Submit your post

Follow Us

सरकार ने फॉर्मूला बदला, अब प्राइवेट अस्पतालों को ज्यादा मिल सकेगी कोरोना वैक्सीन

एक तरफ कई राज्यों की सरकारें कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) की कमी का दावा कर रही हैं. प्राइवेट अस्पतालों को वैक्सीन कम दिए जाने की मांग कर रही हैं. वहीं दूसरी तरफ केंद्र सरकार ने प्राइवेट हॉस्पिटलों के लिए वैक्सीन का कोटा बढ़ा दिया है. सरकार ने प्राइवेट हॉस्पिटल को वैक्सीन उपलब्ध कराने के अपने फॉर्मूले में बदलाव किया है. इस बदलाव के चलते अब प्राइवेट हॉस्पिटल पहले से कुछ ज्यादा वैक्सीन खरीद सकेंगे.

फॉर्मूले में किया बदलाव

केंद्र सरकार ने प्राइवेट हॉस्पिटल्स को वैक्सीन उपलब्ध कराने का फॉर्मूला फिक्स कर रखा है. वैक्सीन उपलब्ध कराने की मात्रा यानी ‘मैक्सिमम ऑर्डर क्वांटिटी’ (MOQ) सेंटर की परफॉर्मेंस के आधार पर तय होती है. एक सेंटर जितना ज्यादा वैक्सीनेट करता है, उसे उतनी ही ज्यादा वैक्सीन उपलब्ध कराने की कोशिश होती है. लेकिन इसकी भी एक सीमा है. एक सेंटर पिछले महीने के किसी हफ्ते में जितना ज्यादा वैक्सीनेशन करता है, उसे ही उस सेंटर का एवरेज परफॉर्मेंस हफ्ता माना जाता है. मिसाल के तौर पर अभी जुलाई चल रहा है. किसी प्राइवेट हॉस्पिटल को वैक्सीन का ऑर्डर देने से पहले यह देखना होगा कि उसे जून के किस हफ्ते में सबसे ज्यादा वैक्सीनेशन किए. पुराने फॉर्मूले के हिसाब से उस हफ्ते की दुगनी वैक्सीन ही ऑर्डर की जा सकती थीं.

अब सरकार ने इस फॉर्मूले को बदलकर लिमिट दुगने की जगह तिगुनी कर दी है. मतलब अगर किसी सेंटर ने पिछले महीने के बेहतरीन परफॉर्मेंस वाले एक हफ्ते में 10 हजार डोज़ दिए हैं, तो वो अब 20 हजार की जगह 30 हजार डोज़ ऑर्डर कर सकता है. टाइम्स ऑफ इंडिया ने 7 जून को इस इस बदलाव की पुष्टि एक सरकारी अधिकारी के हवाले से की. सरकारी अधिकारी ने अखबार को बताया कि कोई भी प्राइवेट सेंटर CoWin के जरिए अपने ऑर्डर कुछ दिनों में दे सकते हैं. प्राइवेट हॉस्पिटल को कोविन के जरिए 1 जुलाई से ही वैक्सीन के लिए ऑर्डर देने को कहा गया था लेकिन यह अब तक शुरू नहीं हो पाया है.

क्या है प्राइवेट अस्पतालों को वैक्सीन देने का सिस्टम?

किसी भी प्राइवेट सेंटर को वैक्सीन उपलब्ध कराने के दो तरीके हैं. एक है ‘मैक्सिमम ऑर्डर क्वांटिटी’ सिस्टम, जो हम आपको ऊपर बता चुके हैं. और दूसरा है उन प्राइवेट सेंटरों के लिए जो नए शुरू हो रहे हैं. चूंकि सेंटर नए हैं ऐसे में उनके पास पिछले महीने का कोई रेकॉर्ड तो है नहीं. ऐसे में वैक्सीन उपलब्ध कराने का काम हॉस्पिटल में मौजूद बेड्स के आधार पर होता है. ये सिस्टम कुछ ऐसा है-

# 50 बेड से कम वाले हॉस्पिटल 3 हजार डोज़ ऑर्डर कर सकते हैं.
# 51-300 बेड वाले हॉस्पिटल 6 हजार
# 301-500 बेड वाले हॉस्पिटल 10 हजार
# 500 बेड से ऊपर वाले हॉस्पिटल 15 हजार डोज़ हर महीने ऑर्डर कर सकते हैं.
एक हॉस्पिटल कम से कम 160 डोज़ कोवैक्सीन और 500 डोज़ कोविशील्ड ऑर्डर कर सकता है. यह बात भी साफ की गई है कि वैक्सीन की डिलीवरी या तो सीधे वैक्सीन बनाने वाली फैक्ट्री या राज्य या कॉर्पोरेशन डिलीवरी चैनल के जरिए होगी.

