Submit your post

Follow Us

जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के UPSC निकालने वाले कैंडिडेट्स ने बताया एग्ज़ाम की तैयारी कैसे की

UPSC सिविल सर्विसेज़ एग्जाम, 2019 का रिजल्ट आ चुका है. 829 कैंडिडेट्स सेलेक्ट हुए हैं. इनमें 16 कैंडिडेट्स ऐसे हैं, जो जम्मू-कश्मीर और लद्दाख से हैं. लेकिन इनमें भी पांच ऐसे हैं, जिनकी चर्चा सोशल मीडिया पर खूब हो रही है और लोग बधाई दे रहे हैं. आइए उनके बारे में बताते हैं-

1- मोहम्मद नवाज़ शराफ

29 साल के नवाज़ करगिल से हैं. इन्होंने पांच प्रयासों के बाद 778 रैंक हासिल की है. नवाज़ बरेली में इंडियन वेटनरी रिसर्च इंस्टीट्यूट से पोस्ट ग्रैजुएशन कर रहे हैं और इसी दौरान इन्हें सफलता मिली. नवाज़ का कहना है कि उन्हें शाह फैसल से प्रेरणा मिली. 2009 में फैसल सिविल सर्विस में पहला स्थान पाने वाले पहले कश्मीरी थे. नवाज़ का कहना है कि उन्होंने सिविल सर्विसेज़ पहले प्रयास में ही निकाल लिया होता, पर इंटरव्यू में छह नंबर से चूक गए थे. लेकिन उन्होंने हिम्मत नहीं हारी. उन्होंने कहा-

मैं अल्लाह को शुक्रिया कहना चाहता हूं. मैंने बहुत मेहनत की. कई लोग तो पहले या दूसरे प्रयास में ही क्रैक कर लेते हैं, पर मुझे ऐसा करना बहुत मेहनत का काम लगता है.

2- आफ़ताब रसूल मलिक 

आफ़ताब रसूल मलिक कुपवाड़ा के रहने वाले हैं. इन्होंने भी UPSC में 412 रैंक हासिल की. आफ़ताब का कहना है कि वो अपने गांव से सिविल सर्विसेज़ क्रैक करने वाले पहले व्यक्ति हैं. आफ़ताब ने अपने राज्य से 12 साल बाहर रहकर दिल्ली यूनिवर्सिटी से BA ऑनर्स और JNU से इतिहास में MA, M.Phill और PhD किया है. अफताब ने NET की भी परीक्षा कई बार पास की है. आफ़ताब का कहना है कि उनके जीवन में बदलाव तब आया, जब उनका 6वीं में दाखिला नवोदय विद्यालय में हुआ था. उन्हें वहां के टीचर्स ने UPSC के लिए प्रेरित किया था. अफताब का कहना है कि वो जम्मू-कश्मीर कैडर चाहते हैं, लेकिन दूसरी जगह के भी लिए तैयार हैं. अफताब ने बताया कि वो दो सप्ताह पहले ही अपने गांव लौटे थे, और उनका सेलेक्शन होना मानो दूसरी ईद है.

3- नादिया बेग

नादिया बेग ने UPSC सिविल सर्विसेज़ एग्ज़ाम, 2019 में 350वीं रैंक हासिल की है. नादिया ने दिल्ली के जामिया मिल्लिया इस्लामिया से इकॉनमिक्स ऑनर्स में ग्रैजुएशन किया है. इनके माता-पिता सरकारी शिक्षक हैं. नादिया ने बताया कि इस बार उनका दूसरा अटेम्प्ट था. 2018 में प्रीलिम्स क्लीयर नहीं हुआ था. फिर दूसरे एग्ज़ाम के लिए उन्होंने बहुत मेहनत की थी. नादिया ने कुपवाड़ा जिले से अपनी स्कूलिंग पूरी की. और उसी के बाद से वो इस परीक्षा की तैयारी कर रही थीं.

