Submit your post

Follow Us

दिल्ली विधानसभा अध्यक्ष को ठगने के लिए खोपड़ी खूब चलाई, पर आखिरकार पकड़ा गया

दिल्ली. यहां आम जनता तो कोरोना को लेकर परेशान है. लेकिन ठगों के हौसलों में कोई कमी नहीं दिख रही है. आलम ये है कि ठगों ने दिल्ली विधानसभा के अध्यक्ष रामनिवास गोयल से भी ब्लड डोनेशन के नाम पर फर्जीवाड़ा कर लिया. रामनिवास गोयल से प्लाज्मा डोनेट करने के एवज में रुपये मांगे गए थे. इस बारे में स्पीकर ने दिल्ली पुलिस के पास मामला दर्ज कराया, जिसके आधार पर पुलिस ने मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है.

क्या है मामला

रामनिवास गोयल कोरोना पॉजिटिव पाए गए किसी करीबी के लिए प्लाज्मा चाह रहे थे. इसके लिए वो प्लाज्मा डोनर की तलाश कर रहे थे. इसके बाद आरोपी ने उनसे फोन करके बताया कि वो डॉक्टर है और राममनोहर लोहिया अस्पताल में कार्यरत है. इसके बाद उसने प्लाज्मा डोनेट करने के एवज में पेटीएम से 950 रुपये मांगे. इसके बाद दिल्ली पुलिस ने जांच की और मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया. आरोपी का नाम अब्दुल करीम उर्फ राहुल ठाकुर है.

धर्म बदलकर करता था ठगी

दिल्ली पुलिस की मानें, तो ब्लड डोनेशन के नाम पर फर्जीवाड़ा करने वाला आरोपी अपना नाम और धर्म बदलता रहता था. वो मूल रूप से उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर इलाके का रहने वाला है. फिलहाल उससे पूछताछ की जा रही है. पुलिस का कहना है कि आरोपी ने कबूल किया है कि उसने कई लोगों के साथ फर्जीवाड़ा किया है. वह डोनर बनकर उन लोगों को धोखा देता था, जिन्हें ब्लड की जरूरत होती थी.

क्या है कोरोना इलाज की प्लाज्मा तकनीक

जब किसी आदमी को इंफ़ेक्शन होता है, तो उसके शरीर में इंफ़ेक्शन फैलाने वाले वायरस या बैक्टीरिया के खिलाफ़ एंटीबॉडी बनने लगती है. ये एंटीबॉडी उस इंफ़ेक्शन से लड़ती हैं और शरीर को रोगमुक्त बनाती हैं. डॉक्टरों का कहना है कि कोरोना वायरस से संक्रमित जो लोग ठीक हो रहे हैं, उनके शरीर के प्लाज़्मा (खून का एक जरूरी हिस्सा) में कोरोना वायरस के खिलाफ़ एंटीबॉडी बन रही है. जो कोरोना संक्रमण से मुक्त हो चुके हैं, वे प्लाज़्मा डोनेट कर सकते हैं.



वीडियो देखें:  क्या है कोरोना वायरस का प्लाज्मा ट्रीटमेंट और भारत में कब शुरू होगा?

लगातार लल्लनटॉप खबरों की सप्लाई के लिए फेसबुक पर लाइक करें

टॉप खबर

सरकार और किसानों के बीच साढ़े सात घंटे तक चली बैठक में क्या नतीजा निकला, जान लीजिए

सरकार और किसानों के बीच साढ़े सात घंटे तक चली बैठक में क्या नतीजा निकला, जान लीजिए

कृषि मंत्री ने बताया, सरकार किन-किन बातों पर राजी हो गई है

दुनिया को मिली पहली 'भरोसेमंद' कोरोना वैक्सीन, अगले हफ्ते से लगेंगे टीके

दुनिया को मिली पहली 'भरोसेमंद' कोरोना वैक्सीन, अगले हफ्ते से लगेंगे टीके

ब्रिटेन पहला पश्चिमी देश है, जहां कोविड-19 वैक्सीन को हरी झंडी दी गई है

सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज लोकुर ने कहा, जबरन धर्मांतरण पर यूपी का क़ानून लोगों की आजादी के खिलाफ़ है

सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज लोकुर ने कहा, जबरन धर्मांतरण पर यूपी का क़ानून लोगों की आजादी के खिलाफ़ है

UAPA और दिल्ली दंगों पर जस्टिस लोकुर ने क्या कहा?

वो गेंद स्टंप पर नहीं मारता था, खुद लपक कर स्टंप बिखेर देता था

वो गेंद स्टंप पर नहीं मारता था, खुद लपक कर स्टंप बिखेर देता था

मोहम्मद कैफ़ का आज जन्मदिन है. इस बहाने आज उनकी फील्डिंग के चंद किस्से.

पिता ने चिट्ठी लिखकर गंभीर इल्ज़ाम लगाए तो शेहला राशिद ने क्या कहा?

पिता ने चिट्ठी लिखकर गंभीर इल्ज़ाम लगाए तो शेहला राशिद ने क्या कहा?

चिट्ठी में कहा कि शेहला घर में एंटी-नेशनल काम कर रही हैं.

दिल्ली दंगा : वीडियो सबूत होने के बाद भी पुलिस ने जांच नहीं की, कोर्ट ने दिया FIR का ऑर्डर

दिल्ली दंगा : वीडियो सबूत होने के बाद भी पुलिस ने जांच नहीं की, कोर्ट ने दिया FIR का ऑर्डर

सलीम की शिकायत, 'सुभाष और अशोक ने मेरे घर पर हमला किया'

कृषि बिलों पर वोटिंग के दौरान किसके कहने पर सांसदों के माइक बंद किए गए थे?

कृषि बिलों पर वोटिंग के दौरान किसके कहने पर सांसदों के माइक बंद किए गए थे?

बहुत हंगामा हुआ था, अब कहानी सामने आयी.

देश की आर्थिक सेहत बताने वाले GDP के आंकड़े आ गए हैं. ये डराने वाले हैं और उम्मीद जगाने वाले भी

देश की आर्थिक सेहत बताने वाले GDP के आंकड़े आ गए हैं. ये डराने वाले हैं और उम्मीद जगाने वाले भी

इस वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही के जीडीपी आंकड़े क्या बताते हैं, जान लीजिए

जानिए कितनी ज़बरदस्त तैयारी के साथ दिल्ली आए किसान, 17 पॉइंट का नोट वायरल

जानिए कितनी ज़बरदस्त तैयारी के साथ दिल्ली आए किसान, 17 पॉइंट का नोट वायरल

किसान बोले, जहां रोकेंगे वहीं गांव बसा लेंगे, छह महीने की तैयारी करके आए हैं...

किसान आंदोलन में क्या-क्या हो रहा, सबसे दमदार तस्वीरों में यहां देखिए

किसान आंदोलन में क्या-क्या हो रहा, सबसे दमदार तस्वीरों में यहां देखिए

दिल्ली कूच के लिए कुछ भी करने को तैयार दिख रहे किसान