Submit your post

Follow Us

पत्नी की फोटो के साथ अंतिम सफर पर निकले मिल्खा सिंह, तस्वीर भावुक कर देगी

18 जून को हमने महान एथलीट मिल्खा सिंह को खो दिया. 91 बरस की उम्र में मिल्खा का निधन हो गया. करीब एक महीने पहले मिल्खा और उनकी पत्नी निर्मल कौर, दोनों कोविड-19 (Covid-19) से इंफेक्टेड हो गए थे. हालांकि मिल्खा की रिपोर्ट नेगेटिव आ गई थी, लेकिन  तब तक शरीर को काफी नुकसान पहुंच चुका था.

मिल्खा के निधन के 5 दिन पहले ही उनकी पत्नी निर्मल का भी निधन हो गया था. लेकिन मिल्खा की ख़ुद की हालत इतनी नाज़ुक चल रही थी कि परिवार ने ये बात उन्हें नहीं बताई. तमाम मीडिया रिपोर्ट्स और तमाम पत्रकारों से हवाले से ये बात सामने आ रही है कि परिवार ने सोचा था कि मिल्खा के कुछ ठीक होने पर ही ये बात उन्हें बताई जाएगी, वरना उनकी तबीयत और भी बिगड़ सकती थी. लेकिन उससे पहले ही डॉक्टरों ने मिल्खा को लेकर भी जवाब दे दिया. कोरोना की वजह से उनके फेफड़े पूरी तरह डैमेज हो चुके थे.

आखिरकार जब डॉक्टरों से बात करके ये बात सामने आई कि अब मिल्खा अपनी आख़िरी सांसें गिन रहे हैं तो परिवार ने तय किया कि अंतिम समय में ही सही, लेकिन मिल्खा को निर्मल कौर की ख़बर दे देनी चाहिए. उनके बेटे जीव मिल्खा सिंह ने पिता के कानों में धीरे से कहा कि डैड, आप भी मम्मा के पास जा रहे हो. इसी के अगले दिन मिल्खा का निधन हो गया.

मिल्खा सिंह को चंडीगढ़ के सेक्टर 25 स्थित शमशान घाट में पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम विदाई दी गई. पुलिस दल ने महान एथलीट को तोपों की सलामी दी. उनके बेटे और अंतरराष्ट्रीय गोल्फर जीव मिल्खा सिंह ने अपने पिता की चिता को अग्नि दी.

ब्लेजर और लाल पगड़ी के साथ अपने सिग्नेचर स्टाइल में वह अंतिम यात्रा पर निकले. मिल्खा की जब अंतिम यात्रा निकली तो उनके हाथों में पत्नी निर्मल कौर की तस्वीर भी थमाई गई थी. मिल्खा के अंतिम पलों की कहानी, उनका और निर्मल कौर के प्यार की ये कहानी काफी भावुक करने वाली है.

Milkha Wife
मिल्खा और उनकी पत्नी निर्मल कौर. (फाइल फोटो)

निर्मल कौर से इस तरह मिले थे

अमर उजाला की एक खबर के मुताबिक, श्रीलंका के कोलंबो में साल 1955 में भारत की वॉलीबॉल खिलाड़ी और टीम की कप्तान निर्मल कौर से मिल्खा सिंह की पहली मुलाकात हुई थी. मिल्खा सिंह और निर्मल कौर, दोनों ही कोलंबो में एक टूर्नामेंट में हिस्सा लेने पहुंचे थे. यहां एक भारतीय बिजनेसमैन ने टीम के लिए डिनर आयोजित किया था. इस पार्टी में ही मिल्खा सिंह ने निर्मल कौर को देखा था. एक इंटरव्यू में उन्होंने इस बात का जिक्र करते हुए कहा था कि, निर्मन को देखते ही मैंने पसंद कर लिया था. पास में कोई कागज नहीं था, तो मैंने निर्मल के हाथ पर होटल का नंबर लिख दिया था. इसके बाद मुलाकातों का सिलसिला चल पड़ा.

मिल्खा की शादी में ससुर अड़चन बन रहे थे, क्योंकि मिल्खा सिंह सिख परिवार से आते थे, वहीं निर्मल हिंदू परिवार से आती थीं. उस वक्त मिल्खा सिंह और निर्मल कौर की शादी के लिए पंजाब के तत्कालीन मुख्यमंत्री प्रताप सिंह कैरों सामने आए. उन्होंने परिवार वालों को समझाया. इसके बाद साल 1962 में दोनों शादी के बंधन में बंध गए.

मिल्खा!