4-आसिफ यूसूफ तांत्रे

आसिफ यूसूफ तांत्रे कुलगाम से हैं. इन्होंने UPSC में 328 रैंक हासिल की है. आसिफ ने बताया कि बीटेक खत्म करने के बाद उन्होंने 2016 से ही अपना सारा ध्यान यूपीएससी को क्रैक करने में लगाया. उन्होंने कहा कि वो अपने परिवार और रिश्तेदारों के शुक्रगुज़ार हैं, जिन्होंने हर परिस्थितियों में उन्हें सपोर्ट किया और पढ़ाई की हर सुविधा मुहैया कराई.

5- रईस अहमद

रईस अहमद, जो गुरेज़ बंदिपोरा के रहने वाले हैं. उन्होंने 747 रैंक हासिल की है. उनका कहना है कि वो दिन में सिर्फ 4-5 घंटे ही पढ़ाई करते थे. और बाकी का समय क्रिकेट वगैरह खेलते थे. पर देश की सबसे कठिन परीक्षा में उनके पास होने की वजह से परिवार बहुत खुश है.


वीडियो देखें : प्रदीप ने UPSC परीक्षा दी, जिसमें एक बार IRS जॉइन किया और दूसरी बार टॉप कर गए

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

क्या चल रहा है?

पहले ही अटेम्प्ट में IAS फोड़ने वाली सिमी ने बताया- सिर्फ एक महीने में कैसे तैयारी की?

मई में IIT के एग्जाम्स पूरे हुए और जून में यूपीएससी की परीक्षा थी.

अफ़वाह से आपको बचाने के लिए वॉट्सऐप ने ये जाबड़ फ़ीचर जोड़ दिया है

यहां जानिए कैसे काम करेगा ये फीचर.

मुंबई पुलिस अधिकारी ने कहा, 'सुशांत के जीजा चाहते थे कि रिया को थाने लाकर थप्पड़ मारा जाए'

कई सारे स्क्रीनशॉट्स सामने आने के बाद ज़ोन-9 के पूर्व DCP ने बताया.

केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में बताया, सुशांत सिंह राजपूत मामले की जांच CBI करेगी

सुप्रीम कोर्ट में केंद्र, सुशांत के परिवार और रिया चक्रवर्ती के वकीलों ने क्या-क्या कहा?

पेट्रोल पंप में काम करने वाले ने बेटे की पढ़ाई के लिए घर बेच दिया था, अब बेटा बना IAS

प्रदीप को बैटमिंटन और फिल्मों का शौक है, लेकिन IAS बनने के लिए सब छोड़कर 16-16 घंटे पढ़ाई करते थे.

आडवाणी ने राम मंदिर शिलान्यास से पहले अपनी रथयात्रा पर क्या कहा?

एज लिमिट के चलते भूमि पूजन में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से शामिल होंगे आडवाणी.

UPSC परीक्षा में 420 रैंक लाने वाले राहुल मोदी पर सोशल मीडिया में मीम्स की बाढ़ आ गई

उनके परिवार की हंसी नहीं रुक रही.

लेबनान की राजधानी बेरूत में ज़ोरदार धमाका, 200 किलोमीटर दूर तक लगा जैसे भूकंप आया हो

इस घटना में 78 लोगों की मौत हुई है, अधिकारियों का कहना है कि मौतों का आंकड़ा अभी और बढ़ सकता है.

बिहार DGP बोले, 'सुशांत के अकाउंट में चार साल में 50 करोड़ आए और सब गायब, इसकी जांच ही नहीं हुई'

सुशांत सुसाइड केस में बिहार और महाराष्ट्र पुलिस के बीच ठन गई है.

धोनी का ये रिकॉर्ड इस वर्ल्ड चैम्पियन के अलावा कोई और तोड़ता तो बुरा लगता!

कप्तानों के कप्तान धोनी का ये रिकॉर्ड टूट गया.