Submit your post

Follow Us

किस कांग्रेसी प्रधानमंत्री ने मुसलमानों पर घटिया टिप्पणी की थी?

88
शेयर्स

नरेंद्र मोदी कई अर्थों में मशहूर हैं. बोलने के लिए भी. लोकसभा में 25 जून को दिए अपने पहले भाषण में नरेंद्र मोदी ने एक बात कही, जिस पर हल्ला मच गया है. नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस की ओर इशारा करते हुए कहा था,

“कांग्रेस के ही एक नेता ने मुसलमानों के उत्थान की ज़िम्मेदारी कांग्रेस की नहीं है. If they want to lie in gutter, let them be.” (अगर मुसलमान गटर में पड़े रहना चाहते हैं तो पड़ा रहने दो.)

पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी के ही एक नेता ने इस बात का खुलासा किया था.

अब वरिष्ठ कांग्रेस नेता आरिफ मोहम्मद खान ने इस बात की पुष्टि की है. राजीव गांधी की सरकार में कैबिनेट मंत्री रह चुके आरिफ मोहम्मद खान ने अपने एक पुराने इंटरव्यू में नरसिम्हा राव के बारे में खुलासा किया था. खान ने कहा था कि एक मीटिंग में नरसिम्हा राव ने उनके बारे में ये बात कही थी. आगे चलकर नरसिम्हा राव भारत के प्रधानमंत्री बने थे.

आरिफ मोहम्मद खान ने नरसिम्हा राव का नाम लिया है.
आरिफ मोहम्मद खान ने नरसिम्हा राव का नाम लिया है.

आरिफ मोहम्मद खान ने बातचीत में बताया कि शाहबानो केस का जब राजीव गांधी सरकार ने विरोध किया था, तो सरकार के इस फैसले से असहमत होकर उन्होंने इस्तीफा दे दिया.

बातचीत में आरिफ मोहम्मद खान ने बताया,

“इस्तीफा देकर मैं अपने घर नहीं गया. अपने दोस्त के यहां चला गया, जहां मुझसे कोई संपर्क न कर सके. अगले दिन मैं संसद गया तो कांग्रेस के कुछ नेता मुझे समझाने आए.”

बकौल खान, सबसे आख़िर में नरसिम्हा राव आरिफ मोहम्मद खान के पास आए तो कहा,

“तुम इतना अच्छा बोलते हो, लेकिन जिद्दी बहुत हो. शाह बानो ने भी अपना स्टैंड बदल दिया है.”

पूर्व प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव (फाइल फोटो - इंडिया टुडे)
पूर्व प्रधानमंत्री पीवी नरसिम्हा राव (फाइल फोटो – इंडिया टुडे)

आरिफ मोहम्मद खान बताते हैं कि नरसिम्हा राव ने उनसे कहा,

“कांग्रेस पार्टी मुसलमानों का सामाजिक सुधार करने के लिए नहीं हैं और न तुम हो. तो तुम ऐसा क्यों कर रहे हो?”

इसके बाद आरिफ मोहम्मद खान ने बताया कि नरसिम्हा राव ने कहा कि अगर कोई गटर में पड़े रहना चाहता हो तो पड़ा रहने दो.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आरिफ मोहम्मद खान के इसी भाषण का सहारा लेकर कल लोकसभा में बयान दिया था. भाजपा ने आरिफ मोहम्मद खान की इस बातचीत का एक वीडियो भी जारी किया है.

समाचार एजेंसी ANI से बात करते हुए आरिफ मोहम्मद खान ने कहा,

“लोकसभा में नरेंद्र मोदी ने मेरे इंटरव्यू का ज़िक्र किया है. उन्होंने ये संदेश देने की कोशिश की है कैसे लोगों का एक समूह कब तक सत्ताधारियों के धोखे में रह सकता है. ये एकदम साफ़ संदेश है.”

