Submit your post

Follow Us

गोल्ड जीतने के बाद नीरज ने बताया अपना अगला लक्ष्य

शनिवार 7 अगस्त को नीरज चोपड़ा ने भारतीय ओलंपिक्स इतिहास में एक नया पन्ना जोड़ दिया. टोक्यो ओलंपिक्स में गोल्ड जीतकर वह ट्रैक एंड फील्ड में ओलंपिक्स मेडल जीतने वाले पहले भारतीय बन गए. और इसके साथ ही यह भी तय हो गया कि अब जब भी भारत में जैवलिन के खेल की बात होगी तो सबसे पहले नीरज का ज़िक्र आएगा. फाइनल में 87.58m मीटर तक भाला फेंक गोल्ड जीतने वाले नीरज ने अभी से अपना अगला लक्ष्य तय कर लिया है.

नीरज का अगला लक्ष्य 90 मीटर पार करना है. टोक्यो में नीरज के आखिरी थ्रो से पहले ही उनका गोल्ड मेडल जीतना तय हो चुका था. वे आखिरी प्रयास ना भी करते तो भी गोल्ड उनका ही रहता. लेकिन नीरज ने अपने अंतिम प्रयास पर भी उतना ही जोर लगाया जितना वे अपने हर प्रयास में लगा रहे थे.

गोल्ड मेडल जीतने के बाद पीटीआई से बात करते हुए जब नीरज चोपड़ा से उनके अगले टारगेट के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा,

‘जैवलिन थ्रो एक बहुत ही टेक्निकल इवेंट है. उसमें बहुत कुछ इस बात पर निर्भर करता है कि मैच के दिन आपकी फॉर्म कैसी है. ऐसे में कुछ भी हो सकता है. लेकिन मेरा अब अगला टारगेट 90 मीटर के मार्क को पार करना है.

फिलहाल मेरा ध्यान सिर्फ ओलंपिक्स पर था.अब जब मैंने गोल्ड जीत लिया है तो अब मैं आगे आने वाले कम्पटीशन्स की प्लानिंग करूंगा. भारत आते ही मैं फिर से विदेशी वीज़ा के लिए देखूंगा ताकि मैं इंटरनेशनल इवेंट्स में भाग ले सकूं.’

आपको बता दें कि नीरज चोपड़ा ने आज तक कभी भी 90 मीटर के मार्क को पार नहीं किया है. नीरज का सर्वाधिक थ्रो 88.06 मीटर का है जो उन्होंने इंडोनेशिया में साल 2018 में हुए एशियाई खेलों में बनाया था. नीरज साल 2017 से लगभग हर बार इंटरनेशनल इवेंट्स में 80 मीटर से ऊपर का थ्रो फेंकते आ रहे हैं लेकिन वे कभी भी 90 मीटर तक भाला नहीं फेंक पाए हैं.

नीरज ने 13 जुलाई को गेटशेड डायमंड लीग से अपना नाम वापिस ले लिया था. लेकिन उन्होंने कहा था कि वे ओलंपिक्स के बाद लीग के बचे हुए इवेंट्स में भाग ले सकते हैं. इस हिसाब से 26 अगस्त को लुसान और 28 अगस्त को पेरिस में होने वाले इवेंट्स में नीरज भाग ले सकते हैं. साथ ही 9 सितम्बर को ज्यूरिख में होने वाले फाइनल में भी वे भाग ले सकते हैं.


टोक्यो ओलंपिक में जब सब मैच पर फोकस कर रहे थे, तब नीरज चोपड़ा क्या कर रहे थे?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

क्या BYJU'S अच्छी शिक्षा देने के नाम पर लोगों को अनचाहा लोन तक दिलवा रही है?

ये रिपोर्ट कान खड़े कर देगी.

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

Jack Dorsey ने Twitter का CEO पद छोड़ा, CTO पराग अग्रवाल को बताया वजह

इस्तीफे में पराग अग्रवाल के लिए क्या-क्या बोले जैक डोर्से?

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

पेपर लीक होने के बाद UPTET परीक्षा रद्द, दोबारा कराने पर सरकार ने ये घोषणा की

UP STF ने 23 संदिग्धों को गिरफ्तार किया.

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

26 नए बिल कौन-कौन से हैं, जिन्हें सरकार इस संसद सत्र में लाने जा रही है

संसद का शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा.

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के चकाचक निर्माण से लोगों को क्या-क्या मिलने वाला है?

पीएम मोदी ने गुरुवार 25 नवंबर को इस एयरपोर्ट का शिलान्यास किया.

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

कृषि कानून वापस लेने की घोषणा के बाद पंजाब की राजनीति में क्या बवंडर मचने वाला है?

पिछले विधानसभा चुनाव में त्रिकोणीय मुकाबला था, इस बार त्रिकोणीय से बढ़कर होगा.

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

UP पुलिस मतलब जान का खतरा? ये केस पढ़ लिए तो सवाल की वजह जान जाएंगे

कासगंज: पुलिस लॉकअप में अल्ताफ़ की मौत कोई पहला मामला नहीं.

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

कासगंज: हिरासत में मौत पर पुलिस की थ्योरी की पोल इस फोटो ने खोल दी!

पुलिस ने कहा था, 'अल्ताफ ने जैकेट की डोरी को नल में फंसाकर अपना गला घोंटा.'

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये कैसे गिनती हुई कि बस एक साल में भारत में कुपोषित बच्चे 91 प्रतिशत बढ़ गए?

ये ख़बर हमारे देश का एक और सच है.

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

आर्यन खान केस से समीर वानखेड़े की छुट्टी, अब ये धाकड़ अधिकारी करेगा जांच

क्या समीर वानखेड़े को NCB जोनल डायरेक्टर पद से हटा दिया गया है?