे

चीन के कोरोना वायरस के चलते 9 साल पुरानी हॉलीवुड मूवी क्यूं देख रहे हैं लोग?


वीडियो देखें:

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

कोरोना: DRDO ऐसा वेंटिलेटर बना रहा है जिससे कई मरीज़ों का एक साथ इलाज हो सकेगा

DRDO के साथ मिले हैं टाटा और महिंद्रा.

मज़दूरों को पैदल घर जाता देख दो एयरलाइंस ने कहा- जहाज़ खड़े हैं

सरकार से अनुमति मांगी है ताकि मज़दूरों को उनके घर के आसपास छोड़ा जा सके.

UK के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन भी कोरोना वायरस के लपेटे में आ गए हैं

UK में कोरोना के 11 हज़ार से ज्यादा मामले आ चुके हैं.

कोरोना से तो निपट लेंगे, लेकिन जो बड़ी आफत आई है, वो तो पूरा साल ले जाएगी!

मूडीज़ ने बताया है कि पूरे साल कितनी ग्रोथ रेट रह सकती है.

कोरोना वायरस लॉकडाउन के बीच RBI गवर्नर ने राहत की ख़बर दी है

क्या होगा आने वाले दिनों में, इसकी जानकारी दी.

नीतीश कुमार ने कोरोना का 'फेसबुक पोस्ट डिलीट' वाला इलाज खोजा

खबर तो ये तक कि कोरोना के लक्षण वाले 83 डॉक्टर अब भी इलाज कर रहे!

पूरा देश लॉकडाउन है और हरियाणा के इस कॉलेज में लेक्चर पर लेक्चर हो रहे हैं

कॉलेज वाले कह रहे सरकार ने कोई ऑर्डर नहीं दिया!

सरकार ने दिया कोरोना पर राहत पैकेज, 80 करोड़ को मुफ्त अनाज और बहुत कुछ

वित्त मंत्री ने कहा, हर व्यक्ति के हाथ में अन्न और धन हमारी पहली प्राथमिकता.

कोरोना के बीच सरकार ने गठिया वाली दवा के एक्सपोर्ट पर रोक क्यों लगा दी?

इस दवा का कोरोना के इलाज में क्या रोल है?

रात को लॉकडाउन के कायदे बताने के बाद सुबह हुजूम के बीच कहां निकल गए सीएम योगी?

सीएम ने लोगों से कहा था, 'घर पर ही रहें, बाहर न निकलें.'