Submit your post

Follow Us

किस कांग्रेसी प्रधानमंत्री ने मुसलमानों पर घटिया टिप्पणी की थी?

नरेंद्र मोदी कई अर्थों में मशहूर हैं. बोलने के लिए भी. लोकसभा में 25 जून को दिए अपने पहले भाषण में नरेंद्र मोदी ने एक बात कही, जिस पर हल्ला मच गया है. नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस की ओर इशारा करते हुए कहा था,

“कांग्रेस के ही एक नेता ने मुसलमानों के उत्थान की ज़िम्मेदारी कांग्रेस की नहीं है. If they want to lie in gutter, let them be.” (अगर मुसलमान गटर में पड़े रहना चाहते हैं तो पड़ा रहने दो.)

पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी के ही एक नेता ने इस बात का खुलासा किया था.

अब वरिष्ठ कांग्रेस नेता आरिफ मोहम्मद खान ने इस बात की पुष्टि की है. राजीव गांधी की सरकार में कैबिनेट मंत्री रह चुके आरिफ मोहम्मद खान ने अपने एक पुराने इंटरव्यू में नरसिम्हा राव के बारे में खुलासा किया था. खान ने कहा था कि एक मीटिंग में नरसिम्हा राव ने उनके बारे में ये बात कही थी. आगे चलकर नरसिम्हा राव भारत के प्रधानमंत्री बने थे.

आरिफ मोहम्मद खान ने नरसिम्हा राव का नाम लिया है.
आरिफ मोहम्मद खान ने नरसिम्हा राव का नाम लिया है.

आरिफ मोहम्मद खान ने बातचीत में बताया कि शाहबानो केस का जब राजीव गांधी सरकार ने विरोध किया था, तो सरकार के इस फैसले से असहमत होकर उन्होंने इस्तीफा दे दिया.

बातचीत में आरिफ मोहम्मद खान ने बताया,

“इस्तीफा देकर मैं अपने घर नहीं गया. अपने दोस्त के यहां चला गया, जहां मुझसे कोई संपर्क न कर सके. अगले दिन मैं संसद गया तो कांग्रेस के कुछ नेता मुझे समझाने आए.”

बकौल खान, सबसे आख़िर में नरसिम्हा राव आरिफ मोहम्मद खान के पास आए तो कहा,

“तुम इतना अच्छा बोलते हो, लेकिन जिद्दी बहुत हो. शाह बानो ने भी अपना स्टैंड बदल दिया है.”

पूर्व प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव (फाइल फोटो - इंडिया टुडे)
पूर्व प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव (फाइल फोटो – इंडिया टुडे)

आरिफ मोहम्मद खान बताते हैं कि नरसिम्हा राव ने उनसे कहा,

“कांग्रेस पार्टी मुसलमानों का सामाजिक सुधार करने के लिए नहीं हैं और न तुम हो. तो तुम ऐसा क्यों कर रहे हो?”

इसके बाद आरिफ मोहम्मद खान ने बताया कि नरसिम्हा राव ने कहा कि अगर कोई गटर में पड़े रहना चाहता हो तो पड़ा रहने दो.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आरिफ मोहम्मद खान के इसी भाषण का सहारा लेकर कल लोकसभा में बयान दिया था. भाजपा ने आरिफ मोहम्मद खान की इस बातचीत का एक वीडियो भी जारी किया है.

समाचार एजेंसी ANI से बात करते हुए आरिफ मोहम्मद खान ने कहा,

“लोकसभा में नरेंद्र मोदी ने मेरे इंटरव्यू का ज़िक्र किया है. उन्होंने ये संदेश देने की कोशिश की है कैसे लोगों का एक समूह कब तक सत्ताधारियों के धोखे में रह सकता है. ये एकदम साफ़ संदेश है.”

नरेंद्र मोदी लोकसभा में अपने वक्तव्य में तीन तलाक बिल पर कांग्रेस की स्थिति पर बात कर रहे थे. कांग्रेस के साथ-साथ कुछ और विपक्षी दलों ने भी तीन तलाक, जिसे तलाक-ए-इद्दत कहते हैं, पर सरकार द्वारा लाए जा रहे बिल का विरोध किया है. इसी पर बात करते हुए नरेंद्र मोदी ने शाहबानो केस का ज़िक्र किया था, जिस पर तत्कालीन कांग्रेस सरकार का स्टैंड विवादास्पद माना जाता रहा है.

क्या है शाहबानो केस?

शाहबानो
शाहबानो

पांच बच्चों की मां 62-वर्षीया शाहबानो को उनके पति मोहम्मद खान ने 1978 में तीन बार “तलाक” कहकर तलाक दे दिया. शाहबानो अदालत पहुंची, सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गयीं. और गुज़ारा भत्ते की लड़ाई लड़ी. शाहबानो ने केस जीत लिया. जीत पर्सनल लॉ बोर्ड के साथ-साथ कई संगठनों को पची नहीं. विरोध शुरू हुआ.

राजीव गांधी की सरकार में 1985 में एक विधेयक आया. कानून संशोधन हुआ और शाहबानो अदालत में जीतने के बाद भी भत्ता पाने का केस हार गयीं.


लल्लनटॉप वीडियो : तेलंगाना में एक महिला ने अपनी बेटी के रेप के आरोपी बाप के खिलाफ शिकायत की

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

अब केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने लगवाया नारा, "देश के गद्दारों को, गोली मारो *लों को"

क्या केन्द्रीय मंत्री ऐसे बयान दे सकता है?

माओवादियों ने डराया तो गांववालों ने पत्थर और तीर चलाकर माओवादी को ही मार डाला

और बदले में जलाए गए गांववालों के घर

बंगले की दीवार लांघकर पी. चिदम्बरम को गिरफ्तार किया, अब राष्ट्रपति मेडल मिला

CBI के 28 अधिकारियों को राष्ट्रपति पुलिस मेडल दिया गया.

झारखंड के लोहरदगा में मार्च निकल रहा था, जबरदस्त बवाल हुआ, इसका CAA कनेक्शन भी है

एक महीने में दूसरी बार झारखंड में ऐसा बवाल हुआ है.

BJP नेता कैलाश विजयवर्गीय लोगों को पोहा खाते देख उनकी नागरिकता जान लेते हैं!

विजयवर्गीय ने कहा- देश में अवैध रूप से रह रहे लोग सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा हैं.

CAA-NRC, अयोध्या और जम्मू-कश्मीर पर नेशन का मूड क्या है?

आज लोकसभा चुनाव हुए तो क्या होगा मोदी सरकार का हाल?

JNU हिंसा केस में दिल्ली पुलिस की बड़ी गड़बड़ी सामने आई है

RTI से सामने आई ये बात.

CAA पर सुप्रीम कोर्ट में लगी 140 से ज्यादा याचिकाओं पर बड़ा फैसला आ गया

असम में NRC पर अब अलग से बात होगी.

दिल्ली चुनाव में BJP से गठबंधन पर JDU प्रवक्ता ने CM नीतीश को पुरानी बातें याद दिला दीं

चिट्ठी लिखी, जो अब वायरल हो रही है.

CAA और कश्मीर पर बोलने वाले मलयेशियाई PM अब खुद को छोटा क्यों बता रहे हैं?

हाल में भारत और मलयेशिया के बीच रिश्तों में खटास बढ़ती गई है.