Submit your post

Follow Us

मशहूर शायर राहत इंदौरी नहीं रहे, कोरोना पॉज़िटिव थे

मशहूर शायर राहत इंदौरी नहीं रहे. उनका 11 अगस्त को इंदौर में देहांत हो गया. वे 70 साल के थे. कोरोना पॉजीटिव पाए जाने के बाद उन्हें 10 अगस्त को इंदौर के ऑरबिंदो अस्पताल में भर्ती कराया गया था. अस्पताल ने बताया कि कार्डियक अरेस्ट की वजह से राहत इंदौरी का निधन हुआ. डॉक्टर विनोद भंडारी और रवि डोसी ने के अनुसार उन्हें लगातार तीन हार्ट अटैक आए थे. उन्हें 60 प्रतिशत निमोनिया भी था.

उनके बेटे सतलज़ ने आज तक को बताया कि शाम पांच बजे के करीब हृदयगति रुकने से उनका निधन हो गया.

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, कवि कुमार विश्वास सहित कई लोगों ने राहत इंदौरी के निधन पर शोक जताया है.

ट्वीट कर दी थी कोरोना होने की जानकारी

इससे पहले राहत इंदौरी ने ट्वीट कर कोरोना पॉजीटिव होने की जानकारी दी थी. उन्होंने लिखा था,

कोविड के शुरुआती लक्षण दिखाई देने पर कल मेरा कोरोना टेस्ट किया गया, जिसकी रिपोर्ट पॉज़िटिव आई है. ऑरबिंदो हॉस्पिटल में एडमिट हूं, दुआ कीजिये जल्द से जल्द इस बीमारी को हरा दूं. एक और इल्तेजा है, मुझे या घर के लोगों को फ़ोन ना करें, मेरी ख़ैरियत ट्विटर और फेसबुक पर आपको मिलती रहेगी.

1950 में जन्मे थे राहत इंदौरी

राहत इंदौरी का जन्म एक जनवरी 1950 में इंदौर में ही हुआ था. उनका वास्तविक नाम राहत कुरैशी था. लेकिन बाद में इंदौर के नाम से वे इंदौरी सरनेम लगाने लगे थे. उन्होंने कई फिल्मों के लिए भी गाने लिखे. इनमें ‘घातक’, ‘बेगम जान’, ‘करीब’, ‘मीनाक्षी’, ‘मिशन कश्मीर’, ‘मुन्नाभाई एमबीबीएस’ जैसी फिल्मों के गाने शामिल हैं.

राहत इंदौरी अपने बेबाक अंदाज़ और बेहतरीन शायरी के लिए जाने जाते हैं. उनके कई शेर सुनने वालों के दिलों में जिंदा हैं. जैसे-

मैंने अपनी ख़ुश्क आंखों से लहू छलका दिया
इक समंदर कह रहा था मुझ को पानी चाहिए.

लगेगी आग तो आएंगे घर कई ज़द में
यहां पे सिर्फ़ हमारा मकान थोड़ी है.

हमारे मुंह से जो निकले वही सदाक़त है
हमारे मुंह में तुम्हारी ज़ुबान थोड़ी है.

सभी का खून है शामिल यहाँ की मिट्टी में
किसी के बाप का हिंदुस्तान थोड़ी है.

मैं जानता हूं कि दुश्मन भी कम नहीं लेकिन
हमारी तरह हथेली पे जान थोड़ी है.


Video: तिरुपति मंदिर के 743 कर्मचारी कोरोना पॉज़िटिव पाए गए हैं

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

रवींद्र जडेजा बिना खेले ख़बरों में क्यों आ गए हैं?

तलवारबाज़ी सेलेब्रेशन करने वाले ऑलराउंडर.

अमेरिका से आई टॉपर की बीच सड़क पर मौत, परिवारवाले बोले- मर्डर है

दावा है कि बुलेट सवार स्टंट करते हुए छेड़खानी कर रहे थे, पुलिस ने बताया हादसा

ऐपल को नाशपाती वाला लोगो फूटी आंख नहीं सुहाया, कहा- लोग इसको ऐपल समझ लेंगे

यू आर ए गुड लोगो, बट योर लोगो हर्ट मी.

झारखंड के शिक्षा मंत्री ने 25 साल के गैप के बाद 11वीं में दाखिला लिया

काउंटर पर आम स्टूडेंट की तरह लाइन में लगे जगरनाथ महतो.

लॉकडाउन लागू कराने की जिद में पार कर दी हदें, पुलिस को भुट्टेवाले के घर जाकर मांगनी पड़ी माफ़ी

यूपी पुलिस के दारोगा का कारनामा, वीडियो वायरल हुआ तो किए गए सस्पेंड

नया दावा, सुशांत की बीमारी पर रिया उनके पिता से बात ही नहीं कर रही थीं!

सुशांत के पिता ने नवंबर में रिया और श्रुति मोदी को मैसेज किए थे.

कोरोना काल में कैसे होंगे बिहार चुनाव? मुख्य चुनाव आयुक्त ने बताया

सबकी नज़रें इन चुनावों पर है.

बिजनेसमैन से लूटपाट, गिरफ्तारी हुई तो पता चला कि तीन तो पुलिसवाले ही थे

मामला दिल्ली का है. ऑफिस में घुसकर गोली मारने की धमकी भी दी थी

मॉर्निंग वॉक पर निकले BJP नेता की बदमाशों ने गोलियों से भूनकर हत्या कर दी

नेता की मौके पर ही मौत हो गई.

जनता सड़कों पर आई तो लेबनान की पूरी सरकार ने इस्तीफ़ा दे दिया

बेरूत धमाकों के बाद से जनता सरकार से इस्तीफ़े की मांग कर रही थी.