एक तरफ जहां प्राइवेट हॉस्पिटल को वैक्सीन उपलब्ध कराने का फॉर्मूला बदला गया है, वहीं दिल्ली और राजस्थान जैसे राज्य लगातार वैक्सीन की कमी की बात कर रहे हैं. उत्तर प्रदेश के कई शहरों से भी वैक्सीन की कमी के चलते सेंटरों पर भीड़ की खबरें आ रही हैं. बता दें कि केंद्र सरकार ने दिसंबर 2021 तक सभी देशवासियों को वैक्सीन उपलब्ध कराने का लक्ष्य रखा है.


वीडियो- वैक्सीनेशन कैंप में महिला को कोविड-19 वैक्सीन लगाती दिखीं TMC नेता, तो बवाल मच गया

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

पंजाबी सिंगर मनमीत सिंह का शव बरामद हुआ, भारी बारिश के बाद बह गए थे

पंजाबी सिंगर मनमीत सिंह का शव बरामद हुआ, भारी बारिश के बाद बह गए थे

एक नाला पार करते वक्त गिर गए थे मनमीत सिंह.

कोंगु नाडु: मोदी कैबिनेट का विस्तार तमिलनाडु के विभाजन से जुड़े इस पुराने मुद्दे को कैसे हवा दे गया?

कोंगु नाडु: मोदी कैबिनेट का विस्तार तमिलनाडु के विभाजन से जुड़े इस पुराने मुद्दे को कैसे हवा दे गया?

तमिल मीडिया के एक हिस्से में इसे लेकर काफी गर्मजोशी दिखाई जा रही है.

कोरोना की तीसरी लहर का सामना करने के लिए कितने तैयार हैं हम?

कोरोना की तीसरी लहर का सामना करने के लिए कितने तैयार हैं हम?

पीएम मोदी ने मुख्यमंत्रियों की बैठक में क्या बता दिया?

नेपाल की राष्ट्रपति ने क्या किया जो सुप्रीम कोर्ट को दखल देना पड़ गया?

नेपाल की राष्ट्रपति ने क्या किया जो सुप्रीम कोर्ट को दखल देना पड़ गया?

अब कौन बना है नेपाल का नया पीएम?

जनसंख्या नीति का समर्थन या विरोध करने से पहले ये खबर पढ़ लीजिए

जनसंख्या नीति का समर्थन या विरोध करने से पहले ये खबर पढ़ लीजिए

बढ़ती जनसंख्या की चिंता असम के CM हेमंत बिस्वा सर्मा को भी है और यूपी के CM योगी आदित्यनाथ को भी.

अफगानिस्तान में तालिबान के बनने-बिखरने और फिर से ताकतवर होने की पूरी कहानी

अफगानिस्तान में तालिबान के बनने-बिखरने और फिर से ताकतवर होने की पूरी कहानी

अफगानिस्तान में भारत ने 22 हज़ार करोड़ रुपए से ज़्यादा की रकम इन्वेस्ट की थी.

भाजपा समर्थकों पर लाठीचार्ज करने वाले थानेदार की विदाई में नाचे पुलिसवाले भी सस्पेंड

भाजपा समर्थकों पर लाठीचार्ज करने वाले थानेदार की विदाई में नाचे पुलिसवाले भी सस्पेंड

थानेदार को किया गया था लाइन हाजिर.

कांवड़ यात्रा को उत्तराखंड की 'ना' लेकिन यूपी की 'हां', आखिर होगा क्या?

कांवड़ यात्रा को उत्तराखंड की 'ना' लेकिन यूपी की 'हां', आखिर होगा क्या?

कोरोना संकट के चलते पिछले साल कांवड़ यात्रा पर ब्रेक लग गया था.

मोदी कैबिनेट फेरबदल: शपथ लेने वाले 43 मंत्रियों के बारे में जानिए

मोदी कैबिनेट फेरबदल: शपथ लेने वाले 43 मंत्रियों के बारे में जानिए

15 कैबिनेट मंत्रियों ने ली शपथ.

कैबिनेट विस्तार से पहले टीम मोदी के 2 कद्दावर मंत्रियों ने भी इस्तीफा दे दिया है

कैबिनेट विस्तार से पहले टीम मोदी के 2 कद्दावर मंत्रियों ने भी इस्तीफा दे दिया है

राष्ट्रपति ने 12 मंत्रियों के इस्तीफे मंजूर कर लिए हैं.