नरेंद्र मोदी लोकसभा में अपने वक्तव्य में तीन तलाक बिल पर कांग्रेस की स्थिति पर बात कर रहे थे. कांग्रेस के साथ-साथ कुछ और विपक्षी दलों ने भी तीन तलाक, जिसे तलाक-ए-इद्दत कहते हैं, पर सरकार द्वारा लाए जा रहे बिल का विरोध किया है. इसी पर बात करते हुए नरेंद्र मोदी ने शाहबानो केस का ज़िक्र किया था, जिस पर तत्कालीन कांग्रेस सरकार का स्टैंड विवादास्पद माना जाता रहा है.

क्या है शाहबानो केस?

शाहबानो
शाहबानो

पांच बच्चों की मां 62-वर्षीया शाहबानो को उनके पति मोहम्मद खान ने 1978 में तीन बार “तलाक” कहकर तलाक दे दिया. शाहबानो अदालत पहुंची, सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गयीं. और गुज़ारा भत्ते की लड़ाई लड़ी. शाहबानो ने केस जीत लिया. जीत पर्सनल लॉ बोर्ड के साथ-साथ कई संगठनों को पची नहीं. विरोध शुरू हुआ.

राजीव गांधी की सरकार में 1985 में एक विधेयक आया. कानून संशोधन हुआ और शाहबानो अदालत में जीतने के बाद भी भत्ता पाने का केस हार गयीं.


लल्लनटॉप वीडियो : तेलंगाना में एक महिला ने अपनी बेटी के रेप के आरोपी बाप के खिलाफ शिकायत की

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें
Narendra Modi is saying true. It was Narsimha Rao who made remarks on Muslims and Gutter. Shah Bano.

टॉप खबर

बजट में सरकार ने अमीरों पर बंपर टैक्स लगाया

पेट्रोल-डीज़ल पर एक रुपया अतिरिक्त लेगी सरकार.

राहुल गांधी के पत्र की चार ख़ास बातें, तीसरी वाली में सारे देश की दिलचस्पी है

आज राहुल गांधी ने आखिरकार इस्तीफा दे ही दिया.

आकाश विजयवर्गीय पर मोदी बहुत नाराज़ हुए, उतना ही जितना साध्वी प्रज्ञा पर हुए थे!

"अफ़सोस! दिल से माफ़ नहीं कर पाएंगे."

नुसरत जहां के खिलाफ़ जिस फतवे पर बवाल मचा, वैसा फ़तवा जारी ही नहीं हुआ

निखिल से शादी के बाद सिन्दूर-साड़ी में संसद पहुंची थीं नुसरत

क्या ज़ायरा ने इस्लाम के लिए फ़िल्म लाइन छोड़ दी?

जिन चीज़ों से रील लाइफ में लड़कर सुपर स्टार बनीं, निजी ज़िंदगी में वो लड़ाई ही छोड़ दी है.

मायावती ने गठबंधन क्या तोड़ा, खुद की लुटिया ही डुबो ली है

गठबंधन तोड़कर अखिलेश और माया चवन्नी भर सीटें भी नहीं जीत रहे हैं.

खट्टर सरकार रेपिस्ट बाबा की जेल से छुट्टी का समर्थन कर रही, लेकिन जानिए ऐसा होना संभव क्यूं नहीं

जेल से छुट्टी क्यों चाह रहा है बलात्कारी बाबा राम रहीम?

चमकी बुखार में जिनके बच्चे मरे, उन्होंने विरोध किया तो केस दर्ज हो गया

बिहार में एक दो नहीं पूरे 39 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ है.

चमकी बुखार से पीड़ित परिवार से मिलने गए सांसद-विधायक को लोगों ने बंधक बना लिया

उधर सुप्रीम कोर्ट ने राज्य और केंद्र सरकार को नोटिस भेज दिया है.

जिन SP अजय पाल शर्मा को हीरो बताया जा रहा, उन्होंने "रेपिस्ट" पर गोली चलाई ही नहीं

न वो मौके पर थे, न रेप की वजह से गोली चली और न ही "रेपिस्ट" की मौत हुई.