Submit your post

Follow Us

डॉक्टर ने हिंसा के लिए उकसाने वाला पोस्ट किया, पुलिस ने ऐसी क्लास लगाई कि ट्विटर से ही तौबा कर ली

महाराष्ट्र की नागपुर पुलिस ने एक डॉक्टर को सोशल मीडिया पर ‘साम्प्रदायिक माहौल बिगाड़ने वाले’ पोस्ट करने पर गिरफ़्तार किया है. गिरफ़्तार किया गया व्यक्ति सर्जन है और अपने ट्विटर हैंडल से 23 अप्रैल को किए गए कथित ट्वीट और कमेंट्स की वजह से अरेस्ट किया गया.

डॉक्टर का नाम सतीश बी सोनार है. उन्होंने ट्वीट किया था,

अब जबकि रूढ़ीवादी, इस्लामिक और अराजक पत्रकार और अवैध नागरिक इस्लामोफोबिया और कथित नरसंहार की बात कर रहे हैं. तो चलो ये शुरू करते हैं. उन्हें सही साबित करते हैं. नक्शे से इन लोगों को मिटा देते हैं. 

इसी ट्वीट को लेकर मामला शुरू हुआ था
इसी ट्वीट को लेकर मामला शुरू हुआ था

डॉक्टर ने ट्विटर पर और भी कई आपत्तिजनक पोस्ट और कमेंट किये थे. हालांकि, अरेस्ट होने के बाद डॉक्टर ने कहा कि उनका अकाउंट हैक हो गया था. और आपत्तिजनक पोस्ट हैकर्स ने किये थे.

डॉक्टर को पुलिस ने ज़मानत पर छोड़ दिया है. रिहा होते ही उन्होंने ट्विटर पर सफाई दी. लिखा,

किसी ने मेरा अकाउंट हैक कर लिया था और मेरे अकाउंट से इस्लामोफ़ोबिक पोस्ट किए. मैं इसके लिए ज़िम्मेदार नहीं हूं. इसीलिए इस पर ध्यान न दें. शांति प्रेम और भाईचारा बना रहे. सायबर अपराध और अकाउंट हैक किए जाने की जानकारी दे चुका हूं. मेरे अकाउंट से इस तरह के असाम्प्रदायिक पोस्ट और कमेंट्स करके मेरी छवि बिगाड़ने की कोशिश की गई है. इससे मेरी जान को ख़तरा पैदा किया गया.

डॉक्टर सतीश ने लिखा,

मुझे बहुत से लोगों के कॉल और मैसेज आए. वो ट्वीट मेरे नहीं थे. मेरे बहुत से मुस्लिम दोस्त हैं. मेरे 40 प्रतिशत मरीज़ मुस्लिम हैं. तो मैं ऐसी बातें कैसे कह सकता हूं. मैं सभी दोस्तों को बताना चाहता हूं कि वो मैं नहीं हूं. जिहाद जैसी बकवास चीज़ों में क्यों ही पड़ना, जब अभी हमें एक वैश्विक नागरिक के तौर पर कोविड-19 से लड़ना है

मामले में डॉक्टर सतीश की तरफ़ से आई सफाई वाले ट्वीट का स्क्रीन शॉट
मामले में डॉक्टर सतीश की तरफ़ से आई सफाई वाले ट्वीट का स्क्रीन शॉट

नागपुर पुलिस ने शहबाज़ सिद्दीकी की शिकायत पर डॉक्टर को अरेस्ट किया था. इसके बाद उन्हें स्थानीय अदालत में पेश किया गया जहां से उन्हें ज़मानत पर रिहा कर दिया गया. हालांकि जिस अकाउंट से रिहा होने के बाद सफ़ाई दी गई वो अब डिलीट कर दिया गया है.


ये वीडियो भी देखें:

ऐसा क्या है इस कोरोना वायरस सुपर स्प्रेडर में, जिसके केस मिलने पर अहमदाबाद में सब बंद हो गया?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पीएम मोदी ने जिस Y2K क्राइसिस का ज़िक्र किया, वो क्या था?

पीएम ने 12 मई को देश को संबोधित किया.

अपने भाषण में नरेंद्र मोदी ने अगले लॉकडाउन के बारे में ये हिंट दे दिया है

मोदी के 34 मिनट के भाषण में काम की बात क्या थी?

ट्रेन के बाद अब फ़्लाइट शुरू होगी तो यात्रा के क्या नियम होंगे?

केबिन लगेज, जांच और बैठने की व्यवस्था को लेकर क्या नियम हैं?

गुजरात: CM बदलने की संभावना पर खबर चलाई, पुलिस ने राजद्रोह का केस लिख लिया

इस मामले में गुजरात सरकार की किरकिरी हो रही है.

किसी को सही-सही पता ही नहीं कि दिल्ली में कोरोना से कितनी मौतें हुईं!

सरकार और नगर निगम के आंकड़े अलग-अलग.

चीन से ठगे जाने के बाद इंडिया ने अपनी टेस्टिंग किट बनाई, कैसे काम करेगी?

किसने बनाई ये टेस्टिंग किट?

कॉन्स्टेबल साब ने दिल्ली में शराब वितरण का लेटेस्ट तरीका निकाला था, नप गए

दिल्ली में शराब की दुकानों पर भीड़ बहुत ज़्यादा है.

12 मई से चलने वाली ट्रेनों के स्टॉपेज, टाइम टेबल और नियम क़ानून की जानकारी यहां देखिए

किस-किस दिन चलेंगी ट्रेनें?

कोरोना: सुपर स्प्रेडर क्या होते हैं और ये इतने खतरनाक क्यों हैं कि अहमदाबाद में सब कुछ बंद करना पड़ा

अहमदाबाद में 14 हजार सुपर स्प्रेडर होने की आशंका जताई जा रही है.

प्रवासी मजदूरों को लेकर यूपी और राजस्थान की पुलिस में पटका-पटकी हो गई है!

डीएम और एसपी मौके पर पहुंचे तब मामला शांत हुआ.