बताते चलें कि मिल्खा भारत के पहले ऐसे एथलीट थे, जिन्होंने ब्रिटिश काल में गोल्ड मेडल जीता. इसके बाद 1958 कार्डिफ में हुए कॉमनवेल्थ गेम्स में भी उन्होंने गोल्ड जीतकर पहली बार भारत का नाम किया. कॉमनवेल्थ गेम्स में बना उनका ये रिकॉर्ड 50 साल तक अकेले उनके नाम ही रहा. 2010 में दिल्ली में हुए कॉमनवेल्थ गेम्स में कृष्णा पूनिया ने मिल्खा के इस रिकॉर्ड की बराबरी की. मिल्खा सिंह ने कार्डिफ कॉमनवेल्थ गेम्स में 400m रिले को 46.6 सेकेंड में पूरा करके साउथ अफ्रीका के मैल्कम स्पेंस को हराया था.

इसके अलावा मिल्खा सिंह ने भारत के लिए एशियन गेम्स में चार गोल्ड मेडल भी जीते. पहले 1956 के एशियन गेम्स में 200m और 400m रिले. इसके बाद 1962 एशियन गेम्स में 400m और 4X400m रिले में भी उन्होंने सोना अपने नाम किया था.


मिल्खा सिंह को याद करते हुए राहुल ने जो ट्वीट किया, उसमें गलती कतई नहीं थी!

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

नेमावर हत्याकांड: आरोपी सुरेंद्र चौहान की प्रॉपर्टी पर चली जेसीबी, CBI जांच की मांग उठी

नेमावर हत्याकांड: आरोपी सुरेंद्र चौहान की प्रॉपर्टी पर चली जेसीबी, CBI जांच की मांग उठी

कांग्रेस का आरोप है कि भाजपा नेता होने के चलते सुरेंद्र चौहान को इस मामले में संरक्षण मिला.

जम्मू एयरफोर्स स्टेशन पर धमाका, DGP दिलबाग सिंह बोले-ड्रोन से हुआ हमला

जम्मू एयरफोर्स स्टेशन पर धमाका, DGP दिलबाग सिंह बोले-ड्रोन से हुआ हमला

दो संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है.

आंदोलन के सात महीने पूरे, किसानों ने देशभर में राज्यपालों को सौंपे ज्ञापन,कुछ जगहों पर झड़प

आंदोलन के सात महीने पूरे, किसानों ने देशभर में राज्यपालों को सौंपे ज्ञापन,कुछ जगहों पर झड़प

चंडीगढ़ और पंचकुला में बवाल.

कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ही नहीं, शशि थरूर का अकाउंट भी लॉक कर दिया था ट्विटर ने

कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ही नहीं, शशि थरूर का अकाउंट भी लॉक कर दिया था ट्विटर ने

ट्विटर ने क्या वजह बताई?

एक्ट्रेस पायल रोहतगी को अहमदाबाद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया

एक्ट्रेस पायल रोहतगी को अहमदाबाद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया

मामला एक वायरल वीडियो से जुड़ा है.

CBSE और ICSE की परीक्षाएं रद्द करने के खिलाफ याचिकाओं को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज किया

CBSE और ICSE की परीक्षाएं रद्द करने के खिलाफ याचिकाओं को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज किया

नंबर देने के फॉर्मूले से सुप्रीम कोर्ट भी सहमत.

LJP में कलह की वजह बताए जा रहे सौरभ पांडेय के बारे में रामविलास पासवान ने चिट्ठी में क्या लिखा था?

LJP में कलह की वजह बताए जा रहे सौरभ पांडेय के बारे में रामविलास पासवान ने चिट्ठी में क्या लिखा था?

चिराग को राजनीति में आने की सलाह किसने दी थी?

सरकार फिल्मों के सर्टिफिकेशन में क्या बदलाव करने जा रही, जो फ़िल्ममेकर्स की आज़ादी छीन सकता है?

सरकार फिल्मों के सर्टिफिकेशन में क्या बदलाव करने जा रही, जो फ़िल्ममेकर्स की आज़ादी छीन सकता है?

कुछ वक़्त से लगातार हो रहे हैं फ़ेरबदल.

यूनिवर्सिटी-कॉलेजों में लग रहे 'थैंक्यू मोदी' के बैनर पर बवाल क्यों हो रहा है?

यूनिवर्सिटी-कॉलेजों में लग रहे 'थैंक्यू मोदी' के बैनर पर बवाल क्यों हो रहा है?

क्या यूनिवर्सिटीज़ और कॉलेजों को सरकारी प्रचार के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है?

ये किन दो नेताओं को चुनाव से ठीक पहले योगी आदित्यनाथ ने बड़ा काम दे दिया है?

ये किन दो नेताओं को चुनाव से ठीक पहले योगी आदित्यनाथ ने बड़ा काम दे दिया है?

कौन हैं रामबाबू हरित और जसवंत सैनी?